Kedarnath, Uttarakhand, India

adsatinder

explorer
Helicopter Booking at Guptkashi is much easier and less tiring.
Though there are many places to have Helicopter.




1.
#kedarnathyatra2019 #badrinathyatra2019 #Ruchikeshbabyvlog

केदारनाथ हेलीकॉप्टर से कैसे जाये इन २०१९ .....
52,421 views



2.7K
190


LucknowiGirl Ruchi

Published on May 22, 2019
JOIN

SUBSCRIBE 287K
#kedarnathyatra2019 #badrinathyatra2019 #Ruchikeshbabyvlog #lucknowigirlruchi


2.

Initial details of Helicopter booking and Stay

गुप्तकाशी के होटल में ये क्या हो गया... केदारनाथ यात्रा 2019..
76,307 views


2.1K
177


LucknowiGirl Ruchi

Published on May 21, 2019


3.
पूर्ण केदारनाथ यात्रा 2019 और कहानी केदारनाथ की..
77,139 views



3.3K
165


LucknowiGirl Ruchi

Published on May 24, 2019
 
Last edited:

adsatinder

explorer
Those Staying at Guptkashi can get helicopter easily and nearby Resort :
Name is Buransh Heli-Resort just adjacent to Helipad.

766636

Best Hotels in Kedarnath | Buransh Hotels near Kedarnath

Google Map Location:
Buransh Heli Resort


Residing nearby Resort is must as you have to get Boarding pass around 5 am.
People start to form line around 4 am.
You have to be present at the Helipad for boarding.
Boarding a Helicopter is done within a minute only.
Aged persons, Women and Children of a family can do this exercise with much ease if they are doing this from abovesaid resort.
Helicopter Ride is around 8-9 minutes.
You get 1 hour for Darshan if you are going via Helicopter.
You can ask for special Darshan Pass to get Darshan at a price which is going to Temple only.

Line for normal Darshan takes 3-4 hours depending on the Rush.


They take you First Come First Serve basis.
If people are left on a day in evening, they give preference in morning to these left over line of people.


Arrow is operating from Guptkashi Helipad :
Arrow Aircraft Kedarnath Helicopter Service - Kedarnath Helicopter Services


Check other Helipad and their reviews, if those have same system or not.
 
Last edited:

adsatinder

explorer
Pawan Hans chopper services to Kedarnath up and running




Pawan Hans chopper services to Kedarnath up and running
Pawan Hans Limited, a Government of India enterprise, has resumed providing daily helicopter flight services from Phata in Uttarakhand to the holy site of Kedarnath from earlier this month.

Published: 23rd May 2019 09:54 AM | Last Updated: 23rd May 2019 09:54 AM | A+A A-

By Express News Service

Pawan Hans Limited, a Government of India enterprise, has resumed providing daily helicopter flight services from Phata in Uttarakhand to the holy site of Kedarnath from earlier this month.
The Phata helipad is located 2 kilometres beyond Phata and is linked by a motorable road on the way to Kedarnath. From this pilgrimage season, Pawan Hans is also introducing a new helicopter charter service from Dehradun heliport and Jolly ground Airport to the shrine via Phata/Gauchar Kedarnath, Badrinath and Char Dham.
The return fare for the Phata Kedarnath helicopter service — from Phata to Kedarnath and back to Phata — is Rs 4,798 per person, while the one-way fare from each side is Rs 2,399. Last year, one-way tickets were priced much higher at Rs 3,350. However, passengers heavier than 90 kilograms would be charged extra and those weighing more than 120 kg will have to pay for a double ticket. For infants younger than 2 years, only 10 per cent of the ticket cost will be charged. Each passenger is allowed to carry only 2 kg of luggage on the service. According to the company, preference will be given to the handicapped and those above 80 years of age.
Pawan Hans currently offers 12 helicopter flights from Phata to Kedarnath on a daily basis. Nine of these 12 flights return to Phata on the same day, while three return to Phata the next day, according to the Pawan Hans website.



The first flight to Kedarnath departs from Phata at 6:50 am and reaches Kedarnath at 7:00 am. The return flight to Phata departs from Kedarnath at 12:40 pm and reaches Phata at 12:50 pm the same day.
The minimum waiting period for passengers would be 2-3 hours. But, this can be extended depending on the situation on the ground like weather conditions, refuelling time for the helicopter or non-availability of passengers at either end.
The company said that passengers wishing to fly back on the same day are requested to either take a priority slip for the Kedarnath darshan or make it early as the time set aside for darshan by the helicopter service is just one and a half hours. Beside Pawan Hans, a number of private operators like Aero Aircraft, UT Air, Aryan Aviation and Himalayan also offer similar services from various locations in the hilly state.


Pawan Hans chopper services to Kedarnath up and running
 

adsatinder

explorer
Here Is All You Need To Know About Kedarnath Helicopter Yatra
Kedarnath Helicopter Service: Return fare for Pawan Hans' Phata-Kedarnath helicopter yatra is Rs. 4,798, first flight from Phata takes off at 6:50 am.

Services | NDTV Profit Team | Updated: May 22, 2019 17:50 IST

Here Is All You Need To Know About Kedarnath Helicopter Yatra


Kedarnath Helicopter Booking: Pawan Hans offers 12 flights from Phata to Kedarnath on a daily basis.



Government of India owned Pawan Hans Limited, provides daily helicopter flight service to Kedarnath from Phata in Uttarakhand. Pawan Hans holds the contract for operating helicopter connectivity services to Kedarnath from Phata in Uttarakhand, according to Pawan Hans's website - booking.pawanhans.co.in. Pawan Hans opened bookings for the service earlier this month. The return fare for the Phata to Kedarnath helicopter service and back to Phata - is Rs. 4,798 per person, according to the Pawan Hans bookings portal. Five passengers are accommodated in one helicopter on way to Kedarnath and back and the flight service by Pawan Hans is operated in months of May-June and September-October, Pawan Hans said on its website.

Here are details of Kedarnath helicopter booking service offered by Pawan Hans Limited:
Pawan Hans offers 12 helicopter flights from Phata to Kedarnath on a daily basis. Nine of these 12 flights return back to Phata on the same day, while three return back to Phata the next day, according to the Pawan Hans website.
The first flight to Kedarnath departs from Phata at 6:50 am and reaches Kedarnath at 7:00 am. The return flight to Phata departs from Kedarnath at 12:40 pm and reaches Phata at 12:50 pm the same day.
The return flights from Kedarnath to Phata are with a lag of nearly six hours for convenience of passengers so that they can visit the shrine and take the helicopter back to Phata, according to Pawan Hans.
The next day return flight from Phata to Kedarnath departs from Phata at 11:40 am and returns at 7:00 am the next day, according to Pawan Hans.


The return fare for the Phata-Kedarnath helicopter service is Rs. 4,798 per person. The fare break-up is: Rs. 2,285 plus GST of Rs. 114 (amounting to a total of Rs. 2,399) for a one-way journey.

Tickets for the Pawan Hans Kedarnath Helicopter Yatra can be booked online from the Pawan Hans bookings portal, booking.pawanhans.co.in.




Here Is All You Need To Know About Kedarnath Helicopter Yatra
 

adsatinder

explorer
हेलीपैड पर लोकल इंट्रानेट के जरिये नजर

संवाद सहयोगी, रुद्रपयाग: जिलाधिकारी ने मंगलवार को केदारनाथ में सेवाएं दे रही हेली कंपनियों के प्रबंध

संवाद सहयोगी, रुद्रपयाग:
जिलाधिकारी ने मंगलवार को केदारनाथ में सेवाएं दे रही हेली कंपनियों के प्रबंधकों की बैठक ली। डीएम ने कहा कि एनआइसी के विकसित वेब पोर्टल के माध्यम से यात्री हैरिटेज व कैरस्टल हेली सर्विस के लिए अपने टिकट जीएमवीएन की साइट से बुक कर सकते हैं। सभी हेलीपैड को लोकल इंट्रानेट के माध्यम से सीसीटीवी कैमरे से जोड़ा जाएगा।

गुप्तकाशी में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि हैरिटेज व कैरस्टल कंपनियों के टिकट की 100 प्रतिशत बुकिग जीएमवीएन की साइट से की जा रही है, जिसमें से 70 प्रतिशत ऑनलाइन जीएमवीएन की साइट से व 30 प्रतिशत टिकटों की बुकिग जीमीवीएन गुप्तकाशी व फाटा से किए जा रहे हैं। अब देश-विदेश में बैठे यात्री कहीं से भी अपने टिकट जीएमीवीएन की साइट से घर बैठे बुक कर सकते हैं। हैरिटेज व कैरस्टल कंपनी के लिए डीएम ने दोनों हेलीपैड में नोडल अधिकारी नियुक्त किए हैं। वर्तमान में जीएमवीएन के बुक किए जा रहे यात्रियों के टिकटों में क्यूआर कोड रहता है, जिसे हेली कंपनियों द्वारा कोड स्कैन होने के पश्चात ही टिकट जारी किए जाते हैं। बैठक में डीएम ने बताया कि समस्त हेलीपैड में लोकल इंट्रानेट के माध्यम से सीसीटीवी कैमरे से जोड़ा जाएगा, जिसकी प्रशासन नियमित रूप से मॉनिटरिग करेगा। सीसीटीवी कैमरे से हेली कंपनियों की गतिविधियों पर नजर रहेगी। हेली सर्विस के लिए जिला साहसिक खेल अधिकारी सुशील नौटियाल को नोडल हेली बनाया गया है। नोडल हेली को रोटेशन के आधार पर हेली सर्विस की सेवाएं लेने, हेली संचालकों का एक ग्रुप बनाकर संचालित करने, पहले दिन की ऑनलाइन बुकिग का डाटा लेने आदि के निर्देश दिए। बैठक में नोडल हेली/साहसिक अधिकारी पर्यटन सुशील नौटियाल, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक एलएस दानू, एबीडीओ अगस्त्यमुनि चक्रधर सेमवाल, एई लोनिवि अजय थपलियाल, तहसीलदार ऊखीमठ श्रेष्ठ गुनसोला, सब नोडल हैली सुरेंद्र पंवार सहित हेली कंपनियों के मैनेजर उपस्थित थे।



हेलीपैड पर लोकल इंट्रानेट के जरिये नजर
 

adsatinder

explorer
Those who are going on bike and on Foot / doing Trek can check this video for some more idea of the New Route :
Distance is 21 Km at least from Gauri Kund to Main Temple Premises . Boards give wrong idea.
Story of 16 June 2013 at Chora Bari Lake !

Kedarnath Shiva's Third Eye ꟾ 2013 - 2018 ꟾEnglish Documentary
557,628 views


5.6K
447


Jimmy Productions India

Published on Jun 30, 2018
 

adsatinder

explorer
Dm Mangesh Ghildiyal Poses Pilgrim During Raid On Kedarnath Route Dismissed SP

भेष बदलकर केदारनाथ मार्ग का जायजा लेने पहुंचे डीएम, व्यवस्थाओं की हकीकत देख उड़ गए होश, देखिए...
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रुद्रप्रयाग, Updated Tue, 11 Jun 2019 10:13 AM IST
केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल(बीच में कुर्ते पायजामे में)

1 of 6
केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल(बीच में कुर्ते पायजामे में) - फोटो : अमर उजाला

कुर्ता-पजामा पहने, पीठ पर बैग टांगते हुए आम यात्री बनकर जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने देर रात से लेकर अगले दिन पूर्वाह्न तक केदारनाथ यात्रा के मुख्य पड़ाव सोनप्रयाग से गौरीकुंड में यात्रा व्यवस्थाओं का स्थलीय निरीक्षण किया। इस दौरान गौरीकुंड में पुलिस व्यवस्था में भारी खामियां पाई गई। चौकी प्रभारी निरीक्षण के दौरान चौकी पर नहीं मिला। डीएम ने पुलिस अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से गौरीकुंड चौकी प्रभारी को हटाते हुए उसके विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए।




केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm

2 of 6
केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm- फोटो : अमर उजाला

डीएम नौ जून की रात को प्राइवेट वाहन से सोनप्रयाग पहुंचे। यहां से वे शटल सेवा (लोकल वाहन) से गौरीकुंड पहुंचे। जहां देर रात एक बजे घोड़ा पड़ाव पर गए। वहां सुरक्षा जवानों के अभाव में व्याप्त अव्यवस्था देखने को मिली। पाया गया कि घोड़े-खच्चर संचालकों द्वारा रास्ते पर ही खड़े किए गए।



केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm

3 of 6
केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm- फोटो : अमर उजाला

घोड़ा पड़ाव पर पुलिस/होमगार्ड का भी कोई जवान नहीं मिला। यहां सुबह 5 से 9 बजे तक चार जवान पहुंचे, जिन्हें यह पता नहीं था कि उन्हें क्या करना है। पुलिस और प्रशासन के बीच यात्रा शुरू होने से पूर्व जो भी सहमतियां बनी थी, उसके अनुकूल घोड़ा पड़ाव पर एक भी सुविधा नहीं पाई गई।




केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm

4 of 6
केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm- फोटो : अमर उजाला

स्थिति यह रही कि यात्रा में 24 घंटे गुलजार रहने वाले गौरीकुंड में पुलिस द्वारा सिर्फ 4 घंटे ही ड्यूटी दी जा रही है। डीएम ने पूर्वाह्न 11 बजे गौरीकुंड बाजार का भी निरीक्षण किया, तो घोड़ा पड़ाव, तप्तकुंड और शटल सेवा पर एक-एक होमगार्ड तैनात मिले। इसके अलावा गौरीकुंड में पुलिस के जवान कहीं नहीं मिले।




केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm

5 of 6
केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm- फोटो : अमर उजाला

स्थानीय वाहन चालकों व लोगों ने भी पुलिस व्यवस्था पर नाराजगी जताई। निरीक्षण के दौरान सोनप्रयाग-गौरीकुंड के बीच लंबा जाम लगा हुआ था। शटल सेवा के वाहन भी समय पर नहीं पहुंच रहे हैं।




केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm

6 of 6
केदारनाथ मार्ग पर जाते जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, Dm mangesh ghildiyal, rudraprayag dm- फोटो : अमर उजाला

जिलाधिकारी के निरीक्षण के दौरान रात एक से पूर्वाह्न 11 बजे तक गौरीकुंड, बाजार, घोड़ा पड़ाव और शटल सेवा में चौकी प्रभारी नहीं मिला। जिलाधिकारी ने सेक्टर मजिस्ट्रेट को प्रतिदिन की रिपोर्ट भेजने को कहा।





भेष बदलकर केदारनाथ मार्ग का जायजा लेने पहुंचे डीएम, व्यवस्थाओं की हकीकत देख उड़ गए होश, देखिए...
 
Top