Need Information about Kotdwar Border, Uttarakhand

LokeshAntil

New Member
Hi All,

I am planning a group bike trip to Mana Villege and Auli in first week of Oct 2020 from Sonipat & Delhi. I have done 2 trips to uttarakhand earlier as well and I have taken Merrut-Najibabad-Kotdwar route. This time also I want to go through the same route and need details about entry from Kotdwar border. As in this Covid-19 time, we have to follow certain and fulfill document requirements.

So, I just want to know the status of Kotdwar Border entry.

If anyone can share this details that would be really great.

We are 3-4 people(all boys yet) in our group as solo rider and we are open if anyone wants to join us for this ride. We will start early morning on 2 Oct and will be back by 6 oct.

Thanks!!!
 

adsatinder

explorer
You will be stopped for sure at Border.

Show your negative covid report and answer their questions patiently.
Follow guidelines.
Do Registration and upload negative report on uk website before starting few days ago.
This route is only time consuming at Border.
Rest ahead, you will go easily.
 

adsatinder

explorer
Read this thread also.
They are also going to UK

 

adsatinder

explorer
मुख्यमंत्री बोले, उत्तराखंड आने वालों का स्वागत, चार दिन वालों का नहीं होगा अब कोविड टेस्ट

अधिकारी व्यवस्था को बनाएं सरल, जनता न हो परेशान....



 

adsatinder

explorer
उत्तराखंड: तीन-चार दिन के आने पर कोविड टेस्ट जरूरी नहीं, पर्यटकों को मिलेगा कूपन योजना का लाभ

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Fri, 18 Sep 2020 09:05 PM IST



उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने एक बार फिर साफ किया कि तीन, चार दिन तक के लिए यदि कोई उत्तराखंड आ रहा है तो उसे कोविड टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोग बेरोक टोक उत्तराखंड में प्रवेश कर सकते हैं।

उत्तराखंड की सीमा पर प्रवेश के लिए कोविड टेस्ट की अनिवार्यता को मुख्यमंत्री पहले ही खारिज कर चुके हैं। शुक्रवार को एक बार फिर उन्होंने कहा है कि जो लोग तीन, चार दिन के लिए आ रहे हैं, उनके लिए कोविड टेस्ट की कोई जरूरत नहीं है। बताया कि उन्होंने इस बारे में अधिकारियों को आदेश दे रखे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की आवाजाही को सरल बनाना चाहिए। लेकिन बीच में संक्रमित रोगियों की संख्या बढ़ी है।


जनता का भी सरकार और अधिकारियों पर दबाव बना। जिसके चलते लगा कि लोगों को नियंत्रित करना चाहिए। लेकिन अधिकारियों को साफ कर दिया गया है कि जो लोग उत्तराखंड आना चाहते हैं तो उन्हें आने दें, उनका स्वागत करें।

बता दें कि केंद्र सरकार की गाइड लाइन में साफ है कि कोविड हाईलोडेड क्षेत्रों को छोड़कर बाकी स्थानों से आने वाले लोग यदि पांच दिन तक के लिए आ रहे हैं तो उन्हें कोविड टेस्ट की जरूरत नहीं है।



पर्यटकों को मिलेगा कूपन योजना का लाभ : महाराज

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों के लिए सरकार ने पर्यटक प्रोत्साहन कूपन योजना शुरू की है। कोविड महामारी के कारण प्रभावित पर्यटन सेक्टर को पटरी पर लाने के लिए सरकार की ओर से हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। उत्तराखंड संस्कृति और पर्यावरण का खजाना है।

शुक्रवार को री-कनेक्ट व री स्टार्ट टूरिज्म पर आयोजित वर्चुअल ट्रेवल ट्रेड में पर्यटन मंत्री ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के कारण पर्यटन सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र है। उन्होंने दोहराया कि कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट लाकर बाहरी राज्यों के पर्यटकों को उत्तराखंड में घूमने में कोई प्रतिबंध नहीं है। बताया कि पर्यटन क्षेत्र में रोजगार की समस्या के समाधान के लिए वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार और होमस्टे योजना में ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा की गई है।

महाराज ने कहा कि धार्मिक पर्यटन के क्षेत्र में अपार अवसर हैं। प्रदेश में रामायण सर्किट, सीता सर्किट और महाभारत सर्किट पर काम शुरू हो गया है। एक बार यह नया सर्किट पूरा होने के बाद राज्य में धार्मिक पर्यटन के नए रास्ते खुलेंगे।

 
Top