2019 Manali-Leh Road Status

adsatinder

explorer
Three Days Of Bad Weather And Rain And Snowfall In Himachal
हिमाचल में तीन दिन खराब रहेगा मौसम, बारिश और बर्फबारी के आसार
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Updated Mon, 25 Nov 2019 06:04 PM IST

काेकसर

काेकसर - फोटो : अमर उजाला


हिमाचल के सभी क्षेत्रों में तीन दिन मौसम खराब रहेगा। मैदानी और मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी होने के आसार हैं। पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में यह बदलाव आ रहा है। 29 नवंबर से धूप खिलने का पूर्वानुमान है। सोमवार को राजधानी शिमला सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम साफ रहा। बर्फबारी के चलते प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्र शीत लहर की चपेट में आ गए हैं।

केलांग-कल्पा का न्यूनतम तापमान माइनस में चल रहा है। इन क्षेत्रों में सुबह और शाम के समय जबरदस्त ठंड पड़ रही है। रविवार रात को केलांग मे न्यूनतम तापमान माइनस 5.9, कल्पा में माइनस 0.6, मनाली में 3.4, भुंतर में 4.4 और शिमला में 5.9 डिग्री दर्ज हुआ। सोमवार को राजधानी शिमला में धूप खिलने के साथ हल्के बादल भी छाए रहे।

सोमवार को अधिकतम तापमान में सामान्य से दो डिग्री की कमी दर्ज हुई। सोमवार को ऊना में अधिकतम तापमान 26.7, कांगड़ा में 23.8, बिलासपुर में 22.5, हमीरपुर में 22.1, सुंदरनगर में 21.7, नाहन में 21.3, सोलन में 21.0, चंबा में 20.7, भुंतर में 18.9, शिमला में 15.7, धर्मशाला में 14.8, कल्पा में 8.7, डलहौजी में 7.1 और केलांग में 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।


हिमाचल में तीन दिन खराब रहेगा मौसम, बारिश और बर्फबारी के आसार
 

adsatinder

explorer
Rohtang Tunnel Closed And Telecommunication Services Stalled In Lahaul Valley After Heavy Snowfall
तस्वीरें: लाहौल घाटी में बिछी बर्फ की सफेद चादर, रोहतांग टनल से आवाजाही बंद, दूरसंचार सेवाएं ठप
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, केलांग(लाहौल-स्पीति)/शिमला, Updated Mon, 25 Nov 2019 05:07 PM IST

लाहौल की चंद्रा घाटी

1 of 6
लाहौल की चंद्रा घाटी - फोटो : अमर उजाला

भारी बर्फबारी की वजह से रोहतांग दर्रे के बाद अब रोहतांग सुरंग से होकर वाहनों की आवाजाही पर ब्रेक लगने से घाटी से रेफर होने वाले मरीजों के अलावा सरकारी कर्मचारियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। अब घाटी से बाहर आने-जाने के लिए हेलीकॉप्टर ही एकमात्र विकल्प रहा है। 25 नवंबर से रोहतांग टनल होकर बस की आवाजाही अचानक बंद होने से कई लोग कुल्लू-मनाली और लाहौल में फंस गए हैं।



लाहौल की चंद्रा घाटी

2 of 6
लाहौल की चंद्रा घाटी- फोटो : अमर उजाला

हालांकि, 24 नवंबर को बस के अलावा कई निजी वाहन टनल के जरिये आर-पार हुए। अवकाश पर गए कई कर्मचारी अभी भी घाटी से बाहर हैं। कई कर्मचारियों ने अवकाश पर घर जाना है। रोहतांग टनल से आवाजाही बंद होने से रेफर मरीजों को लाहौल से बाहर निकालना चुनौती बन गया है। कांग्रेस ने ऐसे हालात में सरकार से तत्काल हेलीकॉप्टर उड़ानें शुरू करने की मांग की है।


कोकसर

3 of 6
कोकसर- फोटो : अमर उजाला

जिला कांग्रेस प्रवक्ता अनिल सहगल ने कहा कि बर्फबारी के कारण रोहतांग दर्रा पहले ही बंद है। निर्माण कार्य के चलते रोहतांग टनल होकर 25 नवंबर से वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है। हेलीकॉप्टर सेवा ही एकमात्र विकल्प बचा है। कहा कि सरकार जनजातीय क्षेत्रों के लिए जल्द हेलीकॉप्टर उड़ानों की व्यवस्था करे। सीमा सड़क संगठन ने कहा कि मौसम पूरी तरह साफ होने के बाद ही रोहतांग दर्रा से बर्फ हटाने का काम शुरू किया जाएगा।


काेकसर

4 of 6
काेकसर- फोटो : अमर उजाला

बताया जा रहा है कि लाहौल घाटी के अधिकतर दुकानदारों ने अभी तक राशन और अन्य सामान का भंडारण नहीं किया है। सर्दी के मौसम में पिछले साल की तरह घाटी में खाद्यान्नों का संकट पैदा हो सकता है। वहीं, जिला प्रशासन का दावा है कि सरकार की तरफ से सभी तरह के खाद्यान्नों का भंडारण कर दिया है। उपायुक्त केके सरोच ने बताया कि हेलीकॉप्टर सेवा शुरू करने के लिए सोमवार को उड़ान समिति की टीम को रोहतांग टनल होकर कुल्लू भेज दिया गया है। इसके लिए रोहतांग टनल प्रबंधन से विशेष अनुमति मांगी गई। कुल्लू में उड़ान समिति कार्यालय खोलने के बाद कुछ दिन में हेलीकॉप्टर सीट के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू की जाएगी।



5 of 6
- फोटो : अमर उजाला

वहीं, सर्दी शुरू होते ही बीएसएनएल की दूरसंचार सेवा चरमरानी शुरू हो गई हैं। लाहौल के दारचा क्षेत्र में 11 नवंबर से बीएसएनएल की दूरसंचार सेवा और उदयपुर में पिछले करीब एक सप्ताह से मोबाइल फोन सेवा बंद है। जिला मुख्यालय केलांग में भी शनिवार शाम से बीएसएनएल की इंटरनेट सेवाएं जवाब दे रही हैं। इससे ऑनलाइन कामकाज ठप हो गया है। इंटरनेट सेवा बंद होने से ड्राइविंग लाइसेंस, वाहन पंजीकरण, आधार कार्ड और प्रमाणपत्र बनाने की प्रक्रिया रुक गई है। हालांकि चंद्रा और तोद वैली के कुछ हिस्सों में एक निजी कंपनी की दूरसंचार सेवा शुरू हो गई है।




6 of 6
- फोटो : अमर उजाला

हिमाचल में तीन दिन बारिश-बर्फबारी
मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने हिमाचल में तीन दिन बारिश-बर्फबारी की संभावना जताई है। विभाग के अनुसार 26, 27, 28 नवंबर को मैदानी, मध्यम ऊंचाई और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश-बर्फबारी के आसार हैं। 29 नवंबर से एक दिसंबर तक मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान है।




तस्वीरें: लाहौल घाटी में बिछी बर्फ की सफेद चादर, रोहतांग टनल से आवाजाही बंद, दूरसंचार सेवाएं ठप
 

adsatinder

explorer
No Chance of Opening of Rohtang Pass in 2019 Winters.
Snowfall is good now.




Ladakh, Kinnaur Receive Fresh Snowfall, Temperature Falls | ABP News
2,474 views
•Nov 27, 2019


33
5


ABP NEWS

17.5M subscribers


SUBSCRIBE
Himachal Pradesh's Rohtang pass received fresh snowfalls on Tuesday.Wading through the snow, two people crossed Rohtang pass with the help of the rescue team deployed at Koksar.Moreover, the India Meteorological Department (IMD) has predicted thunderstorms or hailstorm accompanied by lightning at isolated places over Himachal Pradesh in the next two days."Thunderstorm/hailstorm accompanied with lightning at isolated places is likely over Jammu and Kashmir, Himachal Pradesh, Uttarakhand, Punjab and Haryana, Chandigarh and Delhi on November 26 and 27," IMD said. #HimachalPradesh #Snowfall #Winter2019
 

adsatinder

explorer
First Snowfall Of Season In Shimla District,150 Roads Including Two NHs Closed
Rohtang Closed.

हिमाचल के पहाड़ बर्फ से लकदक, शिमला में सीजन का पहला हिमपात, दो हाईवे समेत 150 सड़कें बंद
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Updated Wed, 27 Nov 2019 07:17 PM IST


First snowfall of season in Shimla district,150 roads including two NHs closed

- फोटो : अमर उजाला


भारी बारिश और बर्फबारी की चेतावनी के बीच बुधवार को हिमाचल के पहाड़ बर्फ से लकदक हो गए। शिमला जिले में सीजन की पहला हिमपात हुआ। जुब्बल, नारकंडा और खड़ापत्थर में बर्फ की चादर बिछ गई। जुब्बल, नारकंडा और खड़ापत्थर में बर्फ की चादर बिछ गई। राजधानी से सटे पर्यटन स्थल कुफरी में भी फाहे गिरे हैं। बर्फबारी के चलते बुधवार को प्रदेश में दो नेशनल हाईवे सहित छोटी-बड़ी 150 सड़कें यातायात के लिए बंद रहीं। किन्नौर, लाहौल और चंबा में सौ से ज्यादा बिजली के ट्रांसफार्मर बंद हो गए हैं।

किन्नौर जिले में भी नवंबर के अंत में अधिक बर्फबारी रिकॉर्ड हुई है। छितकुल में दो और रिकांगपिओ में एक फीट से ज्यादा बर्फबारी हुई है। रोहतांग दर्रा में 45, कल्पा में 32, खदराला में 30 सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज हुई। औट-बंजार-सैंज हाईवे पर एचआरटीसी की दो बसें फंस गई हैं। भुंतर और शिमला हवाई अड्डे से बुधवार को उड़ानें भी नहीं हो सकीं। किन्नौर जिलों में बर्फबारी के चलते प्रशासन ने बुधवार को स्कूलों में छुट्टी कर दी।


शिक्षण संस्थान खुले रहेंगे, आठ जिलों में बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान

गुरुवार को शिक्षण संस्थान खुले रहेंगे। शिमला में दोपहर तक बूंदाबांदी के बीच दिन भर बर्फीली हवाएं चलीं। प्रदेश का अधिकतम तापमान में 5 से 6 डिग्री कम हो गया। कई इलाकों में पानी के पाइप जम गए।

गुरुवार को भी प्रदेश के आठ जिलों में बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान है। शुक्रवार से हिमाचल में मौसम साफ होने के आसार जताए गए हैं। जिला मुख्यालय रिकांगपिओ से काजा की ओर वाहनों की आवाजाही बुधवार दिन भर बंद रही।

जिले के करीब 20 रूटों में निगम की बसें फंसी हुई हैं। आनी के जलोड़ी जोत पर करीब दस इंच ताजा बर्फबारी से एनएच 305 और एनएच-5 पूह-काजा की ओर बंद है।



मनाली के पर्यटन स्थल बर्फ से लकदक, रोहतांग दर्रा बंद



शिमला जिला के रोहड़ू रोड पर खड़ापत्थर में दो इंच और डोडरा क्वार रोड पर चांशल घाटी में एक फीट तक बर्फबारी हुई है। चंबा जिला के कबायली क्षेत्र पांगी और भरमौर की ऊपरी चोटियों में भी दोपहर बाद बर्फबारी हुई।


मनाली के पर्यटन स्थल भी बर्फ से लकदक हो गए हैं। गुलाबा, कोठी के साथ सोलंगनाला तथा फातरू में भी ताजा बर्फबारी हुई है। रोहतांग दर्रा फिर से यातायात के लिए बंद हो गया है। दर्रा के बंद होने से कुल्लू डिपो की दो बसें बाह्य सराज में फंस गई है। प्रशासन ने सैलानियों व आम लोगों को अलर्ट किया है।
जानिए विभिन्न शहरों का तापमान



क्षेत्र - न्यूनतम तापमान
केलांग - 6.0
कल्पा - 1.6
कुफरी 0.3
मनाली 3.8
डलहौजी 4.5
शिमला 4.7


हिमाचल के पहाड़ बर्फ से लकदक, शिमला में सीजन का पहला हिमपात, दो हाईवे समेत 150 सड़कें बंद
 

adsatinder

explorer
Fresh Snowfall In Solang Valley Kullu Manali Himachal Pradesh


तस्वीरें: सोलंगनाला की वादियों में ताजा बर्फबारी, सैलानियों ने की जमकर मस्ती
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कुल्लू, Updated Wed, 27 Nov 2019 02:00 PM IST

Fresh snowfall in Solang Valley Kullu Manali Himachal Pradesh

1 of 6
- फोटो : अमर उजाला

हिमाचल प्रदेश के सोलंगनाला की वादियो में ताजा बर्फबारी हुई है। सोलंगनाला की वादियों में सैलानियों ने बर्फबारी का पूरा आनंद लिया। मनाली घूमने आए सैलानी बर्फ में खूब मस्ती कर रहे हैं। मनाली के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी का पता चलते ही मैदानी क्षेत्रों से आने वाले पर्यटकों ने मनाली की ओर रुख करना शुरू कर दिया है।



2 of 6


बर्फबारी मनाली के पर्यटन सीजन के लिए वरदान से कम नहीं है। हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में सीजन का पहला हिमपात हुआ है। शिमला में सीजन का पहला हिमपात होने से प्रदेश के मैदानी क्षेत्रों तक ठंड का असर दिखने लगा है।



3 of 6
- फोटो : अमर उजाला

शिमला जिले के खड़ा पत्थर जुब्बल क्षेत्र में सीजन की पहली बर्फबारी हुई है। रोहड़ू के ऊपरी क्षेत्र और खड़ा पत्थर के नजदीक बराल में ताजा बर्फबारी के बाद नजारा बेहद आकर्षक है।


PIC

4 of 6
PIC- फोटो : अमर उजाला

बर्फबारी से शिमला शीतलहर की चपेट में आ गया है। जिला शिमला में बर्फबारी व निचले क्षेत्रों में बारिश आगामी सेब और रबी फसल के लिए बेहतर मानी जा रही है।



5 of 6
- फोटो : अमर उजाला

मौसम विभाग ने आज भी प्रदेश भर में बारिश, ओलावृष्टि और ऊंची चोटियों पर बर्फबारी की चेतावनी जारी की है। गुरुवार को भी मौसम खराब बना रहेगा। किन्नौर जिले के काफनू में भी ताजा हिमपात हुआ है।



6 of 6
- फोटो : अमर उजाला

हिमाचल प्रदेश के मनाली व लाहौल की ऊंची चोटियों पर हिमपात का क्रम जारी है। 13,050 फीट ऊंचे रोहतांग दर्रा में अब तक 20 सेंटीमीटर, कोकसर व मढ़ी में 10 सेंटीमीटर ताजा बर्फबारी हुई है। इसके साथ ही सुबह से कुल्लू, मनाली, बंजार सहित समूची घाटी में बारिश हो रही है।


 

adsatinder

explorer
Fresh Snowfall In Manali Lahaul And Kinnaur And Rain In Lower Himachal
मनाली-लाहौल में बर्फबारी से जनजीवन अस्तव्यस्त, शीत लहर की चपेट में पूरा प्रदेश
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कुल्लू, Updated Wed, 27 Nov 2019 02:00 PM IST


Fresh snowfall in Manali Lahaul and kinnaur and rain in lower himachal

1 of 5
- फोटो : अमर उजाला


हिमाचल प्रदेश के मनाली व लाहौल की ऊंची चोटियों पर हिमपात का क्रम जारी है। 13,050 फीट ऊंचे रोहतांग दर्रा में अब तक 20 सेंटीमीटर, कोकसर व मढ़ी में 10 सेंटीमीटर ताजा बर्फबारी हुई है। इसके साथ ही सुबह से कुल्लू, मनाली, बंजार सहित समूची घाटी में बारिश हो रही है।



2 of 5
- फोटो : अमर उजाला

बारिश से जनजीवन प्रभावित हो गया है। बर्फबारी व बारिश के बाद घाटी में पारा भी काफी लुढ़क गया है। 10,280 फीट ऊंचे जलोड़ी दर्रा में सर्दी की दूसरी बर्फबारी होने से औट-बंजार-सैंज हाइवे-305 यातायात के लिए फिर से बंद हो गया है।



3 of 5
- फोटो : अमर उजाला

दर्रा में 10 सेंटीमीटर ताजा बर्फबारी होने से वाहनों की आवाजाही बंद हो गई है। दर्रा बंद होने से निगम की दो बसें फंस गई हैं। वहीं जिला के कई संपर्क मार्गों पर बारिश के चलते वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई है।




4 of 5
- फोटो : अमर उजाला

जबकि दिल्ली से भुंतर हवाई अड्डे के लिए भी उड़ानें प्रभावित हुई हैं। हालांकि बर्फबारी व निचले क्षेत्रों में बारिश आगामी सेब और रबी की फसल के लिए बेहतर मानी जा रही है।



5 of 5
- फोटो : अमर उजाला

किन्नौर जिला में 45 से 90 सेंटीमीटर तक ताजा हिमपात हुआ है। वहीं अपर शिमला की ऊंची पहाड़ियों में ताजा हिमपात होने से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। बर्फबारी के चलते समूचा क्षेत्र शीत लहर की चपेट में आ गया है। किन्नौर जिले में यातायात और बिजली व्यवस्था ठप होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।


 

adsatinder

explorer
At -20 degrees, under 20-ft of snow, Border Roads Organisation clears Rohtang Pass

Usually, Rohtang Pass is officially closed for traffic on November 15 and reopened in May for which snow clearance begins in March. This is for the first time that the BRO took up the challenge to clear the stretch after intermittent snowfall.

[https://m]Snow-clearing machines and 60 Border Roads Organisation personnel were pressed into service to clear the 13,050-ft pass that connects Manali with Leh. (HT Photo)Updated: Dec 11, 2019 07:55 IST

By HT Correspondent , Hindustan Times, Chandigarh

In a first, the Border Roads Organisation (BRO) threw open the 13,050-foot-high Rohtang Pass on Tuesday after clearing about 20 feet of snow accumulated over the week.

Usually, Rohtang Pass is officially closed for traffic on November 15 and reopened in May for which snow clearance begins in March. This is for the first time that the BRO took up the challenge to clear the stretch after intermittent snowfall.

“The pass is open for traffic now. It’s for the civil administration to decide on whether they allow vehicles or not through the pass,” said 38 Border Road Task Force commander Uma Shankar.

The BRO pressed into service snow-cutters, earth-moving machines and nearly 60 men to clear the stretch on the 480-km highway that connects Manali in Himachal Pradesh to Leh in the Union territory of Ladakh. The highway was blocked since the snowfall on November 25.

High-velocity winds, blizzards and the threat of avalanches made the snow clearance tough. “There has been a continuous blizzard in the region. It’s difficult for men to work when high-velocity winds are blowing. The temperature is 20 degrees below freezing point and there are places where more than 20 feet of snow is accumulated,” Shankar said, listing out the odds that his team overcame.

Hundreds of people in the tribal belt of Lahaul and Spiti were stuck at home after the pass was closed though many migrate to Kullu and Manali in winter.

The civil administration in Manali, however, decided not to allow traffic on the highway due to ice on the road. “The roads are slippery so we can’t allow traffic for the moment,” said Manali sub divisional magistrate Raman Garsanghi.

Soldiers rescued eight people in a sports utility vehicle from Koksar on Monday night after a blizzard. They were on their way from Lahaul to Manali.





Copyright HT Digital Streams Ltd. All rights reserved.

 

adsatinder

explorer
Power, communication services snapped in Lahaul-Spiti

  • Posted: Dec 14, 2019 07:16 AM (IST)
  • Updated : 18 hours ago
Power, communication services snapped in Lahaul-Spiti

The frozen Prashar Lake looks splendid. Photo: Jai Kumar

Dipender Manta

Tribune News Service
Mandi, December 13

Heavy snowfall was reported in tribal district of Lahaul-Spiti and higher reaches of Mandi and Kullu today, while lower areas were lashed by incessant rain.
Blizzard in Lahaul valley affected normal life. Snow storm was reported in Sissu village in Lahaul valley, which forced the area residents to rush indoors to escape from bone-chilling cold.
Electricity supply has been affected in Lahaul villages because of heavy snowfall. Due to disruption of power supply, telecommunication services have been affected in the district. However, power supply was restored in the district headquarters of Keylong in the evening, while a major portion of district still reeled under darkness.

Deputy Commissioner Lahaul Spiti K K Saroch said that due to heavy snowfall traffic had come to a standstill in the district. If weather turned favourable on Saturday, the Border Roads Organization authority will start snow clearing operation to restore main roads for traffic movement within the district.
The Deputy Commissioner has urged the people of the district to be cautious while moving because the district is prone to avalanches. He said no loss of life or property was reported because of the inclement weather in the district.
In Kullu district power supply was affected in villages because of snowfall in higher reaches. The upper villages of Manali have been plunged into darkness since Thursday. The tourist places like Solang valley and Kothi, Guaba received more than 75 cm of snow till evening. The road leading to Solang valley or Kothi side has been blocked for traffic movement since Thursday because of heavy snowfall.
In Mandi district, tourist places like Prashar Lake, Kamrunag, Shikari Devi, Seraj and Karsog valley received snowfall, which affected the several bus routes in the region. Similarly, power supply was disrupted in snowbound areas of Seraj and Karsog valley. As many as 13 roads are blocked in the district, while 38 electric transformers were damaged because of heavy snowfall.
The farmers of state have welcomed the snowfall and rain, which ended the prolonged dry spell of weather. Apple orchardists of the state are also happy after heavy snowfall in early December, which will help the crop complete required chilling hours for better output.


Power, communication services snapped in Lahaul-Spiti
 

adsatinder

explorer
Himachal PradeshBilaspur › 431 Roads Including Six NH Closed In Himachal, 170 Tourists Rescued, See Situation In Pictures
हिमाचल में छह एनएच समेत 431 सड़कें बंद, 170 पर्यटकों को बचाया, तस्वीरों में देखें हालात
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला, Updated Sat, 14 Dec 2019 08:06 PM IST
लाहौल घाटी

1 of 9
लाहौल घाटी - फोटो : अमर उजाला

हिमाचल में बर्फबारी के बाद तीसरे दिन शनिवार को भले ही मौसम खुल गया पर दुश्वारियां बरकरार हैं। प्रदेश में छह नेशनल हाईवे समेत 431 सड़कें अभी भी बंद पड़ी हैं। चंबा में ठंड ने एक व्यक्ति की जान ले ली, जबकि लाइन ठीक करते फोरमैन की हार्ट अटैक से मौत हो गई। बर्फबारी के चलते विधानसभा सत्र में कई विधायक समय पर नहीं पहुंच पाए।


2 of 9
- फोटो : अमर उजाला

इसके चलते सदन की कार्यवाही आधा घंटा देरी से शुरू हुई। राजधानी शिमला सहित छह स्थानों का न्यूनतम पारा माइनस में पहुंच गया है। पूरे प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। कुफरी और हसन वैली में फंसे 170 पर्यटक दस घंटे चले बचाव अभियान के बाद सकुशल निकाले गए। इनमें 90 महाराष्ट्र और 70 राजस्थान से शिमला आए थे।


3 of 9
- फोटो : अमर उजाला

इनमें से कुछ विद्यार्थी भी शामिल हैं। बर्फबारी के चलते चंबा के जोत नामक स्थान पर दर्जन भर लोग बीते तीन दिनों से अभी भी फंसे हैं। शनिवार को शिमला सहित पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहा। धूप खिलने से अधिकतम तापमान में दो डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज हुई।


4 of 9
- फोटो : अमर उजाला

उधर, मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने रविवार को भी प्रदेश के कई क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी के आसार जताए हैं। सोमवार से धूप खिलने का पूर्वानुमान है। 20 दिसंबर को फिर बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान है। प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में शनिवार सुबह तक बर्फबारी का दौर जारी रहा। जनजातीय क्षेत्र लाहौल-स्पीति और कुल्लू में भारी हिमपात से जनजीवन अस्त-व्यस्त है।



5 of 9
- फोटो : अमर उजाला
कुल्लू में 50 सड़कें बंद हैं। चंबा जिले की 110 सड़कों पर यातायात बाधित है। भरमौर-पठानकोट एनएच बकाणी से भरमौर तक बाधित रहा। शिमला-रामपुर, आनी-औट, रामपुर-रिकांगपिओ, मनाली-लेह एनएच भी बंद हैं। मंडी के सराज में दो गाड़ियां बर्फ पर फिसलने से पलट गईं।




6 of 9
- फोटो : अमर उजाला

इसमें सवार लोग बाल-बाल बच गए। चंबा में पुलिस लाइन बारगाह के पास मलकीत सिंह पुत्र पुन्नू राम निवासी लोअर जुलाहकड़ी की ठंड से मौत हो गई। चंबा के मंगला में बर्फबारी के दौरान फोरमैन देस राज की बिजली लाइन दुरुस्त करते ह्दय गति रुकने से जान चली गई। प्रदेश में हुई ताजा बर्फबारी के बाद यहां आने वाले सैलानियों की संख्या में इजाफा हुआ है।



7 of 9
- फोटो : अमर उजाला

तीन जिलों में हिमस्खलन का खतरा, अलर्ट
चंबा जिले के बर्फ से लकदक पांगी, भरमौर, तीसा और सलूणी क्षेत्र में हिमस्खलन के खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। कुल्लू और लाहौल घाटी के संवेदनशील स्थानों में भी लोगों को घरों से बाहर न निकलने की हिदायत दी है।



8 of 9
- फोटो : अमर उजाला

क्षेत्र न्यूनतम तापमान (डिग्री सेल्सियस में)
केलांग - 5.7
कुफरी - 3.9
कल्पा - 2.8
मनाली - 1.8
शिमला - 0.5
डलहौजी - 0.4


हिमाचल में छह एनएच समेत 431 सड़कें बंद, 170 पर्यटकों को बचाया, तस्वीरों में देखें हालात
 
Top