Frauds - Call or SMS or Online via Social Media etc

adsatinder

explorer
To le lena chaiya tha na Gold Biscuits, Satinder Ji:) Chai main dubo dubo kar khate biscuit:twisted:
BTW, This must be some prankster
Check this News:
Gang of five selling fake gold bricks busted
Last Updated: Tuesday, June 18, 2013 - 15:33

"Five persons, including the leader of the `tatlu` gang, have been nabbed. A brass brick, which appears exactly like it’s made of gold, four countrymade pistols, four mobile phones, one Alto car and eight live cartridges were recovered from the gang," said SSP RKS Rathore.

The gang purchased fake gold bricks at Rs 1,000 apiece from Jorehra in Bharatpur and would dupe people by offering to sell it at a bargain when compared to the price of a real gold brick.

And, in case a deal failed, the gang would not hesitate from looting the party, police added.

Police intercepted telephonic conversations between a gang member and a party based in Hyderabad following which a SWAT team led by inspector Rajendra Kumar Nagar nabbed them last night in the Mahaban police station area.

A reward of Rs 5,000 has, meanwhile, been announced for the SWAT team members with SSP Rathore saying that they are now being constituted into an Anti-Tatlu Task which would "deal with matters related to tatlu gangs".

PTI








Latest News:
Tatlu Gang of Mathura traps by selling Gold Brick at cheaper rates.
Thus they trap in-experienced people and charge good amount from their family.
NBT Tatlu Gang of Mathura Gold Brick Scam 67892.jpg


There are many gangs operating in different states.
 
Last edited:

adsatinder

explorer
Please inform all your colleagues/ family/ friends that
If you receive CALL from Income Tax Department...
Be Alert If you do receive such call (of course it will appear genuine as these are trained fraudsters !),
just please ask them to send a written notice.
Do not provide any more details like even address or bank detail.
Please be careful as due to demonetization, this has started.
~India Calling Alert
 

adsatinder

explorer
SMS on mobiles:

Dear Amit Sharma,
your income tax refund of Rs.15,480 has been approved and your bank a/c will be credited shortly. Do kindly verify your a/c no 5XXXXX6755. If the same is incorrect, quickly follow the link below to update your bank record on file. https://bit.ly/2OwpYK6

*New mode of bank fraud please educate one and all*

Please don't open the link and don't share your bank account details to any one


This us a new type of Phishing Scam.
 

adsatinder

explorer
  • Next
    1 / 2
    • श्रीमाधोपुर के नरेंद्र शर्मा के उदाहरण से इसे समझ सकते हैं
    Dainik Bhaskar
    Jan 10, 2019, 04:32 PM IST
    सीकर/श्रीमाधोपुर. मोबाइल में भीम एप से ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने वालों को कस्टमर केयर के नाम पर ठगी का शिकार बनाया जा रहा है। पीएनबी कस्टमर केयर पर शिकायत दर्ज कराने वाले डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों के साथ 8 कराेड़ की ठगी की जा चुकी है। एक ही मोबाइल नंबर 9667161273 का इस्तेमाल किया जा रहा है। श्रीमाधोपुर के नरेंद्र शर्मा के उदाहरण से इसे समझ सकते हैं।







    श्रीमाधोपुर निवासी नरेन्द्र पुत्र महेश कुमार शर्मा की मोबाइल शॉप है। उन्होंने भीम एप से अपने परिचित को पांच हजार रुपए ट्रांसफर किए। रुपए ट्रांसफर नहीं होने पर पीएनबी के कस्टमर केयर पर शिकायत दर्ज कराई। कस्टमर केयर ने सात दिनों में रुपए वापस आने की बात कहीं। दो दिन बाद उसके पास 9667161273 नंबर से फोन आया और कहा कि ट्रांजेक्शन के बारे में जो शिकायत दर्ज करवाई है वो राशि हम आपके खाते में भेज रहे है। एक लिंक आपके मोबाइल पर भेजा जा रहा है उसे एक मोबाइल नंबर पर भेज दें। पीड़ित ने वैसे ही किया। तभी दूसरा फोन आया कि मोबाइल पर रजिस्ट्रेशन कोड आएगा। कोड बताएं। जैसे ही उसने कोड बताया तो उसके खाते से 24 हजार तथा 62 हजार रुपए निकाले जाने का मैसेज मिला। उसने वापस कॉल किया तो उन नंबरों पर संपर्क नहीं हुआ। टेलीकॉम से जुड़ा होने के कारण पीड़ित ने खुद मोबाइल नंबर की जांच की तो पता चला कि नंबर गुड़गांव के डूडेला निवासी किसी डोली कुमार के नाम से रजिस्टर्ड है। नंबर अक्टूबर में एक्टिवेट हुआ तथा अब भी चालू है। कस्टमर केयर पर शिकायतकर्ता की जानकारी का डाटा लीक कर ठग दूसरे नंबरों से यूपीआई नंबर के जरिए ठगी कर रहे हैं। राजस्थान के अलावा दिल्ली, कर्नाटक के लोगों से भी ठगी की वारदात हुई।



    8 दिन चक्कर लगाने के बाद मामला दर्ज, जांच का पूछा तो हवालात में बंद करने की धमकी



    ठगी का शिकार नरेन्द्र श्रीमाधोपुर थाने में ठगी की रिपोर्ट दर्ज करवाने गया। 8 दिनों तक थाने के चक्कर लगाए। कभी चुनावों का तो कभी पुलिस के पास समय नहीं होने का हवाला दिया। उसने खुद नंबरों की जांच कर पुलिस को बता दिया। उसने थानाप्रभारी भगवान सहाय से जांच के बारे में पूछा तो आवेश में आकर उसे हवालात में बंद करने की धमकी देकर भगा दिया। इसके बाद उसने एएसपी डाॅ.तेजपाल सिंह को भी मिलकर शिकायत दी। कॉल सेंटर की जानकारी होने के बाद भी पुलिस ठगों को नहीं पकड़ पा रही है।



    खाता नंबर जानने की जरूरत नहीं



    यूपीआई की सबसे बड़ा खूबी है कि इसके जरिए पैसा भेजने के लिए बैंक खाता जानना जरूरी नहीं है। यानी अगर आपको किसी से पैसा चाहिए और आप उसे बैंक खाता नहीं बताना चाहते हैं तो यूपीआई का इस्तेमाल कीजिए। यूपीआई एप के जरिए आप बिना बैंक खाता जाने भी पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं। दरअसल ये एप बैंक खाते के अलावा यूपीआई एड्रेस के जरिए भी पैसा ट्रांसफर करता है।



    कस्टमर केयर में कॉल करने के बाद दो बार में 50 हजार रुपए निकाले



    भरतपुर निवासी अलीखान ने बताया कि उसने 6 हजार रुपए भीम एप से परिचित के खाते में डाले। खाते से बैलेंस तो कट गया,लेकिन परिचित के खाते में रुपए नहीं पहुंचे। तब उसने कस्टमर केयर में शिकायत दर्ज करा दी। दूसरे दिन ही 9667161273 नंबरों से फोन कर डिटेल मांगी। बाद में दो बार में 50 हजार रुपए निकाले जाने का मैसेज आया। मैसेज देखने के बाद उन्होंने तुरंत बैंक में फोन कर खाते व एटीएम को बंद करवाया।



    खाते से निकले 50 हजार रुपए



    सतपाल निवासी मयूरविहार ने बताया कि बेटी की फरवरी में शादी है। शादी के लिए सामान खरीद रहे थे। उन्होंने दुकानदार के खाते में 14 हजार रुपए ट्रांसफर किए। रुपए खाते से चले गए,लेकिन पहुंचे ही नही। इसके बाद उन्होंने कस्टमर केयर में फोन की रुपए ट्रांसफर नहीं होने की शिकायत दे दी। अगले दिन ही उनके पास 9667161273 नंबर से फोन आया और कहा कि वेरीफिकेशन के लिए डिटेल बताओं। उसके बाद उनके खाते से दो बार में 50 हजार रुपए निकाल लिए।



    बैंक कभी फोन करके डिटेल नहीं मांगते



    ठगी के ज्यादातर मामलों में आरोपी खुद को बैंक प्रबंधक या बैंक से जुड़ा हुआ बनाते हैं कि जबकि हकीकत यह है कि बैंक की ओर से भी कभी भी फोन करके खाते से संबंधित डिटेल नहीं पूछी जाती है। ग्राहकों को इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि यदि मोबाइल पर खाते से संंबंधित ओटीपी आता है तो उसे किसी से शेयर न करें।



    चुनावों के दौरान वह बार-बार फोन कर परेशान कर रहा था। मैं डयूटी में लगा हुआ था। परेशानी के कारण उसको बोला था कि क्यों परेशान कर रहा है। जल्दी पूरे मामले का खुलासा कर आरोपियों को पकड़ लेंगे। भगवान सहाय, श्रीमाधोपुर थानाधिकारी


    Fraud

9667161273 नंबर से फोन आए तो मत उठाइए , इस नंबर से कॉल कर 150 लोगों के खाते से निकाल चुके 8 करोड़
 

adsatinder

explorer
Fraudsters in India now calling all for money in emergency / need
on mobile by pretending to be known person...




Got similar calls many times....
 

adsatinder

explorer
नए तरीके का SMS फ्रॉड खुद बचे दूसरों को बचाएं | Mr.Growth
5,940 views


mr growth

Published on Jan 30, 2019


SUBSCRIBE 939K
नए तरीके का SMS फ्रॉड खुद बचे दूसरों को बचाएं | Mr.Growth


Ask to concerned Departments / Govt Departments about the SMS or call received.
 

adsatinder

explorer
Similar call for Paytm Transaction but fraud is done with Shopkeeper:




Caller asked for paytm login OTP.

A Reaction:

मेरे साथ भी ऐसा हुआ एक महीने पहले पर मे आपके विडिओ देखता हु ईसलिए मेने ऊसको OTP नहीं दिया only गालियां दि। उसने मेरे को कहा कि मे मिटींग मे हु मेरा बेटा आ रहा है। उसे एक किलो काजू ओर बादाम वगेरा दे देना ।
मेने कहा ठीक है।उसने पुछा कितना हुआ मेने कहा 1845 हुआ।
तो वो बोला कि एक कोड आयेगा आपके फोन पर वो मेरे को बता दो ओर पेसे आपके अकाउंट में ।
तो मेरे पास login otp आई ।
मेने उसे OTP नही बस गालियां गालियां गालियां......दि
लेकिन एक बात-ऊसके पास मेरी पुरी जानकारियां थी।
sope का नाम ओर बहुत कुछ।
 

adsatinder

explorer
Man steals data of 14 lakh e-shoppers, sells it

Abhishek Awasthi | TNN
Apr 1, 2019, 07:10 IST


Greater Noida: A 23-year-old man, Nandan Rao Patel, was arrested for allegedly stealing
data of 14 lakh customers of several e-commerce sites in collusion with employees of the retail companies. Police said the accused allegedly sold the data of the customers to various sham call centres, who later used them to cheat people.
STF officers said they were flooded with complaints not only from online shoppers but also a bank, which reported
data theft. The bank told police its customers were being cheated by fake call centres on the pretext of lucky draw contests or GST/ income tax registration.
Get Breaking News alerts on TOI app
Offline mode, real-time notifications, and news briefs
OPEN APP
The accused, an original resident of Bihar, had been living in a rented apartment in Amrapali Sapphire society in Sector 45. He is a final-year MBA student in Amity University and a cyber expert, police said.
Patel was arrested around 8pm on Saturday from his office in Sector 142. The cops recovered two mobile phones and a laptop containing data of around 14 lakh customers of various online shopping companies.
“The accused revealed that he is a director of a digital marketing company. He said that he bought data from two employees of an e-commerce site at Rs 2-3 per customer and sold it to fake call centres in Delhi NCR, Bihar, Rajasthan, Maharashtra and Punjab at Rs 5-6 per customer,”
said Vishal Vikram Singh, additional SP (STF). Singh said the callers used fake customer details to open bank accounts and keep the stolen money with the help of bank employees. An FIR has been registered against Patel under IPC sections 420 (cheating), 406 (punishment for Criminal breach of trust), 467 (forgery of valuable security), 468 (forgery for purpose of cheating), 471 (using as genuine a forged document).




 
  • Like
Reactions: cat

adsatinder

explorer
Main Accused Of Online Fraud In Kullu Arrested From West Bengal
कुल्लू में ऑनलाइन ठगी का मुख्य सरगना पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कुल्लू Updated Sat, 11 Jan 2020 07:04 PM IST

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर


ओटीपी नंबर पूछकर लोगों से ऑनलाइन ठगी करने वाले मुख्य सरगना को कुल्लू पुलिस ने पश्चिम बंगाल के आसनसोल जिले से गिरफ्तार किया है। आरोपी ने भारत में जगह-जगह पर ऑनलाइन धोखाधड़ी की है। कुल्लू जिले में आरोपी ने 10 लाख की ठगी को अंजाम दिया था। लगातार दूसरे दिन पुलिस की गिरफ्तारी के बाद हड़कंप मच गया है।

मामले में पहले ही झारखंड और पश्चिम बंगाल के छह आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। कुल्लू पुलिस जिले में हुई ऑनलाइन ठगी के मामलों की जांच कर रही है। जांच के दौरान पुलिस ने बारी-बारी से ठगी की घटना को अंजाम देने वाले शातिरों को पकड़ा। दो दिन पहले ही पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ा था। आरोपियों से पूछताछ करने पर पाया कि अभिषेक कुमार सिंह पुत्र प्रदीप कुमार सिंह निवासी वर्धमान, पश्चिम बंगाल गैंग का मुख्य सरगना है।

पुलिस की स्पेशल टीम ने दबिश देकर मुख्य सरगना को पश्चिमी बंगाल के आसनसोल जिले से गिरफ्तार किया। आरोपी देश के कई हिस्सों में लोगों से धोखाधड़ी कर चुका है। आरोपी को नवंबर में ही आसनसोल दुर्गापुर पुलिस कमिश्नरेट के साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन की टीम की ओर से साइबर क्राइम, धारा 419, 420, 467, 468, 120 बी आईपीसी के तहत गिरफ्तार किया था, जो जमानत पर बाहर था।

निरमंड थाना में पंजीकृत मुकदमे में आरोपी ने शिकायतकर्ता के दस लाख रुपये पीएनबी अकाउंट से अलग-अलग फेक पेटीएम अकाउंट्स में ट्रांसफर किए। बाद में इन पेटीएम अकाउंट्स से कुछ पैसे की नकदी निकाली। कुछ रुपयों के गिफ्ट वाउचर खरीदकर अन्य लोगों को बेच दिए। आरोपी ने तीन लाख रुपये से ज्यादा के गिफ्ट वाउचर्स को 29 मोबाइल फोन खरीदने के लिए भी इस्तेमाल किया। मामले की पुष्टि पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने की।

उन्होंने कहा कि ऑनलाइन ठगी के मुख्य सरगना को पुलिस की टीम ने पश्चिम बंगाल के आसनसोल जिले से पकड़ा है। आरोपी से कड़ी पूछताछ चल रही है। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन धोखाधड़ी के चार केसों में अब तक कुल सात आरोपी झारखंड व पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों से गिरफ्तार किए जा चुके हैं। कुल्लू पुलिस की ओर से ऑनलाइन ठगी करने वालों हो रही कार्रवाई से लोग खुश है। साथ ही इसके लिए पुलिस की कार्यप्रणाली की सराहना की है।


कुल्लू में ऑनलाइन ठगी का मुख्य सरगना पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार
 
Top