adsatinder

explorer
First Snowfall Of Season In Shimla District,150 Roads Including Two NHs Closed
Rohtang Closed.

हिमाचल के पहाड़ बर्फ से लकदक, शिमला में सीजन का पहला हिमपात, दो हाईवे समेत 150 सड़कें बंद
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Updated Wed, 27 Nov 2019 07:17 PM IST



First snowfall of season in Shimla district,150 roads including two NHs closed


- फोटो : अमर उजाला


भारी बारिश और बर्फबारी की चेतावनी के बीच बुधवार को हिमाचल के पहाड़ बर्फ से लकदक हो गए। शिमला जिले में सीजन की पहला हिमपात हुआ। जुब्बल, नारकंडा और खड़ापत्थर में बर्फ की चादर बिछ गई। जुब्बल, नारकंडा और खड़ापत्थर में बर्फ की चादर बिछ गई। राजधानी से सटे पर्यटन स्थल कुफरी में भी फाहे गिरे हैं। बर्फबारी के चलते बुधवार को प्रदेश में दो नेशनल हाईवे सहित छोटी-बड़ी 150 सड़कें यातायात के लिए बंद रहीं। किन्नौर, लाहौल और चंबा में सौ से ज्यादा बिजली के ट्रांसफार्मर बंद हो गए हैं।

किन्नौर जिले में भी नवंबर के अंत में अधिक बर्फबारी रिकॉर्ड हुई है। छितकुल में दो और रिकांगपिओ में एक फीट से ज्यादा बर्फबारी हुई है। रोहतांग दर्रा में 45, कल्पा में 32, खदराला में 30 सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज हुई। औट-बंजार-सैंज हाईवे पर एचआरटीसी की दो बसें फंस गई हैं। भुंतर और शिमला हवाई अड्डे से बुधवार को उड़ानें भी नहीं हो सकीं। किन्नौर जिलों में बर्फबारी के चलते प्रशासन ने बुधवार को स्कूलों में छुट्टी कर दी।


शिक्षण संस्थान खुले रहेंगे, आठ जिलों में बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान



गुरुवार को शिक्षण संस्थान खुले रहेंगे। शिमला में दोपहर तक बूंदाबांदी के बीच दिन भर बर्फीली हवाएं चलीं। प्रदेश का अधिकतम तापमान में 5 से 6 डिग्री कम हो गया। कई इलाकों में पानी के पाइप जम गए।

गुरुवार को भी प्रदेश के आठ जिलों में बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान है। शुक्रवार से हिमाचल में मौसम साफ होने के आसार जताए गए हैं। जिला मुख्यालय रिकांगपिओ से काजा की ओर वाहनों की आवाजाही बुधवार दिन भर बंद रही।

जिले के करीब 20 रूटों में निगम की बसें फंसी हुई हैं। आनी के जलोड़ी जोत पर करीब दस इंच ताजा बर्फबारी से एनएच 305 और एनएच-5 पूह-काजा की ओर बंद है।



मनाली के पर्यटन स्थल बर्फ से लकदक, रोहतांग दर्रा बंद





शिमला जिला के रोहड़ू रोड पर खड़ापत्थर में दो इंच और डोडरा क्वार रोड पर चांशल घाटी में एक फीट तक बर्फबारी हुई है। चंबा जिला के कबायली क्षेत्र पांगी और भरमौर की ऊपरी चोटियों में भी दोपहर बाद बर्फबारी हुई।


मनाली के पर्यटन स्थल भी बर्फ से लकदक हो गए हैं। गुलाबा, कोठी के साथ सोलंगनाला तथा फातरू में भी ताजा बर्फबारी हुई है। रोहतांग दर्रा फिर से यातायात के लिए बंद हो गया है। दर्रा के बंद होने से कुल्लू डिपो की दो बसें बाह्य सराज में फंस गई है। प्रशासन ने सैलानियों व आम लोगों को अलर्ट किया है।
जानिए विभिन्न शहरों का तापमान





क्षेत्र - न्यूनतम तापमान
केलांग - 6.0
कल्पा - 1.6
कुफरी 0.3
मनाली 3.8
डलहौजी 4.5
शिमला 4.7


हिमाचल के पहाड़ बर्फ से लकदक, शिमला में सीजन का पहला हिमपात, दो हाईवे समेत 150 सड़कें बंद
 

adsatinder

explorer
Lahaul Spiti is having heavy snowfall.
All is snowhite.
Roads are Closed due to heavy snowfall.
Water and Electricity is affected badly.
 

adsatinder

explorer
Power, communication services snapped in Lahaul-Spiti

Posted:
Dec 14, 2019 07:16 AM (IST)
  • Updated : 18 hours ago
Power, communication services snapped in Lahaul-Spiti

The frozen Prashar Lake looks splendid. Photo: Jai Kumar
Dipender Manta
Tribune News Service
Mandi, December 13
Heavy snowfall was reported in tribal district of Lahaul-Spiti and higher reaches of Mandi and Kullu today, while lower areas were lashed by incessant rain.
Blizzard in Lahaul valley affected normal life. Snow storm was reported in Sissu village in Lahaul valley, which forced the area residents to rush indoors to escape from bone-chilling cold.
Electricity supply has been affected in Lahaul villages because of heavy snowfall. Due to disruption of power supply, telecommunication services have been affected in the district. However, power supply was restored in the district headquarters of Keylong in the evening, while a major portion of district still reeled under darkness.

Deputy Commissioner Lahaul Spiti K K Saroch said that due to heavy snowfall traffic had come to a standstill in the district. If weather turned favourable on Saturday, the Border Roads Organization authority will start snow clearing operation to restore main roads for traffic movement within the district.
The Deputy Commissioner has urged the people of the district to be cautious while moving because the district is prone to avalanches. He said no loss of life or property was reported because of the inclement weather in the district.
In Kullu district power supply was affected in villages because of snowfall in higher reaches. The upper villages of Manali have been plunged into darkness since Thursday. The tourist places like Solang valley and Kothi, Guaba received more than 75 cm of snow till evening. The road leading to Solang valley or Kothi side has been blocked for traffic movement since Thursday because of heavy snowfall.
In Mandi district, tourist places like Prashar Lake, Kamrunag, Shikari Devi, Seraj and Karsog valley received snowfall, which affected the several bus routes in the region. Similarly, power supply was disrupted in snowbound areas of Seraj and Karsog valley. As many as 13 roads are blocked in the district, while 38 electric transformers were damaged because of heavy snowfall.
The farmers of state have welcomed the snowfall and rain, which ended the prolonged dry spell of weather. Apple orchardists of the state are also happy after heavy snowfall in early December, which will help the crop complete required chilling hours for better output.


Power, communication services snapped in Lahaul-Spiti
 

adsatinder

explorer
Himachal PradeshBilaspur › 431 Roads Including Six NH Closed In Himachal, 170 Tourists Rescued, See Situation In Pictures
हिमाचल में छह एनएच समेत 431 सड़कें बंद, 170 पर्यटकों को बचाया, तस्वीरों में देखें हालात
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला, Updated Sat, 14 Dec 2019 08:06 PM IST
लाहौल घाटी

1 of 9
लाहौल घाटी - फोटो : अमर उजाला

हिमाचल में बर्फबारी के बाद तीसरे दिन शनिवार को भले ही मौसम खुल गया पर दुश्वारियां बरकरार हैं। प्रदेश में छह नेशनल हाईवे समेत 431 सड़कें अभी भी बंद पड़ी हैं। चंबा में ठंड ने एक व्यक्ति की जान ले ली, जबकि लाइन ठीक करते फोरमैन की हार्ट अटैक से मौत हो गई। बर्फबारी के चलते विधानसभा सत्र में कई विधायक समय पर नहीं पहुंच पाए।


2 of 9
- फोटो : अमर उजाला

इसके चलते सदन की कार्यवाही आधा घंटा देरी से शुरू हुई। राजधानी शिमला सहित छह स्थानों का न्यूनतम पारा माइनस में पहुंच गया है। पूरे प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। कुफरी और हसन वैली में फंसे 170 पर्यटक दस घंटे चले बचाव अभियान के बाद सकुशल निकाले गए। इनमें 90 महाराष्ट्र और 70 राजस्थान से शिमला आए थे।


3 of 9
- फोटो : अमर उजाला

इनमें से कुछ विद्यार्थी भी शामिल हैं। बर्फबारी के चलते चंबा के जोत नामक स्थान पर दर्जन भर लोग बीते तीन दिनों से अभी भी फंसे हैं। शनिवार को शिमला सहित पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहा। धूप खिलने से अधिकतम तापमान में दो डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज हुई।


4 of 9
- फोटो : अमर उजाला

उधर, मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने रविवार को भी प्रदेश के कई क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी के आसार जताए हैं। सोमवार से धूप खिलने का पूर्वानुमान है। 20 दिसंबर को फिर बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान है। प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में शनिवार सुबह तक बर्फबारी का दौर जारी रहा। जनजातीय क्षेत्र लाहौल-स्पीति और कुल्लू में भारी हिमपात से जनजीवन अस्त-व्यस्त है।



5 of 9
- फोटो : अमर उजाला
कुल्लू में 50 सड़कें बंद हैं। चंबा जिले की 110 सड़कों पर यातायात बाधित है। भरमौर-पठानकोट एनएच बकाणी से भरमौर तक बाधित रहा। शिमला-रामपुर, आनी-औट, रामपुर-रिकांगपिओ, मनाली-लेह एनएच भी बंद हैं। मंडी के सराज में दो गाड़ियां बर्फ पर फिसलने से पलट गईं।




6 of 9
- फोटो : अमर उजाला

इसमें सवार लोग बाल-बाल बच गए। चंबा में पुलिस लाइन बारगाह के पास मलकीत सिंह पुत्र पुन्नू राम निवासी लोअर जुलाहकड़ी की ठंड से मौत हो गई। चंबा के मंगला में बर्फबारी के दौरान फोरमैन देस राज की बिजली लाइन दुरुस्त करते ह्दय गति रुकने से जान चली गई। प्रदेश में हुई ताजा बर्फबारी के बाद यहां आने वाले सैलानियों की संख्या में इजाफा हुआ है।



7 of 9
- फोटो : अमर उजाला

तीन जिलों में हिमस्खलन का खतरा, अलर्ट
चंबा जिले के बर्फ से लकदक पांगी, भरमौर, तीसा और सलूणी क्षेत्र में हिमस्खलन के खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। कुल्लू और लाहौल घाटी के संवेदनशील स्थानों में भी लोगों को घरों से बाहर न निकलने की हिदायत दी है।



8 of 9
- फोटो : अमर उजाला

क्षेत्र न्यूनतम तापमान (डिग्री सेल्सियस में)
केलांग - 5.7
कुफरी - 3.9
कल्पा - 2.8
मनाली - 1.8
शिमला - 0.5
डलहौजी - 0.4


हिमाचल में छह एनएच समेत 431 सड़कें बंद, 170 पर्यटकों को बचाया, तस्वीरों में देखें हालात
 

rameshtahlan

Super User
THIS IS THE MOTHER OF ALL SNOWSTORM
GET READY, BE PREPARED.
06, 07, 08 and possibly 09 Jan 2020

THREE DAYS OR MORE OF SNOWFALL
You better get to your destination before 5 Jan 2020,
There is a lot of rain also,
This WD is pulling in moisture from the Arabian Sea, and that is why this gets more than severe.
There are going to be road blocks, land slides, snow slides.
Don't get caught on the road,

Be prepared, carry 3 days emergency rations, as help come come too soon. Specially food for kids that does not require cooking or heating, or carry a Camping Stove so you can use the snow to make tea and keep your warm.

Don't be in a rush to return, let the authorities clear the roads and snow/land slides, so you can drive back safe.
Enjoy your snowfall holiday.
be safe.
Happy Landings.

06 Mon.jpg


07 Tue.jpg


08 We.jpg
 

adsatinder

explorer
Bus Services Start Returning On Track After Four Days Of Snowfall In Himachal, 632 Routes Suspended
तस्वीरें: हिमाचल में 632 मार्ग अभी भी बाधित, बर्फबारी के चार दिन बाद ऐसे हैं हालात
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला, Updated Sat, 11 Jan 2020 06:14 PM IST
Bus services start returning on track after four days of snowfall in himachal, 632 routes suspended

1 of 8
- फोटो : अमर उजाला

हिमाचल में भारी बर्फबारी से थम चुके परिवहन निगम की बसों के पहिये अब चलने शुरू हो गए हैं। बर्फबारी के बाद चौथे दिन शनिवार को परिवहन सेवाएं पटरी पर लौटीं। हालांकि, शनिवार को 100 रूटों पर ही एचआरटीसी की बसों का संचालन शुरू हो पाया। राजधानी शिमला से रामपुर, रिकांगपिओ और किन्नौर के लिए बसों का संचालन वाया धामी किया गया। अभी भी दो सौ से ज्यादा रूट बंद हैं।




2 of 8
- फोटो : अमर उजाला

हालात यह हैं कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के गृह जिले मंडी में ही उनके अधीन काम करने वाला पीडब्ल्यूडी महकमा पांच दर्जन से ज्यादा सड़कों को अभी तक नहीं खोल पाया है। मशोबरा समेत ऊपरी शिमला के लिए अभी भी बसों का संचालन पूरी तरह शुरू नहीं हो सका है।




3 of 8
- फोटो : अमर उजाला

निगम के अधिकारियों का कहना है कि सड़क की हालत ठीक होने पर बसों का संचालन शुरू किया जाएगा। वहीं, लोक निर्माण विभाग के मंडी, शिमला और कांगड़ा तीनों सर्किलों की शुक्रवार को बाधित 835 सड़कों में से 203 को यातायात के लिए खोला जा चुका है। हालांकि, अभी भी 632 सड़कें बाधित हैं।




4 of 8
- फोटो : अमर उजाला

शिमला जोन बंद सड़कें
सोलन 02
शिमला 104
रामपुर 167
नाहन 10
रोहड़ू 205




तस्वीरें: हिमाचल में 632 मार्ग अभी भी बाधित, बर्फबारी के चार दिन बाद ऐसे हैं हालात


Shimla zone Roads:

1578773201311.png
 
Last edited:

adsatinder

explorer
Road Block on NH 5, Traffic is moving via Dhami from Rampur towards Kinnaur

किन्नौर, रामपुर से वाया धामी होकर शिमला जा रहे वाहन
शिमला ब्यूरो
Updated Mon, 13 Jan 2020 10:09 PM IST


किन्नौर जिले के बटसेरी गांव में ताजा बर्फबारी के दौरान गंतव्य की ओर जाते लोग।

किन्नौर जिले के बटसेरी गांव में ताजा बर्फबारी के दौरान गंतव्य की ओर जाते लोग। - फोटो : RAMPUR-HP


रामपुर बुशहर/सांगला। ऊपरी क्षेत्रों में एक बार फिर से बर्फबारी होने से समूचा किन्नौर और रामपुर कड़ाके की ठंड की चपेट में आ गया है। किन्नौर जिले के छितकुल, रक्षम, नाको, आसरंग और अन्य ऊपरी क्षेत्रों में एक से लेकर दो फीट तक बर्फबारी हुई है। ऊपरी हिमाचल में यातायात, बिजली और अन्य सुविधाएं बर्फबारी के कारण चरमरा गई हैं। सोमवार को भी किन्नौर और रामपुर क्षेत्र से शिमला के लिए वाहनों की आवाजाही वाया बंसतपुर भेजा जा रहा है। आठ दिन बाद भी नारकंडा में नेशनल हाईवे पांच भारी बर्फबारी के कारण यातायात के लिए बहाल नहीं हो पाया है, वहीं बर्फबारी के कारण रामपुर, ननखड़ी और आसपास के क्षेत्रों में जनजीवन अस्तव्यस्त हुआ है।

क्षेत्र में जहां यातायात व्यवस्था चरमरा गई है, वहीं कई इलाकों में आठ दिन बाद भी बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो पाई है। ऐसे में लोगों को कंपकंपाती ठंड में ठिठुरने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। बर्फबारी से बाधित हुआ नेशनल हाईवे पांच नारकंडा में बहाल नहीं हो पाया। वहीं रामपुर से रोहड़ू मार्ग पर बाहली और सुंगरी में भारी बर्फबारी हुई है, जिस कारण रोहडू जाने वाले लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। सड़कों पर बर्फ और फिसलन के कारण हादसे होने की भी आशंका बनी हुई है। लोक निर्माण विभाग की एक दर्जन मशीनें और सैकड़ों मजदूर बाधित मार्गों को बहाल करने में जुटे हुए हैं।
लोक निर्माण विभाग रामपुर के अधिशासी अभियंता एसके सोबती के अनुसार बाधित मार्गों को बहाल करने का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। एक दर्जन मशीनें और सैकड़ों मजदूर बर्फबारी से बाधित मार्गों को बहाल करने में जुटे हैं। जल्द ही सभी सड़कों को बहाल कर दिया जाएगा। वहीं एसडीएम रामपुर नरेंद्र चौहान के अनुसार बाधित सड़कें और बिजली व्यवस्था को जल्द दुरुस्त कर दिया जाएगा।

किन्नौर, रामपुर से वाया धामी होकर शिमला जा रहे वाहन
 

adsatinder

explorer
Heavy Snowfall Again In Himachal, Roads Blocked, Flights Canceled, Woes Increased
हिमाचल में फिर बर्फबारी, तीन एनएच समेत 332 सड़कें बंद, हवाई उड़ानें भी रद्द
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला/कुल्लू, Updated Tue, 21 Jan 2020 11:47 AM IST
Heavy snowfall again in Himachal, roads blocked, flights canceled, woes increased

1 of 11
- फोटो : अमर उजाला

हिमाचल के मुख्य पर्यटन स्थलों कुफरी, मनाली और डलहौजी में मंगलवार सुबह फिर हिमपात हुआ। प्रदेश में ताजा हिमपात से शिमला-रामपुर, आनी-जलोड़ी-कुल्लू और मनाली-लेह नेशनल हाईवे समेत 332 सड़कें बंद हो गईं। राजधानी शिमला में भी सोमवार रात बर्फ की सफेद चादर बिछ गई। रात भर नारकंडा में एनएच पर वाहनों के पहिये थमे रहे।


2 of 11
- फोटो : अमर उजाला

चंबा जिले के डलहौजी, खज्जियार, लक्कड़मंडी, आहला, सलूणी, किहार, तीसा, भरमौर और पांगी में ताजा बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। चंबा में करीब 50 सड़कें बंद होने से एक दर्जन बसें विभिन्न स्थानों पर फंस गई हैं।




3 of 11
- फोटो : अमर उजाला

पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता होने के बाद कुल्लू व लाहौल-स्पीति में एक बार फिर ताजा हिमपात हुआ है। बर्फबारी के बाद कुल्लू जिला की पहाड़ियों के साथ ग्रामीण क्षेत्र हिमपात से लकदक हो गए हैं।




4 of 11
- फोटो : अमर उजाला

वहीं, दूसरी ओर ताजा बर्फबारी के बाद बिजली-पानी को लेकर ग्रामीणों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। कुल्लू जिला में 50 से अधिक सड़कें बर्फबारी व बारिश के बाद अवरुद्ध हो गई हैं। जबकि जनजातीय क्षेत्रों के लिए मंगलवार को होने वाली प्रस्तावित उड़ानें भी बर्फबारी के कारण रद्द हो गई हैं।




5 of 11
- फोटो : अमर उजाला

घाटी में 22 विभिन्न जगह 22 मरीज फंसे हुए हैं। खराब मौसम के चलते मरीजों की मुश्किलें और भी बढ़ गई हैं। 11 जनवरी के बाद से जनजातीय क्षेत्रों के लिए कोई भी हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं हुई है। लगातार खराब मौसम हेलीकॉप्टर उड़ानों में बाधा बन रहा है।





6 of 11
- फोटो : ani

मनाली शहर में ताजा बर्फबारी से सैलानी और पर्यटन कारोबारी खुश है। शहर में सैलानियों ने बर्फबारी का जमकर लुत्फ उठाया। वहीं राजधानी शिमला में भी ताजा बर्फबारी दर्ज की गई। शहर के जाखू, मालरोड, संजौली और ढली क्षेत्र में बर्फबारी हुई है।


बर्फबारी के बाद शिमला-रामपुर नेशनल हाइवे-05 पर करीब 12 घंटे वाहनों की आवाजाही बंद रही। सोमवार रात करीब 11:15 बजे फागू, कुफरी और छराबड़ा में बर्फबारी शुरू हुई। इसके बाद 12 बजे ट्रैफिक बंद हो गया। पूरी रात वाहनों की आवाजाही बंद रही। मंगलवार सुबह बर्फबारी के बाद सड़क पर भारी फिसलन के चलते ठियोग-फागू और ढली में गाड़ियां रोक दी गईं। दोपहर 12 बजे के बाद फागू-कुफरी सड़क पर ट्रैफिक बहाल हो पाया। शिमला डिविजन की 119 सड़कें बंद होने से मंगलवार को एचआरटीसी के 171 रूट फेल हुए जबकि 41 बसें विभिन्न रूटों में फंस गईं।

किन्नौर, ऊपरी शिमला और आउटर सिराज की ऊंची चोटियों में भी बर्फबारी का दौर जारी है। एचआरटीसी शिमला लोकल डिपो के 4, रिकांगपिओ के 12, तारादेवी के 58, रोहड़ू के 19, रामपुर के 43, करसोग के 20, शिमला ग्रामीण के 13 और सोलन डिपो के 2 रूट फेल हुए हैं। लोकल डिपो की 10, तारादेवी की 3, रोहड़ू की 11, रामपुर की 6, करसोग की 3 और शिमला ग्रामीण की 8 बसें विभिन्न रूटों में फंसी हुई हैं। जिला कांगड़ा के कई क्षेत्रों में मंगलवार को बारिश जारी रही।

मंगलवार को नड्डी, मैक्लोडगंज, भागसूनाग और डलझील, बीड़ बिलिंग और मुल्थान में बर्फबारी हुई। मंगलवार को प्रदेश के अधिकतम तापमान में चार डिग्री की कमी दर्ज हुई। उधर, मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने बुधवार को भी प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान जताया है। 23 को मौसम साफ रहने की संभावना है। 24 और 25 जनवरी को दोबारा मौसम खराब होने के आसार हैं। रामपुर से रोहड़ू को जोड़ने वाली सड़क दो सप्ताह से बहाल नहीं हो पाई है।

क्षेत्र न्यूनतम तापमान (डिग्री सेल्सियस में)
केलांग - 10.2
कल्पा - 7.4
कुफरी - 3.4
डलहौजी - 2.3
मनाली - 1.6
शिमला शून्य

क्षेत्र बर्फबारी (सेंटीमीटर में)
रोहतांग 75
जलोड़ी दर्रा 35
सोलंगनाला 30
खज्जियार 17
डलहौजी 12
मनाली 10



हिमाचल में फिर बर्फबारी, तीन एनएच समेत 332 सड़कें बंद, हवाई उड़ानें भी रद्द
 
Top