2019 Manali-Leh Road Status

adsatinder

explorer
Himachal Pradesh › Leopard Attacked 50-Year-Old Man In Broad Daylight, Died On The Spot
जंगल में पशु चरा रहे व्यक्ति पर तेंदुए ने किया हमला, मौके पर मौत
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, करसोग(मंडी) Updated Sat, 14 Dec 2019 05:52 PM IST

Leopard attacked 50-year-old man in broad daylight, died on the spot

- फोटो : अमर उजाला


हिमाचल में भारी बर्फबारी के चलते जंगली जानवर निचले क्षेत्रों की ओर रुख करके लोगों पर हमला करने लगे हैं। शनिवार दोपहर मंडी जिले के करसोग के पनयाडू गांव के जंगल में तेंदुए ने पशु चरा रहे पशुपालक पर हमला कर दिया। इससे पशुपालक की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंच कर शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए करसोग अस्पताल पहुंचाया। इस घटना के बाद क्षेत्रवासियों में दहशत का माहौल है। लोगों ने वन विभाग से तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाने की मांग की है।

पुलिस के अनुसार राम सिंह (59) पशु चराने साथ लगते जंगल में गए थे। वह पेड़ के पास बैठे थे, उसी समय उन पर तेंदुए ने अचानक पीछे से हमला कर दिया। अचानक हुए हमले में राम सिंह को संभलने का मौका नहीं मिला। आसपास के लोग जब तक मदद को पहुंच, तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। एसडीएम सुरेंद्र ठाकुर ने बताया कि पीड़ित परिवार को नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा। वन्य प्राणी विभाग को इस संदर्भ में जरूरी दिशा-निर्देश दिए जाएंगे।


जंगल में पशु चरा रहे व्यक्ति पर तेंदुए ने किया हमला, मौके पर मौत
 

rameshtahlan

Super User
THIS IS THE MOTHER OF ALL SNOWSTORM
GET READY, BE PREPARED.
06, 07, 08 and possibly 09 Jan 2020
06 Mon.jpg


07 Tue.jpg


08 We.jpg

THREE DAYS OR MORE OF SNOWFALL
You better get to your destination before 5 Jan 2020,
There is a lot of rain also,
This WD is pulling in moisture from the Arabian Sea, and that is why this gets more than severe.
There are going to be road blocks, land slides, snow slides.
Don't get caught on the road,

Be prepared, carry 3 days emergency rations, as help come come too soon. Specially food for kids that does not require cooking or heating, or carry a Camping Stove so you can use the snow to make tea and keep your warm.

Don't be in a rush to return, let the authorities clear the roads and snow/land slides, so you can drive back safe.
Enjoy your snowfall holiday.
be safe.
Happy Landings.
 

adsatinder

explorer
Central government tenders Rs 1455.73 crore for four-laning of Kiratpur-Nerchowk NN
January 11, 2020 07:46 PM


SHIMLA -11 January, 2020-Chief Minister Jai Ram Thakur today informed that the government of India has released funds for remaining work of four-laning of Kiratpur to Nerchowk national highway and the work would be completed soon that will facilitate the people of the state. He said that he had taken up the matter in this regard with the Union Surface Transport and Highways Minister Nitin Gadkari and this decision was the outcome of the same.
He said that Rs. 1455.73 crore has been tendered for balance work on four laning of Kiratpur to Nerchowk section of NH-21 greenfield alignment excluding Sundernagar bypass on Hybrid Annuity Mode (HAM)
He said that national highway authority (NHAI) tendered the remaining work of this road on Friday on Hybrid Annuity Mode (HAM) and the company that will construct this national highway will also maintain it for 15 years. He said that the work on 29 kilometers has already been awarded and is under progress.
The Chief Minister said that the government of India had entrusted to the NHAI the development, maintenance and management of National Highway No. 21. The Authority had resolved to augment balance work for four laning of Kiratpur to Nerchowk section of NH-21 on design, build, operate and transfer basis. It has decided to carry out the bidding process for selection of a private entity as the bidder to whom the Project may be awarded.

http://www.uniindia.com/central-government-tenders-rs-1455-73-crore-for-four-laning-of-kiratpur-nerchowk-nn/north/news/1850752.html

Central government tenders Rs 1455.73 crore for four-laning of Kiratpur-Nerchowk NN
 

adsatinder

explorer
People Protested Against Nhai And Demands To Remove Toll Plaza At Kullu
टोल टैक्स के विरोध में नेशनल हाईवे पर प्रदर्शन, तीन घंटे यातायात ठप
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पतलीकूहल/मनाली Updated Sat, 11 Jan 2020 03:57 PM IST

कुल्लू में प्रदर्शन

कुल्लू में प्रदर्शन - फोटो : अमर उजाला


किरतपुर-मनाली फोरलेन के निर्माण के बीच में ही ठेकेदार व कंपनी की ओर से डोहलूनाला स्थित टोल प्लाजा में टैक्स वसूली शुरू करने पर ऊझी घाटी के लोगों ने शनिवार को धरना प्रदर्शन किया। मांगों को लेकर डोहलूनाला के पास ऊझी घाटी के लोगों ने कुल्लू-मनाली हाईवे तीन को करीब तीन घंटे तक जाम रखा। प्रदर्शन करने वाले लोग बीच हाईवे में बैठ गए और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

हाईवे जाम करने से आम लोगों के साथ पर्यटकों को कड़ाके की ठंड में परेशानियों का सामना करना पड़ा। मनाली ब्लॉक कांग्रेस के अलावा ट्रक यूनियन, टैक्सी यूनियन, टेंपो यूनियन और होटल एसोसिएशन मनाली ने मिलकर डोहलूनाला में हल्ला बोला। प्रदर्शन से करीब तीन घंटों तक वाहनों की आवाजाही बाधित रही।

टोल-टैक्स को गुंडा टैक्स कहकर नारेबाजी भी की गई। कहा कि एक तो अभी सड़क का काम अधूरा है और दूसरा मनाली का पुल, सड़क किनारे नालियां बननी बाकी हैं।डोहलूनाला टोल प्लाजा फोरलेन सड़क के लगभग अंतिम छोर पर मनाली से महज 20 किलोमीटर पहले स्थापित किया गया है। टोल-प्लाजा से कुछ किलोमीटर की दूरी पर ग्रीन टैक्स बैरियर भी है। ऐसे में मनाली आने वाले सैलानी भी जगह-जगह टैक्स देने पर अपने आप को ठगा महसूस कर रहे हैं।

मनाली कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष भुवनेश्वर गौड़, मनाली होटलियर एसोसिएशन के अध्यक्ष अनूप राम ठाकुर, फोरलेन संघर्ष समिति के प्रतिनिधि महेंद्र ठाकुर, वीर सिंह ठाकुर, हीरा लाल विभू, राम लाल, विक्की, राजीव ठाकुर, घनश्याम कपूर, विद्या नेगी, राकेश ठाकुर, राज किशन और ऋषि किशोर समेत समस्त प्रदर्शनकारियों का कहना है कि करीब दो माह पहले प्रशासन ने स्थानीय लोगों से इस टैक्स बैरियर को लेकर आपत्तियां मांगी थीं।

लेकिन अभी तक इस पर कोई निर्णय नहीं हो सका है। लिहाजा, यातायात बाधित होते देख शांति बहाल करने के मकसद से एसडीएम कुल्लू अनुराग चंद्र शर्मा और डीएसपी कुल्लू प्रियंक गुप्ता मौके पर पहुंचे। उन्होंने एनएच के प्रोजेक्ट डायरेक्टर से बात कर 16 जनवरी को कुल्लू में आपत्तियां सुनने की बात कही। इसके बाद लोगों ने धरना खत्म किया और यातायात बहाल हो सका।


टोल टैक्स के विरोध में नेशनल हाईवे पर प्रदर्शन, तीन घंटे यातायात ठप
 

adsatinder

explorer
Kullu › Civic Amenities
बंजार-आनी, कुल्लू के 500 गांवों में ब्लैक आउट
Updated Fri, 10 Jan 2020 10:12 PM IST


पर्यटन नगरी मनाली में बर्फ से दबे वाहन।

पर्यटन नगरी मनाली में बर्फ से दबे वाहन। - फोटो : Kullu


कुल्लू। जिला कुल्लू में हुई भारी बर्फबारी से ग्रामीण इलाकों में चार दिन बाद भी दुश्वारियां बरकरार हैं। बर्फबारी से घाटी में बंद हुई 103 सड़कों में से 84 सड़कें अभी भी अवरुद्ध हैं। इसके अलावा कुल्लू-मनाली हाईवे तीन के साथ हाईवे 305 भी बंद चल रहा है। इससे सैलानियों के साथ बाह्य सराज के लोगों को परेशानी हो रही है। बंजार, आनी और कुल्लू के करीब 500 गांवों में अंधेरा छाया है।

बर्फबारी के बाद पड़ी कड़ाके की ठंड से पेयजल की 52 स्कीमें प्रभावित चल रही हैं। पहले इसकी संख्या करीब दो दर्जन थी। 200 बिजली के ट्रांसफार्मर भी बंद हैं। इससे ग्रामीण इलाकों के कई गांवों में पांच दिनों से ब्लैक आउट चल रहा है। हालांकि प्रशासन ने मनाली में बिजली को पूरी तरह से बहाल करने का दावा किया है। लेकिन सैकड़ों गांवों में अंधेरा पसरा हुआ है। कड़ाके की ठंड के बीच देवभूमि कुल्लू का जनजीवन ठहर सा गया है। कुल्लू-मनाली के बीच बस सेवा अभी भी बंद है और निगम अपनी बसों को पतलीकूहल तक भेज रहा है। हिमपात से जलोड़ी दर्रा के साथ रोहाचला, कांडीबाग, करशाला, कोठी, दलाश, खनाग, ब्यासर, जाणा, पलचान, कोठी, सोलंगनाला, छतरी, गाड़ागुशैणी, खौली, मलाणा, बरशैणी, सोलंगनाला समेत करीब 150 से अधिक बस रूटों पर बसों की आवाजाही थम गई है। भारी बर्फ पड़ने से कुल्लू के सोलंगनाला, जलोड़ी दर्रा समेत लाहौल को जोड़ने वाली अटल टनल के दोनों मुहाने में हिमखंड गिरने की आशंका है। इसको लेकर मौसम विभाग ने भी चेतावनी जारी की है। ऐसे में जिला प्रशासन ने भी लोगों को मौसम खुलने तक संवेदनशील इलाकों की ओर आवाजाही न करने का अलर्ट जारी किया है।


बंजार-आनी, कुल्लू के 500 गांवों में ब्लैक आउट
 

adsatinder

explorer
Kullu › Road Jaam

मनाली में बर्फबारी से घंटों लग रहा लंबा जाम
Updated Fri, 10 Jan 2020 10:12 PM IST

मनाली (कुल्लू)। कुल्लू और मनाली में बर्फबारी के बाद दो दिनों से धूप खिल रही है। लेकिन लोगों के साथ सैलानियों की दुश्वारियां कम नहीं हुई हैं। लोक निर्माण विभाग की ओर से सड़क से बर्फ को सही ढंग से नहीं हटाने से जाम लगने लगा है।

लोगों की ओर से घरों की छत से बर्फ को सड़क पर फेंकने से भी सैलानियों और आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मनाली पुलिस को जाम खोलने के लिए कड़ाके की ठंड में भारी मुश्किल हुई। मनाली में तापमान शून्य से नीचे जाने से घरों और होटलों को जोड़ी गई पानी की पाइपें जमने लगी हैं। इससे खासकर सैलानियों को परेशान होना पड़ रहा है। मनाली और इसके आसपास लोक निर्माण विभाग और एनएच अथॉरिटी की ओर से बर्फ न हटाए जाने के कारण वाहनों के साथ सैलानी फिसलने लगे हैं। अलेउ नाला, प्रीणी नाला, जगतसुख नाला और सजला नाला में भी बर्फ जमने से वाहन फिसलने लगे हैं। ऐसे में दुर्घटना होने का अंदेशा बना हुआ है। कुल्लू-मनाली मार्ग शुक्रवार को भी बसों के लिए बहाल नहीं हो सका है। पर्यटकों को मीलों दूर पैदल चलकर होटल पहुंचना पड़ रहा है। उधर, मनाली होटलियर एसोसिएशन के प्रधान अनूप राम ठाकुर की अध्यक्षता में प्रतिनिधिमंडल तहसीलदार मनाली नारायण सिंह वर्मा से मिला। कहा कि बर्फबारी से मनाली सहित समूची घाटी के लोगों और सैलानियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि मनाली में बर्फबारी से पेश आ रही परेशानियों को लेकर चर्चा करते हुए स्थिति को सामान्य करने की मांग की है।



मनाली में बर्फबारी से घंटों लग रहा लंबा जाम
 

adsatinder

explorer
Kullu › Weather is bad in Manali as snowfall is creating havoc & Chilled weather / Cold Wave is not alllowing Electricity to be restored in more than 500 villages.

पहले दुश्वारियां कम नहीं, फिर हिमपात शुरू
Updated Sat, 11 Jan 2020 09:57 PM IST

कुल्लू। दुश्वारियों से जूझ रहे कुल्लू घाटी के लोगों के लिए मौसम एक बार फिर से परेशानी बनता जा रहा है। रोहतांग दर्रा के साथ कुल्लू-मनाली की ऊंची पहाड़ियों में शनिवार को रुक-रुक कर बर्फबारी का दौर जारी रहा। कुल्लू-मनाली में कड़ाके की ठंड और शीतलहर चलने से लोगों को घर से बाहर निकले में दिक्कत हुई।

पिछले दिनों हुई भारी बर्फबारी के बाद जिले में जनजीवन अभी तक पटरी पर नहीं लौटा है। सप्ताह बाद भी घाटी के सैकड़ों गांव अंधेरे में हैं। जिले में करीब 150 बिजली ट्रांसफार्मर जाम हैं। लोग सर्द रातों को अंधेरे में काटने को मजबूर हैं। दो हाईवे समेत 70 से अधिक सड़कों पर बसों की आवाजाही बंद हैं। हालांकि एनएच अथॉरिटी ने मनाली के ग्रीन टैक्स बैरियर तक नेशनल हाईवे को बसों के लिए खोल दिया है। लेकिन मनाली तक बसें नहीं पहुंच रही हैं। इससे पर्यटकों और आम लोगों को लगभग दो किलोमीटर तक पैदल सफर करना पड़ रहा है। यही हाल जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का भी है। यहां लोग अपने कामकाज को निपटाने के लिए कई किमी तक बर्फ में चलने को मजबूर हैं। जिले के कई इलाके उपमंडल के साथ जिला मुख्यालय से कटे हुए हैं। पहाड़ों में भारी बर्फबारी से 50 से ज्यादा पानी की स्कीमों के जाम से होने से लोगों की दुश्वारियां कम नहीं हुई हैं। लोग बर्फ में नदी-नाले से पानी ढो रहे हैं। खासकर जिले की ऊझी घाटी, मणिकर्ण, सैंज, बंजार की तीन कोठी तथा बाह्य सराज के निरमंड, रघुुपुर और जलोड़ी के ग्रामीणों को जोड़ने वाली स्कीमें ठंड से जाम हो गई हैं। लेकिन खराब मौसम ने लोनिवि, एनएच अथॉरिटी, आईपीएच तथा बिजली बोर्ड की चिंताओं को बढ़ा दिया है।


पहले दुश्वारियां कम नहीं, फिर हिमपात शुरू
 

adsatinder

explorer
Kullu › Tourists are stuck on road due to Black Ice and accumulated snow.
No arrangements are done to remove snow / ice from roads to Manali.

मनाली पहुंचाने के लिए पर्यटकों से लूट खसोट
Updated Fri, 10 Jan 2020 10:12 PM IST


मनाली में लगें जाम के बीच पैदल ही जाते पर्यटक।

मनाली में लगें जाम के बीच पैदल ही जाते पर्यटक। - फोटो : Kullu


पतलीकूहल (कुल्लू)। पिछले साल मई-जून का समर पर्यटन सीजन पिट जाने के बाद पर्यटन कारोबारियों को विंटर सीजन से आस थी। उम्मीद के मुताबिक विंटर सीजन के दस्तक देते ही दिसंबर महीने में बर्फबारी शुरू हो गई। शूटिंग को पहुंचे बिग बी ने भी बर्फबारी की तस्वीरें सोशल मीडिया में सांझा कर मनाली की ओर सैलानियों को आकर्षित किया।

बर्फबारी के पहाड़ों से उतरकर मनाली की सरजमीं को छूते ही सारा जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। कहीं बिजली चली गई तो कहीं पानी की पाइपें ही जम गई। इतना ही नहीं पतलीकूहल से लेकर मनाली तक सड़क पर बर्फबारी होने से सैलानियों को लाने वाली वाल्वों बसे पतलीकूहल में ही खड़ी हो गई। इस बीच जिप्सी वालों नेे सैलानियों को जमकर लूटा। पर्यटकों से 16 किलोमीटर की दूरी के पांच-पांच हजार रुपये वसूले गए। बेशक पुलिस और प्रशासन ने सोशल मीडिया में एडवायजरी जारी कर सड़क बंद होने और सड़क के किनारों से पत्थर लुढ़कने को लेकर सचेत भी किया। लेकिन विंटर सीजन को कैश करने के लिए सड़कें रोड़ा बन गई। मनाली तक सड़क बहाल न होने से पर्यटकों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। मनाली घूमने आए सैलानी रोमेश, कमल, मीनू, नीता, सिम्मी, चमनभाई पटेल और रीनाबेन ने कहा कि बर्फ में उन्हें बस से उतार कर अपने स्तर पर मनाली पहुंचने को कहा गया। इस बीच भारी कीमत चुकाकर वे मनाली पहुंच सके। सड़क पर बर्फबारी होने के बावजूद तीन-तीन लाइनें लगने से ठंड में वे जाम में फंस गए। मनाली होटलियर एसासिएशन के अध्यक्ष अनूपराम ठाकुर ने कहा कि कुछ समय के लिए ही मनाली में सैलानियों की संख्या बढ़ती है। लेकिन हर बार कोई सबक लेने के बजाय समय रहते सड़क खोलने के लिए मशीनों की व्यवस्था नहीं की गई। ऐसे में सड़क बहाली का कार्य भगवान भरोसे छोड़कर व धूप से बर्फ पिघलकर सड़क खुलने का इंतजार किया जाता है।
---संजय ठाकुर


मनाली पहुंचाने के लिए पर्यटकों से लूट खसोट
 

adsatinder

explorer
Kullu › Weather will be bad from 12 to 19th Jan 2020 and avoid going to upper regions in hills of Kullu District.


जिले में 12 से 19 तक मौसम रहेगा खराब, सतर्क रहें

शिमला ब्यूरो Updated Sun, 12 Jan 2020 09:36 PM IST



मनाली के समीप बर्फ से ढकी घाटी का नजारा।


मनाली के समीप बर्फ से ढकी घाटी का नजारा। - फोटो : Kullu

कुल्लू। मौसम विभाग ने कुल्लू जिले में 12 से 19 जनवरी तक पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय रहने से भारी बारिश और हिमपात होने की चेतावनी जारी की है। इस दौरान जिले के पर्यटकों और स्थानीय लोगों को ऊंचाई और बर्फीले क्षेत्रों की ओर न जाने की हिदायत दी है।

प्रशासन ने भी आम लोगों के साथ घाटी के पर्यटन कारोबारियों से कहा कि स्थानीय निवासियों और पर्यटकों को सुझाव दें कि वे ऐसे मौसम में बर्फ वाले क्षेत्रों में न जाएं, यह जानलेवा हो सकता है। आपातकालीन स्थिति होने पर पुलिस प्रशासन ने 1077 पर सूचित करने को कहा है। पुलिस अधीक्षक कुल्लू गौरव सिंह ने कहा कि मौसम के इस मिजाज को देखते हुए लोगों से एहतियात बरतने को कहा है। आगामी एक सप्ताह तक जिले में भारी बारिश व हिमपात की चेतावनी मौसम केंद्र की ओर से दी गई है और विभागों के अधिकारियों को प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए सतर्क रहने को कहा है। मौसम के बदले तेवर को देखते हुए एचआरटीसी कुल्लू ने जिले में कई रूटों पर शाम को जाने वाली बसों को सुरक्षित जगहों तक भेजा है। हालांकि जिले में अभी दो हाईवों के साथ 60 से ज्यादा मार्गों पर बसों का आवागमन बंद है। एसडीएम तेज सिंह ने सैलानियों व आम लोगों से जलोड़ी दर्रा की तरफ पैदल सफर नहीं करने को कहा है। भारी बर्फबारी के कारण दर्रा को आरपार करना जोखिम भरा हो सकता है। आरएम कुल्लू डीके नारंग ने कहा कि निगम मौसम को भांपकर ही रूटों पर बसों का संचालन किया जा रहा है।





 
Last edited:
Top