BCMT member/user memorial honoring Yogesh Sarkar’s life

adsatinder

Plz Help Himabuj (Amit Tyagi) in Corona Fighting
*BCMT Meet on Sunday, 13 October 2019, 3 pm onwards*
at
BCMTouring Dhaba, opposite Sahayoga Mandir in Qutub Institutional Area.
as discussed on 28 September 2019 with Members.
This BCMT Delhi Meet is in Memory of our Admin Yogesh Sarkar Ji.


 

citymonk

Super User
Dear Yogesh,

This poem is dedicated to all those wonderful time and trips, we have spent together. It's needless to say that you'll always be missed between us.

तू फिर मिलने आएगा..

आज मेरे रस्ते अलग हुए हैं तुझसे,
पर यकीन है कल तू फिर मिलने आएगा
इन बड़े शहरों के शोरों से दूर , ए दोस्त
दूर उस पहाड़ी के पीछे ‌‌‍।

मुझको पता है तू फिर वही मिलेगा,
उसी झील के पास टहलता हुआ।
भीड़ से कहीं दूर अकेले में
सुकून ढूंढता हुआ।

बातें करेगा तू आती जाती लहरों से,
हवाओं से चुटकी लेगा।
रेत पर छोड़ अपने पैरों के निशान,
छोटे पत्थरों के थायौर(stone hedge) बनाएगा।

धूप से बोलेगा तू जा अब, आने दे मेरी शाम को।
इंतजार में मैं हूं उसके,रंगों में खो जाने को।

तेरे शाम से इस प्यार को देख, सूरज जलता हुआ ढल जाएगा।
जानता है तू, नाराज है वह तुझसे,
पर तेरे खुमार को देख ,कल फिर लौट आएगा।

जब थक जाएगा चलते हुए तो,
निकाल लेगा कैमरा अपना और शुरू करेगा फोटो लेना।
जिससे कोई भाप ना पाए तेरी थकावट को,
चालू है तू बहुत , मैं जानती हूं, तेरे बहाने है वो।

मुस्कुराती शाम जब अपने रंगों के साथ इतराएगी,
जानती हूं, तू फिर flirt करेगा उससे और भूल जाएगा अपने आसपास को।
थामना चाहेगा तू उस सामा को फिर,
और practically मुझको "Blue Hour" का concept समझाएगा।

जानकर फिर नहीं सुनूंगी मैं तेरी बात,
क्योंकि कल भी तो मुझे यही सिखाएगा।
समझेगा तू मेरी सब शैतानियां,
फिर एक हंसी में सब उड़ा जाएगा।

बैठा रहेगा तू घंटों तक तू,
और ताकता रहेगा उन झिलमिल सितारों को।
पूछेगा उनसे, कहां है तेरा साथी- चांद
और बातों को आगे यूं ही बढ़ाएगा।

वही पहाड़ी के पीछे जब एक तेज किरण तुझको दिखेगी,
लगा लेगा तू अपना tripod और shutter स्पीड को सेट करेगा।
फिर किसी पत्थर से टिक तू अपनी आंखें बंद कर ,
मन ही मन मुस्काएगा।

यूं ही फिर घूमती हुई जब गलती से मैं, तेरे कैमरे के आगे आ जाऊंगी।
खराब कर दिया तुमने शॉट मेरा, ये तू झल्लाएगा।
सॉरी सॉरी बोलूंगी मैं तुझसे,
तु मुझको माफ कर , हंस फिर काम पर लग जाएगा।

रात यूं ही गुजरती रहेगी, हवा सर्द हो जाएगी।
कैप और जैकेट पहनेगा तू और मुझको भी वो थमाएगा।
बातें नहीं होंगी हम दोनों में पर, सब कुछ तू कह जाएगा।
समझ गई मैं तुझको, मेरे चेहरे पर वह भाव आएगा।

वही पीठ पीछे हमारे, अंगड़ाई लेता सूरज आएगा।
तू फिर थोड़ा निराश होगा शायद,
पर बाकी लोगों से अलग,
तू उसकी opposite पहाड़ी पर नजर लगाएगा।

रात से time-laps चल रहा होगा तेरा,
दूसरे कैमरे से तू सुबह को जगाएगा।
सूरज फिर चाहेगा तो उसको प्यार करें,
पर ना.. तू अपना सामान ले , good-bye बोल , रोज की तरह फिर चला जाएगा।

आज मेरे रस्ते अलग हुए हैं तुझसे,
पर यकीन है तू फिर कल मिलने आएगा..

--Mansi
©mansi_mView attachment 773941
You have penned a very touching and spiritual tribute for Yogesh.
My condolences to you.
I was not able to meet you at Mandir prayer meet, sorry for that lapse. I think you people left immediately after Pundit ji recited Gayatri Mantra.

My relationship with Yogesh was also strange one. Some topics like Political comments were totally banned on forum after 2014 win of Right wing parties. He was very strict about this rule but Still left some space reserved on forum for members like me to vent their anger or take digs at Government policies. When I angered lot of Right wing members here and there was lot of hue and cry by them to Ban me. There were personal attacks on me by such hardliners but to my surprise and delight, Yogesh stood by my side and assured personally to keep on posting till Such topics are not fully banned on BCMT.

If possible and not disturbing, can you share his last Moments, his last words with us but when ever you feel comfortable. No member I met is ready to digest that AMS could have struck him or was reason to take him away from us.

Regards and remember Time is great Healer.
 
Last edited:

cat

Senior Billi
^^^I was remembering these last few days, that he had some good photos with Samsung A51, that he said it was supposed to have good dynamic range....because it is one of the phones I'm looking at getting now.
 
You are in our memories forever man, may your works inspire and guide us to be a better person and be of service to others just like you. May you find your peace and keep on looking after us as we go on with our different lives. This will never be the same without you, and you will always be in our hearts and minds heading into the future without a man like you to guide us the way to improve ourselves and keep on pushing us to do out best. May you live in your memories for all time.
 

Dimitrz

Reclaim your life
Though I have been a member of this community right from its start and knew Yogesh bhai right from Indiamike days
and have interacted with him on , one to one basis regarding tips and advice

One of my biggest regrets is that I never met Yogesh bhai personally

Still have his BCMT sticker on my bikes and car :)
 
Top