Kedarnath, Uttarakhand, India

adsatinder

explorer
DGCA Team Reviews Helipad In Kedarnath Dham, Heli Service Will Start Soon

डीजीसीए की टीम ने केदारनाथ धाम में लिया हेलीपैड का जायजा, जल्द शुरू होगी हेली सेवा


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रुद्रप्रयाग Updated Tue, 06 Oct 2020 11:26 PM IST


1602186277425.png


एमआई 17 हेलीकॉप्टर - फोटो : अमर उजाला


केदारनाथ में हेलीकॉप्टर सेवा के संचालन को लेकर डीजीसीए की चार सदस्यीय टीम ने एमआई-26 हेलीपैड का निरीक्षण किया। उम्मीद है कि आगामी नौ अक्तूबर से केदारनाथ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर शुरू हो जाएगी।

हेलीकॉप्टर सेवा के सहायक नोडल अधिकारी एसएस पंवार ने बताया कि चार सदस्यीय टीम ने केदारनाथ में हेलीकॉप्टर सेवा से जुड़ी गतिविधियों के बारे में जानकारी ली है। बुधवार को टीम केदारघाटी के हेलीपैड निरीक्षण करेगी।
इस दौरान हेलीपैड पर जरूरी सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही यात्रियों के बैठने के लिए व्यवस्था का जायजा लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि अगले दो दिनों में कुछ हेली कंपनियों के हेलीकॉप्टर घाटी में पहुंच जाएंगे।
एमआई-17 हेलीकॉप्टर ने की लैंडिंग
केदारनाथ में मंगलवार को सेना के एमआई-17 हेलीकॉप्टर ने लैंडिंग की। इस दौरान हेलीकॉप्टर स्टॉफ दो वर्ष पूर्व केदारनाथ में क्रैश हुए प्राइवेट एमआई-17 हेलीकॉप्टर के जरूरी उपकरण निकालकर अपने साथ ले गया। धाम में मौजूद वुड स्टोन कंस्ट्रक्शन कंपनी के टीम प्रभारी ने बताया क्रश हेलीकॉप्टर के जरूरी उपकरण लेकर सेना का एमआई-17 हेलीकॉप्टर दिल्ली के लिए रवाना हो गया था।


डीजीसीए की टीम ने केदारनाथ धाम में लिया हेलीपैड का जायजा, जल्द शुरू होगी हेली सेवा
 

adsatinder

explorer
केदारनाथ धाम यात्रा के लिए कल से शुरू हेली सेवाएं, ऑनलाइन कराना होगा रजिस्ट्रेशन


केदारनाथ की हेली सेवाओं के लिए अब तक 850 लोग बुकिंग करा चुके हैं.
टिकटों की कालाबाजारी ना हो इसके लिए बुकिंग के लिए किसी भी निजी कंपनी को जिम्मेदारी नहीं दी गई है.

केदारनाथ धाम यात्रा के लिए कल से शुरू हेली सेवाएं, ऑनलाइन कराना होगा रजिस्ट्रेशन


हवाई सेवाओं के लिए यात्रियों को पहले से कराना होगा रजिस्ट्रेशन

Written By:



जी मीडिया ब्‍यूरो


Updated:
Oct 8, 2020, 04:11 PM IST

देहरादून: केदारनाथ धाम यात्रा के लिए कल से हेली सेवाएं शुरू होने जा रही हैं.डीजीसीए पहले निरीक्षण करेंगे उसके बाद आज शाम तक सेवाओं को अनुमति मिल जाएगी. केदारनाथ धाम में हेली सेवाएं दे रही 9 कंपनियां में से 8 कम्पनियों ने मंजूरी दे दी है.
बता दें कि केदारनाथ धाम आने वाले यात्रियों को पहले से रजिस्ट्रेशन कराना होगा. जिसके लिए वे लोग GMVN के वेब पोर्टल ( https://gmvnonline.com/) पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. बता दें कि केदारनाथ की हेली सेवाओं के लिए अब तक 850 लोग बुकिंग करा चुके हैं. टिकटों की कालाबाजारी ना हो इसके लिए बुकिंग के लिए किसी भी निजी कंपनी को जिम्मेदारी नहीं दी गई है.


गौरतलब है कि अब केदारनाथ दर्शन के लिये कोविड टेस्ट की अनिवार्यता को समाप्त किया गया है. धाम की यात्रा में तैनात सभी कर्मचारियों की 15 दिन में कोरोना टेस्टिंग की जाएगी. इसके अलावा केदारनाथ धाम के मुख्य पुजारी की भी हर दिन थर्मल स्कैनिंग, ब्लड प्रेशर चेक और ऑक्सीजन की जांच की जाएगी. ड्यूटी पर तैनात सभी अधिकारी और कर्मचारियों खुद मास्क लगाने के साथ-साथ यात्रियों को भी मास्क पहनने के लिये जागरुक करेंगे.

कोविड को लेकर पर्याप्त मात्रा में सुविधाएं उपलब्ध
प्रशासन ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को केदारनाथ यात्रा ड्यूटी में लगा दिया है. अतिरिक्त पुलिस फोर्स भी केदारनाथ में तैनात की गई है. पैदल यात्रा मार्ग पर यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग भी की जाएगी. साथ ही केदारनाथ के मुख्य पुजारी की सायंकाली आरती के बाद ब्लड प्रशर जांच, ऑक्सीजन, थर्मल स्कैनिंग आदि की जाएगी.


केदारनाथ धाम यात्रा के लिए कल से शुरू हेली सेवाएं, ऑनलाइन कराना होगा रजिस्ट्रेशन
 

adsatinder

explorer
केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी, हेली सेवा फिर से शुरू
Dil Prakash | नवभारतटाइम्स.कॉम
Updated: 08 Oct 2020, 06:42:00 PM

केदारनाथ धाम जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए शुक्रवार 9 अक्टूबर से हेली सेवा शुरू हो रही है। कोविड 19 महामारी के चलते लंबे समय से ठप पड़ी हेली सेवा अब केदारनाथ धाम के लिए तीन जगह गुप्तकाशी, सिरसी और फाटा हेलीपैड से शुरू होगी।

कोविड 19 महामारी के चलते यह सेवा लंबे समय से ठप पड़ी थी।

कोविड 19 महामारी के चलते यह सेवा लंबे समय से ठप पड़ी थी।

देहरादून
उत्तराखण्ड आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए केदारनाथ धाम पहुंचना अब और भी आरामदायक हो गया है। केदारनाथ धाम जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए शुक्रवार 9 अक्टूबर से हेली सेवा शुरू हो रही है। कोविड 19 महामारी के चलते लंबे समय से ठप पड़ी हेली सेवा अब केदारनाथ धाम के लिए तीन जगह गुप्तकाशी, सिरसी और फाटा हेलीपैड से शुरू होगी। इससे पूर्व डीजीसीए की टीम ने तीनों हेलीपैड का निरीक्षण किया और यात्रियों की सुरक्षा के इंतजाम व सुविधाओं के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
उत्तराखण्ड सिविल एविएशन अथॉरिटी (यूकाडा) ने हेली टिकटों की ऑनलाईन बुकिंग शुरू कर दी है। सिरसी, फाटा और गुप्तकाशी से सात एविएशन कंपनियां हेली सेवा का संचालन कर रही हैं। इनमें गुप्तकाशी से केदारनाथ के लिए एरो एयरक्राफ्ट, फाटा से केदारनाथ के लिए पवन हंस, थंबी एविएशन, पिनैकल एयर, चिपसन एविएशन तथा सिरसी से केदारनाथ के लिए केट्रल एविएशन, हिमालयन हेली और एरो एयरक्राफ्ट सेल्स द्वारा अपनी सेवाएं दी जा रही हैं। इसमें प्रति यात्री किराया गुप्तकाशी से 7750 रुपये, फाटा से 4720 रुपये तथा सिरसी से 4680 रुपये है।

बढ़ रही है पर्यटकों की संख्या
राज्य के पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने कहा कि अनलॉक-5 के बाद चारधाम यात्रा के प्रति तीर्थ यात्रियों का उत्साह लगातार बढ़ रहा है। अनलॉक-5 में पर्यटकों को कोविड रिपोर्ट और क्वारंटीन से मिली छूट से राज्य में पर्यटकों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। प्रदेश में पर्यटन और तीर्थाटन को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा लगातार हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं और पर्यटकों को सोशल डिस्टेसिंग का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी गई है।


केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी, हेली सेवा फिर से शुरू
 

adsatinder

explorer
Chardham Yatra 2020: Heli Service For Kedarnath Starts From Today
Chardham Yatra 2020 : केदारनाथ के लिए आज से हेली सेवा शुरू, अब तक 12 सौ से अधिक यात्रियों ने की बुकिंग

न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Fri, 09 Oct 2020 05:06 PM IST

कोविड महामारी के कारण केदारनाथ धाम के लिए पिछले छह माह से बंद पड़ी हेली सेवा शुक्रवार से शुरू हो गई है। आज सुबह छह बजे से केदारनाथ के लिए आठ हेली कंपनियों ने अपनी हेलीकॉप्टर सेवा शुरू कर दी है। डीजीसीए ने हेलीपैडों पर सुरक्षा मानकों का निरीक्षण करने के बाद हेली सेवा संचालन की अनुमति दे दी है।

केदारनाथ के लिए गुप्त काशी, सिरसी, फाटा से हेली सेवा का संचालन किया जाएगा। नौ एविएशन कंपनी के माध्यम से हेली सेवा शुरू की जाएगी।
डीजीसीए ने छह अक्तूबर से हेलीपैडों का निरीक्षण का सुरक्षा मानकों व यात्री सुविधाओं का जायजा लिया था। हेलीपैडों पर हेली सेवा संचालन के लिए सभी इंतजाम पूरे होने के बाद डीजीसीए ने अनुमति दी थी।
अब तक 12 सौ से अधिक यात्रियों ने टिकटों की बुकिंग की
गुप्त काशी हेलीपैड से प्रति यात्री 7750 रुपये, फाटा से 4720 रुपये और सिरसी से 4680 रुपये (किराया आने व जाने) है। उत्तराखंड सिविल एविएशन अथॉरिटी (यूकाडा) ने यात्रियों की सुविधा के लिए पहले ही ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग शुरू कर दी है। अब तक 12 सौ से अधिक यात्रियों ने टिकटों की बुकिंग की है।

सचिव नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर ने बताया कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए यूकाडा के माध्यम से हेली सेवा संचालन के लिए पहले ही एसओपी जारी कर दी गई है। केंद्र व प्रदेश सरकार की ओर से जारी दिशा निर्देशों का पालन कर हेली कंपनियों को यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

Chardham Yatra 2020 : केदारनाथ के लिए आज से हेली सेवा शुरू, अब तक 12 सौ से अधिक यात्रियों ने की बुकिंग
 

adsatinder

explorer
Chardham Yatra 2020 News : Now Devotee Can See Baba Kedar From Sabha Mandap
Chardham Yatra 2020: केदारनाथ धाम में भक्त अब सभा मंडप से कर पाएंगे बाबा के दर्शन

न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, रुद्रप्रयाग Updated Wed, 07 Oct 2020 01:28 PM IST


1602269525024.png


- फोटो : amar ujala


केदारनाथ धाम में अब श्रद्धालु मंदिर के सभा मंडप से बाबा केदार के दर्शन कर सकेंगे। श्रद्धालुओं को मंदिर के उत्तर द्वार से प्रवेश कराते हुए दक्षिण द्वार से बाहर भेजा जा रहा है। देवस्थानम बोर्ड से अनुमति मिलने के बाद प्रशासन ने यह व्यवस्था शुरू की है। साथ ही यात्रियों से मंदिर परिसर में सामाजिक दूरी का पालन करने व मास्क पहनने की अपील की जा रही है।

यात्रा व्यवस्था और पुनर्निर्माण कार्यों के स्थलीय निरीक्षण के लिए बुधवार को डीएम वंदना सिंह केदारनाथ पहुंची। इस दौरान उन्होंने तीर्थ पुरोहितों से भी काफी देर तक वार्ता की। पूर्वाह्न 11 बजे बोर्ड द्वारा केदारनाथ में श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के सभामंडप से दर्शन करने की अनुमति दी गई। इसके बाद जिलाधिकारी की मौजूदगी में पुलिस द्वारा उचित व्यवस्था के साथ सभामंडप से दर्शन की व्यवस्था शुरू कर दी गई।
चौकी प्रभारी मृदुल रावत की नेतृत्व में पुलिस द्वारा मंदिर परिसर से एक-एक श्रद्धालु को परिसर स्थित नंदी भगवान की मूर्ति के समीप उत्तर द्वार से सभामंडप में भेजा जा रहा है। जहां पर श्रद्धालु बाबा के स्यंभूलिंग के दर्शन कर दक्षिण द्वार से बाहर आ रहे हैं। साथ ही मंदिर परिसर में यात्रियों की भीड़ जमा न हो, इसके लिए सोशल डेस्टिसिंग के तहत एक-एक मीटर की दूरी पर गोले बनाए गए है।
पुलिस के नौ जवान और भेजे गए धाम
यात्रा बढ़ने के साथ ही पुलिस ने केदारनाथ में सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता करने के लिए दो महिला कर्मियों समेत 9 जवान धाम भेजे गए हैं। चौकी प्रभारी मृदुल रावत के नेतृत्व में 13 सदस्यीय पुलिस दल कपाटोद्घाटन के दिन केदारनाथ में तैनात किया गया था।

इसके बाद चार सदस्यीए एक और टीम धाम भेजी गई थी। पुलिस अधीक्षक नवनीत सिंह भुल्लर ने बताया कि धाम में अब 22 सदस्यीय टीम तैनात की गई है, जिसमें क्यूआरटी भी शामिल है। बताया कि लिनचोली और भीमबली में पुलिस दल तैनात किया गया है।

1619 श्रद्धालुओं ने किए बाबा केदार के दर्शन
बुधवार को केदारनाथ में 1619 श्रद्धालुओं ने दर्शन कर पुण्य अर्जित किया। देवस्थानम बोर्ड द्वारा धाम के लिए 1788 ई-पास जारी किए गए थे। बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश चंद्र गौड ने बताया कि दर्शनार्थियों में 932 पुरुष, 673 महिलाएं व 14 बच्चे शामिल हैं।

देवस्थानम बोर्ड से अनुमति मिलने के बाद श्रद्धालुओं के लिए सभामंडप से बाबा के दर्शनों की व्यवस्था शुरू कर दी गई है। यात्रा के सफल संचालन के लिए केदारनाथ में सभी इंतजाम पूरे किए गए हैं।
- वंदना सिंह, जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग


Chardham Yatra 2020: केदारनाथ धाम में भक्त अब सभा मंडप से कर पाएंगे बाबा के दर्शन
 

adsatinder

explorer
Chardham Yatra 2020: HeliCopter Service Started For Kedarnath, See First Day Video

Chardham Yatra 2020: केदारनाथ धाम के लिए शुरू हुई हेलीकॉप्टर सेवा, देखें वीडियो...


350 Pilgrims reached by Helicopter.
https://videocdn.amarujala.com/263139fe-6b9f-46ba-a24c-ad3af4ec0b34



Chardham Yatra 2020: केदारनाथ धाम के लिए शुरू हुई हेलीकॉप्टर सेवा, देखें वीडियो...
 

adsatinder

explorer
Chardham Yatra 2020 : Rishikesh Badrinath Highway Can Be Open In Totaghati Today

Chardham Yatra 2020 : तोताघाटी में आज ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे मार्ग खुलने का इंतजार
न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, श्रीनगर Updated Fri, 09 Oct 2020 05:08 PM IST



1602272638794.png


badrinath highway - फोटो : amar ujala


आठ अक्तूबर से पूर्व ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे को खोलने का लोक निर्माण विभाग (पीडब्लूडी) राष्ट्रीय राजमार्ग श्रीनगर डिवीजन का दावा फेल हो गया है। अब विभाग ने शुक्रवार (आज) शाम तक तोताघाटी में मार्ग खोलने का वादा किया है। विभाग के अनुसार, कटिंग के दौरान दीवार ढहने की वजह से सड़क खोलने में देरी हुई है।

बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर कौड़ियाला-सकनीधार के मध्य तोताघाटी पैच पिछले छह माह से सिरदर्द बना हुआ है। यहां पहाड़ काटने के लिए पीडब्लूडी तीन बार यातायात बंदी ले चुका है, लेकिन पीडब्लूडी पहाड़ की कटिंग कर यातायात खोलने में हर बार फेल रहा है।
इस बार पीडब्लूडी ने 9 सितंबर से 8 अक्तूबर तक के लिए यातायात बंदी ली थी, लेकिन 8 अक्तूबर तक पीडब्लूडी मार्ग को आवाजाही लायक नहीं बना पाया है। तोताघाटी में मार्ग बंद होने से विगत मार्च माह से ऋषिकेश से श्रीनगर के बीच वाहनों की आवाजाही मलेथा-पीपलडाली-चंबा-नरेंद्रनगर रुट से हो रही है। जो काफी लंबा मार्ग है। इससे लोग परेशान हो गए हैं।
साथ ही खाद्यान्न, सब्जी, आवश्यक सेवाओं सहित परियोजना निर्माण कार्यों की सप्लाई प्रभावित हो रही है। एसडीएम कीर्तिनगर आकांक्षा वर्मा ने बताया कि वह स्वयं तोताघाटी का निरीक्षण करेंगी। इधर, पीडब्लूडी के सहायक अभियंता बीएन द्विवेदी ने बताया कि बुधवार को पहाड़ तोड़ने के लिए ब्लास्टिंग की गई थी।

इसी दौरान कौड़ियाला की ओर सड़क के नीचे की दीवार ढह गई, जिसके चलते मार्ग को खोला नहीं जा सका है। अब सड़क बनाने के लिए ऊपर की ओर कटिंग की जा रही है। शुक्रवार शाम तक मार्ग को यातायात के लिए खोलने के प्रयास जारी हैं।



Chardham Yatra 2020 : तोताघाटी में आज ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे मार्ग खुलने का इंतजार
 

adsatinder

explorer
Rishikesh Dev Prayag Route is closed due to Road Construction from last 6 months.
Alternative route is via Chamba Only.
It may take 1 more week to open.

उत्तराखंड › बदरीनाथ हाईवे मलबा आने से फिर बाधित, 10 मीटर ध्वस्त सड़क को ठीक करने में लगेगा 01 हफ्ता
बदरीनाथ हाईवे मलबा आने से फिर बाधित, 10 मीटर ध्वस्त सड़क को ठीक करने में लगेगा 01 हफ्ता
हिन्दुस्तान टीम, देहरादून | Published By: Himanshu Kumar Lall
  • Last updated: Thu, 08 Oct 2020 05:15 PM



ऋषिकेश-बदरीनाथ राजमार्ग पर तोता घाटी में बीते बुधवार रात्रि को कटिंग के दौरान चट्टानी मलबा आने से करीब दस मीटर सड़क पूरी तरह ध्वस्त हो गयी। राजमार्ग क्षतिग्रस्त होने के चलते एनएन प्रशासन की ओर से 10 अक्तूबर को यात्रा के मद्देनजर राजमार्ग खोला जाना सभव नहीं है। विभाग की ओर से हाईवे को दुरुस्त करने में अभी एक हफ्ते का समय और लगने की संभावनाएं जताई जा रही हैं।
ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर तोताघाटी में ऑल वेदर रोड निर्माण के तहत कटिंग कार्य एनएच प्रशासन के लिए लगातार चुनौती बना हुआ है। इस साल 22 मार्च से एनएच प्रशासन की ओर से तीन बार कटिंग के लिए शटडाउन लिया जा चुका है। करीब 85 दिन के शटडाउन के बाबजूद राजमार्ग पर यातायात बहाल किये जाने में एनएच टीम कामयाब नहीं हो पा रही है।
तोताघाटी में भारी भरकम रॉक कटिंग मशीनों सहित पोकलैंड व बड़ी संख्या में जेसीबी मशीनें लगाई गयी हैं। एनएच एई बीएन द्विवेदी के अनुसार राजमार्ग को 10 अक्तूबर को खोले जाने की पूरी तैयारी हो चुकी थी, लेकिन बीते बुधवार रात को ब्लॉस्टिंग के दौरान भारी चट्टानी मलबा सड़क के ऊपर आ गिरा। इससे करीब करीब दस मीटर तक की सड़क पूरी तरह धंस गयी।
उन्होंने बताया कि पहाड़ी को भीतर की ओर दोबारा करीब चार मीटर तक काटकर सड़क बनानी जाएगी। इसमें एक हफ्ते तक समय और लग सकता है। ऑल वेदर रोड के टीम लीडर जेके तिवारी ने बताया कि तोताघाटी में यातायात बहाल करने में काफी जोखिम बना हुआ है। वहीं लगभग छह माह से राजमार्ग खुलने की बाट जोह रहे देवप्रयाग क्षेत्र के लोगो को सड़क खुलने का इंतजार और बढ़ गया है।
तोताघाटी के लगातार कटिंग से राजमार्ग बंद होने से देवप्रयाग नगर व आसपास का आमजन जीवन खासा प्रभावित है। क्षेत्रवासियों को देवप्रयाग से ऋषिकेश जाने के लिए 70 किमी के बजाय चाका-गजा-खाडी होकर 128 किमी का सफर करने की मजबूरी बनी हुई है।



बदरीनाथ हाईवे मलबा आने से फिर बाधित, 10 मीटर ध्वस्त सड़क को ठीक करने में लगेगा 01 हफ्ता
 

adsatinder

explorer
केदारनाथ दर्शन। Kedarnath Darshan। बाबा केदार। श्री केदारनाथ। Baba Kedar।
678 views
•Oct 11, 2020


67
0



Divine Uttarakhand

26.9K subscribers
 
Top