Road conditions - Uttarakhand

adsatinder

explorer
Hi all,

I'm currently travelling through India via motorcycle and will find myself in the Nanital region until the start of July. From there we will head to Manali.

Does anyone have recommendations on roads to avoid or look for on the route from Nanital to Manali for around early July when heat and rain could be worth considering? Google maps offers a few routes, but keen to hear some advice from some locals to get there as quickly, safely and comfortably as possible!

Cheers,
Sean
It depends on your time in hand and weather also.
I will say plan according to weather and if you have time then you can go via the route I am recommending.

Link:



@dichkaun has done on Motor Cycle:
Nainital to Manali via Spiti.
He came back to Nainital via Mandi hill route & Chandigarh in plains.

If you have 2 days then take route via Chandigarh - Mandi - Manali.

If you have more days to enjoy,
then go via Spiti.

Check weather before you are leaving Nainital as Monsoon can spoil your timings by landslides etc.
However the route has a different charm if you go in light rains.

Check BBC Weather website.
Check animation (Clouds &Rain) of 5 days religiously.
 

Seancc

New Member
It depends on your time in hand and weather also.
I will say plan according to weather and if you have time then you can go via the route I am recommending.

Link:

[/URL]


@dichkaun has done on Motor Cycle:
Nainital to Manali via Spiti.
He came back to Nainital via Mandi hill route & Chandigarh in plains.

If you have 2 days then take route via Chandigarh - Mandi - Manali.

If you have more days to enjoy,
then go via Spiti.

Check weather before you are leaving Nainital as Monsoon can spoil your timings by landslides etc.
However the route has a different charm if you go in light rains.

Check BBC Weather website.
Check animation (Clouds &Rain) of 5 days religiously.
Thank you!!
Some great resources, exactly what I was looking for. Spiti was always in the back of our minds, so we may look at leaving a little earlier to spend some time in this region, vaguely following dichkaun's route through Uttarkhand before the rains truly arrive.

Cheers
Sean
 

adsatinder

explorer
HomeUttarakhandDehradun

Four Pilgrims Death Due To Heart Attack In Yamunotri And Kedarnath Dham

केदारनाथ और यमुनोत्री धाम में तीन तीर्थयात्रियों समेत चार की हार्ट अटैक से मौत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रुद्रप्रयाग/बड़कोट Updated Thu, 06 Jun 2019 08:26 AM IST

Four Pilgrims Death due to heart attack in yamunotri and kedarnath dham



केदारनाथ और यमुनोत्री यात्रा के दौरान बुधवार को दो महिलाओं सहित चार लोगों की हृदय गति रुक जाने से मौत हो गई। केदारनाथ में प्रात: 9.30 बजे कल्पना खरे (67) पत्नी विमल खरे, निवासी जबलपुर, मध्य प्रदेश की अचानक तबियत बिगड़ गई। परिजन पुलिस की मदद से महिला को सिक्स सिग्मा अस्पताल लाए, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
विज्ञापन


एक अन्य महिला यात्री इमरती देवी (67) पत्नी इंदर सिंह, निवासी सैनीपुरा, सुभाष रोड, जिला रोहतक (हरियाणा) की गौरीकुंड में अचानक तबियत खराब हो गई। परिजन उन्हें फाटा चिकित्सालय लाए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

टीजीएमओयू के बस चालक कृपाल सिंह (64 वर्ष) पुत्र गोविंद सिंह, निवासी ग्राम कंडियाल, प्रतापनगर, लंबगांव, टिहरी की सीतापुर में हृदय गति रुकने से मौत हो गई। बताया गया है कि वह हरिद्वार से यात्रियों को केदार दर्शन के लिए लाया था। सीतापुर में बस खड़ी करने के बाद उसकी तबियत बिगड़ गई और अस्पताल में डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यमुनोत्री धाम की यात्रा पर पहुंचे जयपुर (राजस्थान) के एक तीर्थयात्री की हार्टअटैक से मौत हो गई। बुधवार दोपहर करीब सवा दो बजे यमुनोत्री मंदिर परिसर में तीर्थयात्री पुरण जी मीणा (48) पुत्र कल्याण मीणा निवासी सेक्टर 8 इंदिरागांधी नगर जयपुर (राजस्थान) की अचानक तबियत बिगड़ गई।

परिजन उन्हें लेकर यमुनोत्री स्थित स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, जहां चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उन्होंने हार्टअटैक को मौत का कारण बताया। इस यात्रा सीजन में यमुनोत्री धाम की यात्रा के दौरान अभी तक हार्टअटैक से सात तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है।


चारधाम यात्रा: यमुनोत्री धाम की यात्रा पर जा रहीं महिला तीर्थयात्री की हार्ट अटैक से मौत
 

adsatinder

explorer
हरिद्वार: सोमवती अमावस्या पर लगे जाम को लेकर ट्रैफिक इंस्पेक्टर निलंबित

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हरिद्वार Updated Sat, 08 Jun 2019 07:46 AM





हरिद्वार में सोमवती अमावस्या के दिन लगे जाम की गाज रुड़की के ट्रैफिक इंस्पेक्टर वीपेंद्र सिंह पर गिर गई। वहीं ट्रैफिक निदेशालय द्वारा हरिद्वार पुलिस से मांगी गई रिपोर्ट भी अब तक उपलब्ध नहीं कराई गई है।

विज्ञापन

हरिद्वार में सोमवती अमावस्या पर लगे जाम ने पुलिस-प्रशासन के हाथ-पांव फुला दिए थे। पुलिस मुख्यालय ने भी जाम पर कड़ी नाराजगी जताई थी। यातायात निदेशालय के निदेशक केवल खुराना ने जाम को लेकर हरिद्वार के एसएसपी और एसपी ट्रैफिक का जवाब तलब करते हुए रिपोर्ट मांगी थी। तीन दिन बीतने के बाद हरिद्वार पुलिस की रिपोर्ट तो नहीं आई, लेकिन जाम की गाज इंस्पेक्टर पर गिर गई।

शुक्रवार को रुड़की के ट्रैफिक इंस्पेक्टर वीपेंद्र सिंह को निलंबित कर दिया गया। आरोप है कि इंस्पेक्टर ने सही ढंग से अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह नहीं किया। सूत्रों का कहना है कि अधिकारियों को बचाने के लिए यह कार्रवाई की गई है, ताकि विरोध के स्वरों को दबाया जा सके।




 

adsatinder

explorer
Heavy Rush, Jam at places, Shortage of Diesel, Basic facilities are much less in comparison to number of too much pilgrims creating problems in Char Dham Yatra.


यात्रियों के सैलाब के बीच यात्रा मार्ग पर जाम का झाम बन रहा परेशानी का सबब

Updated Fri, 07 Jun 2019 10:32 PM IST

उत्तरकाशी। चारधाम यात्रा में इस बार तीर्थयात्रियों की भारी भीड़ उमड़ने से यात्रा कारोबारियों और तीर्थ पुरोहितों के चेहरे तो खिले हुए हैं, लेकिन यात्रियों की संख्या के लिहाज से व्यवस्थाएं नाकाफी होने से तीर्थयात्रियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। यात्रा मार्ग पर जगह-जगह जाम और आए दिन पेट्रोल पंपों पर डीजल पेट्रोल खत्म होने से तीर्थयात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।

जिले की सीमा में चिन्यालीसौड़, धरासू बैंड, नालूपाणी, बड़ेथी चुंगी, धरासू बैंड से सिल्क्यारा बैंड और पोल गांव से जानकीचट्टी के बीच ऑल वेदर रोड के कार्यों की वजह से बदहाल पड़ा यात्रा मार्ग दिक्कतें पैदा कर रहा है। इन हिस्सों के साथ ही गंगोत्री की ओर सुक्की और गंगोत्री के पास रोजाना घंटों जाम की स्थिति बन रही है। बेहद संकरे जानकीचट्टी-यमुनोत्री पैदल मार्ग पर घोड़ा-खच्चर एवं डंडी-कंडी के साथ ही पैदल यात्रियों की दोनों ओर से आवाजाही के बीच यहां चलना बेहद जोखिम भरा है। साथ ही बारिश होने पर घोड़े-खच्चरों से लीद से सना यह रास्ता फिसलन भरा होने पर हादसे की आशंका बनी हुई है।
गुजरात से आए राम जी भाई, राजस्थान से आए श्याम लाल मीणा आदि तीर्थयात्रियों ने बताया कि यमुनोत्री मार्ग पर घंटों जाम में फंसने से उनका यात्रा शेड्यूल गड़बड़ा गया, जिससे होटल की बुकिंग निरस्त होने पर उन्हें ज्यादा पैसा खर्च कर होटल लेना पड़ा। उन्होंने बताया कि शहरों में जाम लगने पर तो ट्रैफिक पुलिस की व्यवस्था है, लेकिन यात्रा मार्ग पर लग रहे जाम को खुलवाने के कोई इंतजाम नहीं हैं। यात्रा मार्ग पर डीजल और पेट्रोल की समस्या भी आ रही है। जिले में गंगोत्री यात्रा मार्ग पर पांच और यमुनोत्री हाईवे पर महज एक पेट्रोल पंप है। यहां भी आए दिन डीजल पेट्रोल खत्म होने के कारण यात्री वाहनों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

कोट...........
जाम की समस्या से निपटने के लिए पुलिस को यात्रा मार्ग पर निरंतर पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिए गए हैं। जिला पूर्ति अधिकारी को सभी पेट्रोल पंपों पर पर्याप्त ईंधन की उपलब्धता सुनिश्चित कराने को कहा गया है। बीते वर्षों के मुकाबले इस बार ज्यादा संख्या में तीर्थयात्रियों के पहुंचने से दिक्कतें आ रही हैं, फिर भी तीर्थयात्रियों को कोई परेशानी न हो, इसका ध्यान रखा जा रहा है।
-डा. आशीष चौहान, डीएम उत्तरकाशी।




 
Last edited:

adsatinder

explorer
Massive jams on Pipalkoti - Badrinath highway...
Diesel, petrol shortages....

Today's Report.

This is common scene in May, June and early July during summer Vacations.

बदरीनाथ धाम: न मिल रहा पेट्रोल और न एटीएम में पैसे, 10 किमी. तक लग रहा जाम, तस्वीरें...
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, गोपेश्वर, Updated Sat, 08 Jun 2019 12:52 PM IST

बदरीनाथ में पेट्रोल पंप पर इंतजार में खड़े तीर्थयात्री


बदरीनाथ में पेट्रोल पंप पर इंतजार में खड़े तीर्थयात्री - फोटो : अमर उजाला

बदरीनाथ व हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग पर तीर्थयात्रियों को पेट्रोल व एटीएम की सुविधा नहीं मिल पा रही है। यात्रियों को इन दोनों सुविधाओं से निराशा ही हाथ लग रही है। हालांकि अब प्रशासन स्थिति बेहतर होने की बात कह रहा है। चमोली जनपद में 69 एटीएम हैं। जिनकी क्षमता प्रतिदिन पांच करोड़ की है। बावजूद इसके अक्सर यात्रियों को यहां कैश उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। जनपद के यात्रा रूट पर संचालित हो रहे अधिकांश एटीएम अक्सर खाली रहते हैं। यहां यात्रियों को कैश उपलब्ध नहीं हो पाता है। पिछले दो दिनों में गोपेश्चर शहर के किसी भी एटीएम से धनराशि उपलब्ध नहीं थी जिससे की यात्री खासे परेशान रहे।


767016

बदरीनाथ में पेट्रोल पंप पर इंतजार में खड़े तीर्थयात्री - फोटो : अमर उजाला

लगभग यही स्थिति पेट्रोल पंपों की भी है। जनपद में 12 पेट्रोल पंप हैं। जिनकी 2 लाख 15 हजार लीटर पेट्रोल व 3 लाख 37 हजार लीटर डीजल की क्षमता है। बावजूद इसके यात्रा रूट पर पेट्रोल डीजल की किल्लत बनी हुई है। जोशीमठ में पिछले दो दिनों से यात्रियों को पेट्रोल-डीजल नहीं मिल पा रहा है।

जिससे कि यात्रियों के कई वाहन पेट्रोल पंपों पर ही पार्क हैं। हालांकि अब प्रशासन इन सब व्यवस्थाओं के दुरस्त होने की बात कह रहा है। प्रशासन का कहना है कि यात्रियों को एटीएम में कैश व पेट्रोल पंपों पर ईंधन की कोई समस्या नहीं होगी, इसके लिए पूरी व्यवस्थाएं कर दी गई हैं।

767017


बदरीनाथ के रास्ते में लगा जाम - फोटो : अमर उजाला

चमोली के प्रभारी जिला पूर्ति अधिकारी डीपी जोशी का कहना है कि जिलाधिकारी ने सभी पेट्रोल पंप संचालकों के साथ बैठक की है। संचालकों को निर्देशित किया गया है कि प्रतिदिन दो-दो टेंकर डीजल व पेट्रोल के मंगाए जाएं। जिससे यात्रियों को कोई समस्या न हो। सभी एटीएम मशीन में पर्याप्त धनराशि डाल दी गई है। सभी मशीनों में कैश उपलब्ध है। पिछले एक दिन अवकाश होने से किल्लत हुई थी। अब कोई समस्या नहीं है। लेकिन इसके बाद भी तीर्थयात्रियों को परेशानी से दो चार होना पड़ रहा है।


767018


बदरीनाथ के रास्ते में लगा जाम - फोटो : अमर उजाला

वहीं, दिनो दिन बढ़़ रही तीर्थ यात्रियों की संख्या अब जाम का कारण बनने लगी है। संकरे मार्ग पर बड़ी संख्या में वाहनों के चलने से अक्सर जाम लग रहा है। जिससे यात्री घंटों जाम में फंस रहे हैं। वहीं पुलिस प्रशासन का कहना है कि जाम न लगे इसके लिए पर्याप्त कर्मी मार्ग पर तैनात किए गए हैं। लेकिन हाइवे संकरा होने से अक्सर जाम लग जा रहा है।



767019


बदरीनाथ के रास्ते में लगा जाम - फोटो : अमर उजाला

शुक्रवार करीब सुबह 8 बजे पैनी से जोशीमठ तक 10 किमी के दायरे में 4 घंटे तक जाम लगा रहा। इस दौरान हाइवे के दोनों ओर करीब हजारों वाहन जाम में फंस गए। जिससे यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने में देर भी हुई। जाम लगने का मुख्य कारण हाइवे का संकरा होना बताया जा रहा है।





767020


बदरीनाथ के रास्ते में लगा जाम - फोटो : अमर उजाला

साथ ही दिन के समय बड़ी संख्या में ट्रक भी चल रहे हैं। ट्रक व बड़े वाहन अधिक जगह घेर रहे हैं जिससे अन्य वाहनों को जगह नहीं मिल पा रही है। जिससे अक्सर जाम लग जा रहा है। जोशीमठ कोतवाल जयपाल सिंह नेगी ने कहा कि जाम की समस्या से निपटने के लिए प्रयाप्त मात्रा में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। लेकिन हाइवे के संकरे होने से अक्सर जाम लग रहा है।



https://www.amarujala.com/jio/photo-gallery/dehradun/petrol-pump-and-atm-empty-in-badrinath-dham-and-long-traffic-jam?src=top-lead
 
Last edited:

adsatinder

explorer
Home › Photo Gallery › Uttarakhand › Dehradun › Heavy Jam In Char Dham Yatra Route Mussoorie And Nainital


उत्तराखंड आने वाले हो जाएं सावधान, चारधाम यात्रा, मसूरी और नैनीताल रूट पर लग रहा लंबा जाम

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून, Updated Fri, 07 Jun 2019 01:38 PM IST



पर्यटन सीजन में उत्तराखंड जाम के झाम के हलकान है। आजकल अक्सर चारधाम यात्रा, मसूरी और नैनीताल जाने वाले पर्यटकों को जाम का सामना करना पड़ रहा है।


कल कालाढूंगी से नैनीताल तक करीब पांच घंटे यात्री और स्थानीय लोग जाम में फंसे रहे और आज शुक्रवार को बदरीनाथ हाईवे पर साढ़े चार घंटे तक करीब 10 किमी. लंबा जाम लग गया।


आज सुबह बदरीनाथ हाईवे पर पैनी से जोशीमठ तक 10 किमी. लंबा जाम लग गया। यहां साढ़े चार घंटे तक तीर्थ यात्री जाम में फंसे रहे। पुलिस के जवान जाम खुलवाने में लगे रहे।

यहां बार-बार जाम की समस्या आ रही है। जाम लगने का कारण हाईवे का संकरा होना बताया जा रहा है। यहां बार-बार दोनों ओर से वाहनों की लंबी कतारें लग रही हैं।

मसूरी और नैनीताल में तो यह आलम है कि पर्यटकों को शहर के बाहर ही वाहन पार्क करने पड़ रहे हैं। यहां बार-बार जाम लग रहा है।




 

adsatinder

explorer
Char Dham Yatra update:
Anyone planning to visit garhwal for char dham Yatra advised to fill up tanks whenever possible as lots of fuel pumps on route are out if stock due to heavy rush of pilgrims this year, specially Badrinath highway.
Also advised to carry CASH, don't depend on ATM.


@ where eagles dare
 

adsatinder

explorer
HomeUttarakhandDehradun › Police Appeals To Gurudwara Committee For Send Limited Pilgrims For Hemkund Sahib
पुलिस ने की अपील, एक साथ बड़ी संख्या में हेमकुंड साहिब न जाएं श्रद्धालु, ये है वजह
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, गोपेश्वर Updated Tue, 04 Jun 2019 08:25 AM IST


Police appeals to Gurudwara committee for send limited pilgrims for hemkund sahib


- फोटो : अमर उजाला फाइल फोटो


हेमकुंड साहिब आस्था पथ पर अत्यधिक बर्फ को देखते पुलिस ने यात्रियों की सुरक्षा के लिए गुरुद्वारा कमेटी से अपील की है कि एक साथ अधिक संख्या में श्रद्धालु न भेजे जाएं। पुलिस ने गुरुद्वारा कमेटी से जितना संभव हो सके, यात्रियों को घांघरियां में रोकने के लिए कहा है।

हेमकुंड साहिब के कपाट एक जून को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए थे। पहले दिन ही करीब 10 हजार श्रद्धालु घांघरिया पहुंच गए थे, जिस पर गुरुद्वारा कमेटी को दो हजार श्रद्धालुओं को घांघरिया में ही रोकना पड़ा। हेमकुंड आस्था पथ पर अटालीकुंड से हेमकुंड साहिब तक करीब 6 से 15 फीट बर्फ जमी हुई है।

यहां हिमखंडों को काट कर संकरा रास्ता बनाया गया है, जिससे अधिक संख्या में एक साथ श्रद्धालुओं के आने सेकाफी दिक्कतें हो रही हैं। यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए पुलिस ने गुरुद्वारा कमेटी से एक साथ अधिक संख्या में घांघरिया से हेमकुंड के लिए श्रद्धालु न भेजने का आग्रह किया है।

एसपी चमोली यशवंत चौहान ने कहा कि गुरुद्वारा कमेटी से सीमित संख्या में श्रद्धालुओं को भेजने के लिए अपील की गई है। एक साथ अधिक संख्या में श्रद्धालुओं के हिमखंडों के बीच से चलने पर दिक्कत हो सकती है। हालांकि यात्रियों की सुरक्षा के लिए आस्था पथ पर जवान भी तैनात हैं।

पुलिस ने की अपील, एक साथ बड़ी संख्या में हेमकुंड साहिब न जाएं श्रद्धालु, ये है वजह
 
Top