2019 Manali-Leh Road Status

adsatinder

explorer
Himachal PradeshShimla › dispute between himachal and ladakh taxi operator

लद्दाख और हिमाचल के टैक्सी ऑपरेटर आमने-सामने, ये है बड़ी वजह
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मनाली (कुल्लू) Updated Fri, 12 Jul 2019 08:48 PM IST


प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर



मनाली-लेह-लद्दाख सड़क के बीच पड़ने वाले पर्यटन स्थल सरचू के पास सीमा विवाद के बाद अब लद्दाख और हिमाचल के टैक्सी ऑपरेटर आपने-सामने आ गए हैं। जून माह में लद्दाख में मनाली की छह गाड़ियां तोड़ने के बाद शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। लद्दाख और मनाली टैक्सी ऑपरेटरों के विवाद से चालक खासे परेशान हैं। मनाली के टैक्सी चालकों का आरोप है कि जब वह पर्यटक लेकर लेह जा रहे हैं तो उन्हें वहां रुकने नहीं दिया जा रहा। इतना ही नहीं, वापसी में उनको पर्यटकों को लाने नहीं दिया जा रहा है।
विज्ञापन


लेह-लद्दाख टैक्सी यूनियन के निर्णय के बाद अब मनाली टैक्सी यूनियन की ओर से लेह-लद्दाख की टैक्सियों को मनाली से वापस नहीं जाने दिया जा रहा । दोनों टैक्सी यूनियनों के विवाद से चालक परेशान हैं। इसका खामियाजा सैलानियों को मनाली और लेह का भारी भरकम किराया देकर भुगतना पड़ रहा है। पहले दोनों ओर से सवारियां मिलने से दाम कम हो गए थे। लेकिन अब एक तरफ ही सवारी मिलने से दाम भी बढ़ गए हैं। हालांकि प्रशासन ने मनाली से लेह तक छोटे वाहनों का 16 से 18 व बड़े वाहनों का 24 से 25 हजार किराया निर्धारित किया है। लेकिन चालकों को वापसी में पर्यटक मिलने से किराया कम ही लिया जा रहा था।

बेवजह विवाद खड़ा कर रही लेह यूनियन: गुप्त राम
हिम आंचल टैक्सी ऑपरेटर यूनियन मनाली के अध्यक्ष गुप्त राम ने बताया कि उनकी ओर से विवाद की कोई पहल नहीं की गई है। लेकिन लेह टैक्सी चालक बिना मतलब विवाद खड़ा कर रहे है। उन्होंने कहा कि मनाली की गाड़ियां तोड़ने के बाद लेह टैक्सी यूनियन ने मनाली के चालकों के नुकसान की भरपाई भी की। इसके बावजूद वे विवाद को तूल दे रहे हैं। उन्होंने लेह यूनियन से आग्रह किया कि विवाद को तूल न देकर समस्या को सुलझाए अन्यथा मनाली यूनियन भी उनकी राह पर चलने को मजबूर होगी।






लद्दाख और हिमाचल के टैक्सी ऑपरेटर आमने-सामने, ये है बड़ी वजह
 

adsatinder

explorer
HomeHimachal PradeshShimla › Manali News: manali leh road closed for many hours due to landslide and traffic jam in rohtang

मनाली-लेह मार्ग भूस्खलन से बाधित, रोहतांग में कई घंटों तक ट्रैफिक जाम
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, केलांग(लाहौल-स्पीति) Updated Fri, 12 Jul 2019 11:09 AM IST

रोहतांग में ट्रैफिक जाम

रोहतांग में ट्रैफिक जाम - फोटो : अमर उजाला


रोहतांग दर्रा में सड़क के दोनों किनारों पर बेतरतीब तरीके से पर्यटक वाहन पार्क करने से घंटों जाम लग रहा है। गुरुवार को रोहतांग दर्रा में जाम लगने से करीब दो घंटे तक सेना के वाहन फंसे रहे। ट्रैफिक को सुचारु करने के लिए रोहतांग में कोई पुलिस कर्मी नहीं दिखा।

रोहतांग में पार्किंग के लिए जगह बनाई गई है लेकिन स्थानीय टैक्सी चालक और सड़क के दोनों किनारों पर बेतरतीब वाहन खड़े कर देते हैं। कुल्लू से लाहौल पहुंचे रमेश, सुरेंद्र और दोरजे ने बताया कि टैक्सी चालक मनमर्जी से सड़क के दोनों किनारों पर वाहन खड़े कर रहे हैं।



रोहतांग में ट्रैफिक जाम

रोहतांग में ट्रैफिक जाम - फोटो : अमर उजाला
इससे घंटों जाम लग रहा है। लाहौल, पांगी और लेह जाने वाले यात्रियों के अलावा सेना के वाहन भी इस जाम में फंस रहे हैं। लाहौल पंचायत प्रधान संघ के अध्यक्ष सत्यप्रकाश और पूर्व जिप उपाध्यक्ष रिगजिन ने कहा कि अगर मनाली प्रशासन रोहतांग में जाम की समस्या को लेकर गंभीर नहीं है तो लाहौल-स्पीति प्रशासन को इसका समाधान निकालना चाहिए।

जाम के कारण लाहौल-स्पीति के लोग सबसे अधिक प्रभावित हो रहे हैं। एसडीएम मनाली रमन घरसंगी का कहना है कि ट्रैफिक को सुचारु रखने के लिए रोहतांग में मनाली पुलिस के जवान तैनात हैं। अगर टैक्सी चालक निर्धारित पार्किंग में वाहन खड़े नहीं कर रहे हैं तो ऐसे वाहनों के चालान काटे जाएंगे।वहीं मनाली-लेह मार्ग जिंगजिंगवार दर्रा के पास भूस्खलन से कई घंटों तक बंद रहा। इससे पर्यटक और सेना के वाहन फंसे रहे।



मनाली-लेह मार्ग भूस्खलन से बाधित, रोहतांग में कई घंटों तक ट्रैफिक जाम
 

adsatinder

explorer
fresh snowfall in rohtang and heavy rainfall warning for himachal (2 days)

रोहतांग में गिरे बर्फ के फाहे, हिमाचल में दो दिन भारी बारिश की चेतावनी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Updated Fri, 12 Jul 2019 05:47 PM IST


रोहतांग में बर्फ देखने पहुंचे पर्यटक


रोहतांग में बर्फ देखने पहुंचे पर्यटक - फोटो : अमर उजाला


प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में शुक्रवार को मानसून सक्रिय होने से रोहतांग में ताजा हिमपात और मनाली में झमाझम बारिश हुई। राजधानी शिमला सहित कई मैदानी क्षेत्रों में दिनभर मौसम का मिजाज बनता-बिगड़ता रहा। हालांकि, अधिकतम तापमान में दो डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज हुई।

प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में शनिवार को हल्की बारिश का पूर्वानुमान है। रविवार और सोमवार को पूरे प्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 18 जुलाई तक प्रदेश में मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान जताया है।



ब्यास नदी किनारे न जाने की हिदायत

कुल्लू में ब्यास नदी उफान पर


कुल्लू में ब्यास नदी उफान पर - फोटो : अमर उजाला



शुक्रवार दोपहर बाद कुल्लू की ऊझी घाटी के साथ मनाली में जमकर बादल बरसे। रोहतांग के साथ मनाली की ऊंची चोटियों में हल्का हिमपात हुआ है। हिमपात और बारिश के बाद लुढ़के तापमान से लोगों और पर्यटकों ने उमस से राहत ली। जिला प्रशासन ने बारिश में सैलानियों को सुरक्षा के चलते ब्यास नदी किनारे न जाने की हिदायत दी है।

शुक्रवार को ऊना में अधिकतम तापमान 33.0, कांगड़ा-भुंतर में 32.0, चंबा में 31.5, सुंदरनगर में 30.1, बिलासपुर में 30.0, धर्मशाला में 29.8, हमीरपुर में 29.7, नाहन में 27.9, सोलन में 27.0, शिमला में 24.2, कल्पा मे 22.0, केलांग में 20.5 और डलहौजी में 19.8 डिग्री सेल्सियस रहा।





रोहतांग में गिरे बर्फ के फाहे, हिमाचल में दो दिन भारी बारिश की चेतावनी
 

adsatinder

explorer
This truly amazing now i can plan the trip, but i guess even their will be rainy season. Please update me on the same.
Rain will be till 18 July for current predictions.
After that new prediction can be seen here.
Rainy season will last till early September.
Rainy Season and increased temperature, creating more water in water crossings at hills.
Be careful and try to cross big Water Crossing earlier in morning.
 

Yogesh Sarkar

Administrator
This truly amazing now i can plan the trip, but i guess even their will be rainy season. Please update me on the same.
Monsoon affects Himachal and J&K, not Ladakh. So you will face rain till Baralacha La on Manali side and till Zoji La on Srinagar side. Beyond that, rain depends on local weather build up and western disturbance.
 
Top