2019 Manali-Leh Road Status

adsatinder

explorer
655 Roads Blocked In Himachal Pradesh Due To Landslides Heavy Rain
माचल में 655 सड़कें अब भी बंद, महिला बही, इस दिन से फिर बारिश के आसार
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Updated Wed, 21 Aug 2019 06:31 PM IST


655 roads blocked in himachal pradesh due to landslides heavy rain

- फोटो : अमर उजाला


हिमाचल में मौसम साफ होने के बाद भी यातायात व्यवस्था सुचारु नहीं हो सकी है। सूबे में बुधवार को भी 655 सड़कें बंद रहीं। भूस्खलन के चलते मनाली- लेह मार्ग बंद होने से रोहतांग के पास रात को वाहनों में सैकड़ों लोग फंसे रहे। रास्ता बंद होने के कारण लाहौल में फंसे सैलानी अभी नहीं निकल पाए हैं।

इसी बीच, नेरवा में फंसी स्कूली छात्राओं को बुधवार को निकाल लिया, लेकिन कुपवी में खेल प्रतियोगिता के लिए गए 40 स्कूली बच्चे अभी भी फंसे हुए हैं। आनी में खड्ड में बहने से एक महिला की मौत हो गई है। मौसम विभाग की मानें तो प्रदेश में 24 से 27 अगस्त तक फिर से बारिश होने के आसार हैं। गुरुवार और शुक्रवार को मौसम साफ रहेगा।


मौसम खुलने के बाद प्रदेश में भूस्खलन की घटनाएं बढ़ीं



मौसम खुलने के बाद प्रदेश में भूस्खलन की घटनाएं बढ़ गई हैं। कुल्लू-मनाली सड़क बड़े वाहनों के लिए बंद है। मढ़ी के पास मंगलवार को भूस्खलन से बंद पड़ा मनाली-लेह मार्ग 36 घंटों बाद कुछ देर के लिए खुलने के बाद फिर अवरुद्ध हो गया है।

बुधवार को राजधानी शिमला सहित प्रदेश के सभी क्षेत्रों में मौसम साफ रहा। धूप खिलने से तापमान दो से तीन डिग्री बढ़ गया। कुल्लू-मनाली हाईवे तीन और औट-आनी-सैंज पांच दिनों से बड़े वाहनों के लिए बंद है।

भुंतर-मणिकर्ण मार्ग बड़े वाहनों के लिए अवरुद्ध है। सड़कें बंद होने के कारण प्रदेश के विभिन्न इलाकों में अभी भी बसों समेत सैकड़ों वाहन फंसे हैं। लाहौल से कुल्लू की ओर आ रहे मटर और सब्जियों की गाड़ियों भी दो दिनों से रोहतांग और इसके आसपास फंसी हैं।


बहने से महिला की मौत, सुजानपुर में मिला कुल्लू के बच्चे का शव
आनी के बाड़ी में एक महिला खड्ड पार करते पांव फिसलने से खड्ड में बह गई। महिला का शव करीब दो सौ मीटर दूर मिला। बुधवार को ग्रामीणों ने शव खड्ड में देखा। मृतका की पहचान शीतला देवी (22), पत्नी फकीर चंद, गांव शारंबाग, तहसील करसोग, जिला मंडी के रूप में हुई।

उधर, कुल्लू के जिया गांव से लापता बच्चे का शव हमीरपुर के सुजानपुर में ब्यास नदी के किनारे मिला है। शव की पहचान परिजनों ने की है। पुलिस बच्चे का डीएनए विश्लेषण करवाएगी। बच्चे का घर ब्यास के पास है। उसके बाढ़ में बहने की आशंका जताई जा रही है।



हिमाचल में 655 सड़कें अब भी बंद, महिला बही, इस दिन से फिर बारिश के आसार
 

adsatinder

explorer
BRO Clearing Rohtang Pass Manali-Leh Highway Himachal Pradesh

बहाली के कुछ घंटे बाद मनाली-लेह सड़क फिर बंद, सैकड़ों वाहन फंसे

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, केलांग (लाहौल-स्पीति) Updated Wed, 21 Aug 2019 03:46 PM IST

BRO Clearing Rohtang Pass Manali-Leh Highway Himachal Pradesh

- फोटो : ANI


मनाली-लेह सामरिक मार्ग पर फंसे वाहनों को बुधवार दोपहर बाद 36 घंटे के बाद रफ्तार मिली। 30 मीटर हिस्से को दुरुस्त करने में बीआरओ को डेढ़ दिन का समय लग गया। लेकिन बहाली के कुछ घंटे बाद शाम को करीब 6.30 बजे मनाली-लेह मार्ग फिर बंद हो गया। इस दौरान सेना, पर्यटक, मालवाहक वाहनों के अलावा सब्जियों से लदे सैकड़ों मालवाहक वाहन फिर से फंस गए।

बताया जा रहा है कि मंगलवार तड़के करीब चार बजे भूस्खलन में एक तेल का टैंकर दब गया था, जिसे निकालकर बुधवार दोपहर बाद करीब चार बजे मार्ग को बहाल किया गया। बीआरओ ने मंगलवार दोपहर बाद राहत कार्य शुरू किया था। देर शाम कुछ घंटों के लिए सड़क को छोटे वाहनों के लिए बहाल किया गया।

लेकिन रात को भारी बारिश से भूस्खलन के कारण सड़क फिर बंद हो गई। ऐसे में मंगलवार रात भर वाहनों की कतारें लगी रहीं। रोहतांग और मढ़ी में फंसे वाहनों में सवार लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। इसमें मनाली की तरफ से केलांग की ओर गए कई लोगों को तो रात को ही मनाली लौटना पड़ा।

मढ़ी से रोहतांग और मढ़ी से कोठी के बीच फंसे लोगों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा। हजारों पर्यटक और जनजातीय लोग रोहतांग और गुलाबा के बीच भी फंसे रहे। बीआरओ के कमांडर उमा शंकर ने कहा कि बुधवार शाम को मनाली-लेह मार्ग बड़े वाहनों के लिए बहाल कर दिया गया है। लेकिन शाम को फिर भूस्खलन होने से यह मार्ग फिर बंद हो गया है।


बहाली के कुछ घंटे बाद मनाली-लेह सड़क फिर बंद, सैकड़ों वाहन फंसे
 

rizmadina

New Member
Hi Guys,

We have planned to visit Leh in Mid's September this year and the Itinerary is as follow, Please have a look and advise.

DayDateWeekdayOriginDestination(km)
Day 110 September 2019TuesdayDelhi -Kasauli300
Day 211 September 2019WednesdayKasauli -Narkanda140
Day 312 September 2019ThursdayNarkanda -Khab235
Day 413 September 2019FridayKhab -Chandra Taal230
Day 514 September 2019SaturdayChandra Taal -Jispa210
Day 615 September 2019SundayJispa -Tso Kar220
Day 716 September 2019MondayTso Kar -Leh150
Day 817 September 2019TuesdayLeh -Sarchu255
Day 918 September 2019WednesdaySarchu -Manali255
Day 1019 September 2019ThursdayBuffer DayBuffer Day60
Day 1120 September 2019FridayManali -Shāhpur340
Day 1221 September 2019SaturdayShāhpur -Delhi200

But looking from the current weather situation and ongoing tensions in Kashmir, Will this Itinerary work ?

Please advise !

Many Thanks.
 

Luvk

New Member
The weather in Ladakh since past 4-5 days has been sunny and clear. The roads are in great condition. There was light snowfall on Ktop on Monday but we drove through it on Wednesday and didn't face any issues.

Planning to retrace our steps back to Manali tomorrow. Hoping to get an early start and push through to reach Jispa tomorrow night from Leh, stay the night at Jispa and reach Manali the day after.

Heard the roads are open do lemme know if you guys have any updates on the road conditions of Leh- Manali route after the heavy rains last week.
 

adsatinder

explorer
Landslides Manali Leh Road Vehicle Stuck In Mud Kullu Lahaul Himachal Pradesh

Cross Rohtang after 7am and before 7pm.
Sugestion by SDM Manali



मनाली-लेह मार्ग पर तीन घंटे तक लगा जाम, भूस्खलन के बाद दलदल रोक रहा पहिये
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मनाली (कुल्लू) Updated Sun, 25 Aug 2019 12:36 PM IST

landslides Manali Leh Road vehicle stuck in mud Kullu Lahaul Himachal Pradesh

- फोटो : अमर उजाला


मनाली-लेह मार्ग पर रविवार सुबह करीब छह बजे भूस्खलन हो गया, जिससे करीब तीन घंटे तक सैकड़ों वाहन फंसे रहे। बंता मोड़ के पास मलबे और दलदल में वाहन फंस गए। इसमें पर्यटकों के साथ सब्जी से भरे वाहन भी शामिल रहे। वाहनों को धक्का मारकर मुश्किल बाहर निकाला गया।

पांच दिन पहले यहां भूस्खलन होने के बाद अभी तक स्थिति में सुधार नहीं आया है। जनजातीय क्षेत्र के लोग वाहनों को दलदल से निकालने में पर्यटकों की मदद कर रहे हैं। लेकिन बीआरओ मनाली-लेह मार्ग को बहाल नहीं रख पा रहा है।

इसके चलते रविवार सुबह भी मढ़ी व रोहतांग के बीच भूस्खलन की समस्या बनी रही। हालांकि बाद में बीआरओ ने मौके पर पहुंचकर मनाली-लेह मार्ग को बहाल कर दिया था। लेकिन सड़क दलदल में तबदील हो गई, जिससे वाहन फंस रहे।

पहले भूस्खलन और बाद में दलदल ने दोनों तरफ लगी वाहनों की लंबी मुश्किल को बढ़ा दिया। इतना ही नहीं कई वाहनों को दूसरे वाहन के साथ बांधकर दलदल से निकालना पड़ा। हालांकि मनाली-लेह मार्ग पर सैलानियों की आवाजाही में भारी कमी आई है।

ऐसे में सबसे अधिक परेशान लाहौल के किसानों को हो रही है। इसके अलावा लाहौल, पांगी-किलाड़ के लोग भी कम परेशान नहीं है। दूसरी ओर रोहतांग दर्रा सहित बारालाचा और कुंजम जोत में इन दिनों पड़ रही धुंध से सफर जोखिम भरा हो गया है।

उधर, एसडीएम मनाली डॉ. अमित गुलेरिया ने बताया की सैलानियों को सुबह सात बजे के बाद व शाम सात बजे से पहले रोहतांग दर्रा पार करने की सलाह दी गई है। एसडीएम ने सैलानियों से आग्रह किया है कि वे मौसम को भांपकर ही सफर करें।


मनाली-लेह मार्ग पर तीन घंटे तक लगा जाम, भूस्खलन के बाद दलदल रोक रहा पहिये
 

Luvk

New Member
Hey hey we've reached Manali from Leh.

25/08/19: Left Leh at 0730 AM, the sun was out all day, the roads were in good condition other than the usual bad patches around Baralacha La and the water crossings around zz bar and darcha. We took a couple of short breaks and reached Gemur around 0530 PM.

26/08/19: Woke up to an overcast sky and drizzle in the morning at Gemur. We started from Gemur at 0700 AM the drizzling had stopped. The roads were good till Sissu. From there the effect of landslides started showing. A patch near Khoksar was shut and a detour had to be made. It was slushy and rocky but nothing that you couldn't get through with a firm first gear. Rohtang was cloudy and there were patches of good and bad slushy roads almost all the way till before solang valley bridge. We were in Manali at 11:30 AM.
 

Attachments

adsatinder

explorer
Hey hey we've reached Manali from Leh.

25/08/19: Left Leh at 0730 AM, the sun was out all day, the roads were in good condition other than the usual bad patches around Baralacha La and the water crossings around zz bar and darcha. We took a couple of short breaks and reached Gemur around 0530 PM.

26/08/19: Woke up to an overcast sky and drizzle in the morning at Gemur. We started from Gemur at 0700 AM the drizzling had stopped. The roads were good till Sissu. From there the effect of landslides started showing. A patch near Khoksar was shut and a detour had to be made. It was slushy and rocky but nothing that you couldn't get through with a firm first gear. Rohtang was cloudy and there were patches of good and bad slushy roads almost all the way till before solang valley bridge. We were in Manali at 11:30 AM.
Congrats !
You reached safely at Manali.
Enjoy at Manali too.
 
Top