Need information about Himachal and Uttrakhand!!!

sheeraz

Member
Love Letter from Spiti :

View attachment 789900
Heart breaker Satinder Ji :(

I may be naive to ask but does that means we have to face similar situations in other circuits too? What if we try a road trip as given below? Is it possible?

Delhi→→→ Shimla→→→ Narkanda →→→ Sarahan→→→ Kalpa→→→ Kinnaur →→→ Pooh→→→ Nako→→→ Tabo [(Either return from this point) or continue the circuit]→→→ Dhankar→→→ Kaza→→→ Kibber→→→ Manali→→→ Kullu→→→ Mandi→→→ Delhi

I will be driving Tata Hexa 4X2, would that be enough to complete the circuit? Any particular preparation I need to do for this trip. I would be keen to hear expert advice from fellow members. Thank you in advance.
 

SandeepS

Sandy
Heart breaker Satinder Ji :(

I may be naive to ask but does that means we have to face similar situations in other circuits too? What if we try a road trip as given below? Is it possible?

Delhi→→→ Shimla→→→ Narkanda →→→ Sarahan→→→ Kalpa→→→ Kinnaur →→→ Pooh→→→ Nako→→→ Tabo [(Either return from this point) or continue the circuit]→→→ Dhankar→→→ Kaza→→→ Kibber→→→ Manali→→→ Kullu→→→ Mandi→→→ Delhi

I will be driving Tata Hexa 4X2, would that be enough to complete the circuit? Any particular preparation I need to do for this trip. I would be keen to hear expert advice from fellow members. Thank you in advance.
Not sure about current situation but I did complete circuit in may last 2018. I took Delhi - Bairagarh - Sach Pass - Killad - Udaipur - Chandertal - kaza - Pin Valley - Kalpa - Chitkul - Narkanda - Delhi route driving Safari Storms 4×2. It was a cake walk for it.

I keep puncture kit, electric air pump, spare coolant as part of my toolkit permanently. Get alignment balancing done, put new air filter and prior to start.

This is what I do, 80k in odo and never face any issue. Done multiple trips to himachal, rajasthan and kumaon region.
 

adsatinder

explorer
Spiti :


There have not much facilities. Anything wee bit serious, you are referred to Shimla. You can't spend 3% of your GDP on healthcare and actually expect healthcare for 1.4 billion people

Strongly suggest everyone avoids the areas where the locals don't want tourists this year. They know their health infrastructure better than anyone else. If they are pleading to avoid their area for a few months I think people should respect that.

Very true. We being a tourist will spend only few days or a week but if it becomes Corona effected then their life will be hell.

Please move to other areas.
 

sheeraz

Member
Not sure about current situation but I did complete circuit in may last 2018. I took Delhi - Bairagarh - Sach Pass - Killad - Udaipur - Chandertal - kaza - Pin Valley - Kalpa - Chitkul - Narkanda - Delhi route driving Safari Storms 4×2. It was a cake walk for it.

I keep puncture kit, electric air pump, spare coolant as part of my toolkit permanently. Get alignment balancing done, put new air filter and prior to start.

This is what I do, 80k in odo and never face any issue. Done multiple trips to himachal, rajasthan and kumaon region.
Mesmerizing to even hear these testimonies :)
The above route you mentioned can also be done now since Spiti is not en route, please suggest? Where was your night stays? Any phone number would be of great help.
Carwise, I am fine as my ODO hasn't crossed 10K yet :) but still would keep puncture kit, electric air pump, spare coolant as suggested.
 

adsatinder

explorer
मुख्यमंत्री बोले, उत्तराखंड आने वालों का स्वागत, चार दिन वालों का नहीं होगा अब कोविड टेस्ट

अधिकारी व्यवस्था को बनाएं सरल, जनता न हो परेशान....



 

adsatinder

explorer
उत्तराखंड: तीन-चार दिन के आने पर कोविड टेस्ट जरूरी नहीं, पर्यटकों को मिलेगा कूपन योजना का लाभ

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Fri, 18 Sep 2020 09:05 PM IST



उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने एक बार फिर साफ किया कि तीन, चार दिन तक के लिए यदि कोई उत्तराखंड आ रहा है तो उसे कोविड टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोग बेरोक टोक उत्तराखंड में प्रवेश कर सकते हैं।

उत्तराखंड की सीमा पर प्रवेश के लिए कोविड टेस्ट की अनिवार्यता को मुख्यमंत्री पहले ही खारिज कर चुके हैं। शुक्रवार को एक बार फिर उन्होंने कहा है कि जो लोग तीन, चार दिन के लिए आ रहे हैं, उनके लिए कोविड टेस्ट की कोई जरूरत नहीं है। बताया कि उन्होंने इस बारे में अधिकारियों को आदेश दे रखे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की आवाजाही को सरल बनाना चाहिए। लेकिन बीच में संक्रमित रोगियों की संख्या बढ़ी है।


जनता का भी सरकार और अधिकारियों पर दबाव बना। जिसके चलते लगा कि लोगों को नियंत्रित करना चाहिए। लेकिन अधिकारियों को साफ कर दिया गया है कि जो लोग उत्तराखंड आना चाहते हैं तो उन्हें आने दें, उनका स्वागत करें।

बता दें कि केंद्र सरकार की गाइड लाइन में साफ है कि कोविड हाईलोडेड क्षेत्रों को छोड़कर बाकी स्थानों से आने वाले लोग यदि पांच दिन तक के लिए आ रहे हैं तो उन्हें कोविड टेस्ट की जरूरत नहीं है।



पर्यटकों को मिलेगा कूपन योजना का लाभ : महाराज

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों के लिए सरकार ने पर्यटक प्रोत्साहन कूपन योजना शुरू की है। कोविड महामारी के कारण प्रभावित पर्यटन सेक्टर को पटरी पर लाने के लिए सरकार की ओर से हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। उत्तराखंड संस्कृति और पर्यावरण का खजाना है।

शुक्रवार को री-कनेक्ट व री स्टार्ट टूरिज्म पर आयोजित वर्चुअल ट्रेवल ट्रेड में पर्यटन मंत्री ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के कारण पर्यटन सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र है। उन्होंने दोहराया कि कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट लाकर बाहरी राज्यों के पर्यटकों को उत्तराखंड में घूमने में कोई प्रतिबंध नहीं है। बताया कि पर्यटन क्षेत्र में रोजगार की समस्या के समाधान के लिए वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार और होमस्टे योजना में ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा की गई है।

महाराज ने कहा कि धार्मिक पर्यटन के क्षेत्र में अपार अवसर हैं। प्रदेश में रामायण सर्किट, सीता सर्किट और महाभारत सर्किट पर काम शुरू हो गया है। एक बार यह नया सर्किट पूरा होने के बाद राज्य में धार्मिक पर्यटन के नए रास्ते खुलेंगे।

 
Top