Road conditions - Uttarakhand

adsatinder

explorer
नैनीताल में जाम, बसें हुई फुल तो खिड़की से घुसे पर्यटक, टैक्सी वाले काट रहे चांदी, तस्वीरें...

Updated Sun, 09 Jun 2019 12:03 PM IST

[https://spiderimg]

पहाड़ से लेकर मैदान तक पर्यटक से लेकर आम जन तक जाम के झाम से परेशान रहे। सरोवर नगरी में जाम का झाम कम नहीं हो रहा है। नैनीताल आने का मन बना रहे हैं तो अभी रुक जाएये। वीकेंड के चलते शनिवार को भी सरोवर नगरी में जाम लगा रहा। रविवार को भी सुबह से शहर में जाम लगा है।





jam, traffic jam - फोटो : अमर उजाला

इसमें कालाढूंगी से लौट रही एक बरात भी चारखेत में फंस गई। बरात नैनीताल से कालाढूंगी लौट रही थी जो लौटते वक्त जाम में फंस गई। इसी तरह गिरीश-पूनम, चंदन-दीप्ति (रानीखेत से नैनीताल आई थी बरात) और अशोक-मानसी की बरात भी जाम में फंसी रही।

भीमताल में बाईपास मार्ग पर शनिवार सुबह लोहाघाट डिपो की रोडवेज बस के खराब होने से पूरे दिन शहर में जाम लगता रहा। वहीं, भीमताल, सातताल और नौकुचियाताल में शनिवार को सैलानियों की आवाजाही से भी जाम की स्थिति बनी रही।

[https://spiderimg]

पर्यटन नगरी रानीखेत में एक ही पेट्रोल पंप होने के कारण वाहन स्वामियों को काफी दिक्कतें उठानी पड़ीं। पेट्रोल पंप में सुबह सात बजे से ही वाहनों की लंबी कतार लग जा रही है। ईंधन नहीं मिलने की वजह से पर्यटक परेशान हो रहे हैं। केमू स्टेशन पर देर रात जाम लगा रहता है।

[https://spiderimg]

सरोवर नगरी आने वाले पर्यटकों से टैक्सी चालकों की लूट-खसोट जारी है। आठ किमी के भी टैक्सी चालक दो हजार रुपये वसूल रहे हैं। इस अंधेरगर्दी को देखने वाला कोई नहीं है। बीएम साह पार्क में आयोजित नाट्य महोत्सव में हिस्सा लेने पहुंचे अनुकृति रंगमंडल कानपुर के रंगकर्मियों से मोटा किराया वसूला गया।

[https://spiderimg]

रंगमंडल के सचिव डॉ.ओमेंद्र कुमार ने बताया कि उनके साथ 24 रंगकर्मियों का दल नैनीताल पहुंचा है। डॉ.कुमार ने बताया कि उनके साथी अलग-अलग टुकड़ी में यहां पहुंचे जिनसे बस चालकों ने 65 रुपये किराया लिया, लेकिन टैक्सी चालकों ने 1500 से 1800 रुपये वसूले। परिवार संग पहुंचे काशीपुर के अरमान ने बताया कि रूसी बाईपास से नैनीताल छोड़ने तक टैक्सी चालक ने दो हजार रुपये लिए, जिस कारण वह सही से नैनीताल घूम नहीं पाए।

[https://spiderimg]

चारखेत में गाड़ी रोकने से नाराज पर्यटक ड्यूटी पर तैनात एसआई दीपक बिष्ट से भिड़ गया। काफी देर तक विवाद होने के बाद पुलिस ने उसे डांट कर मौके से भगाया। वहीं रुड़की और हरिद्वार में भी सुबह से ही हाईवे जाम है।



 

adsatinder

explorer
A friend who went to Badrinath ji few days ago:


A couple of days ago I was at Badrinath ji.
There was shortage of diesel and petrol in that area that time.
Fuels were given with max cap.

This resulted in people queuing up at petrol pumps resulting in massive jams. For some a journey of 2 hours became an overnight journey.

Hotels were packed up totally.

2 vehicles also slipped off the hills in this all mess.

Thank god that panic situation didn't arise.....

Be careful to have enough fuel and eatables in your car and to check the route before planning.

Even if you queue up at 3am in Morning, you can't be sure to have darshans before 8-9 am.


Start going in September and continue in October..
No crowd at all..

Crowd can be more during long weekends or Navratras also, but not like summer vacations.
 
Last edited:

adsatinder

explorer
uttarakhand government alert for jam in char dham yatra route nainital mussoorie

HomeUttarakhandDehradun › Uttarakhand Government Alert For Jam In Char Dham Yatra Route Nainital Mussoorie
उत्तराखंडः चार धाम यात्रा मार्ग से लेकर मसूरी और नैनीताल में ट्रैफिक जाम पर चेती सरकार
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Tue, 11 Jun 2019 10:55 AM IST
uttarakhand government alert for jam in char dham yatra route nainital mussoorie

- फोटो : अमर उजाला


चार धाम यात्रा मार्ग से लेकर मसूरी और नैनीताल में ट्रैफिक जाम से बेहाल पर्यटकों की आखिर सरकार ने सुध ले ली है। मुख्य सचिव ने सोमवार शाम आला पुलिस और प्रशासनिक अफसरों की बैठक बुलाई।

उन्होंने रूट डायवर्जन के लिए आसपास के जिलों से तालमेल बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। कहा कि अगले दो सप्ताह यात्रियों की संख्या और बढ़ने के अनुमान के चलते पेयजल और शौचालय की व्यवस्था, पेट्रोल पंपों पर ईंधन की पर्याप्त मात्रा और एटीएम में कैश रखना होगा।
मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग की
मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिलाधिकारियों के साथ चारधाम यात्रा मार्गों पर यातायात, सफाई, पानी, पेट्रोल व कैश की उपलब्धता की समीक्षा की। कहा कि अगले दो सप्ताह चारधाम यात्रियों की संख्या बढ़ सकती है, इस चुनौतीपूर्ण स्थिति को देखते व्यवस्था चौकस रखें।

उन्होंने केदारनाथ मार्ग पर गौरीकुंड, सोनप्रयाग आदि में पानी की समस्या का संज्ञान लेते हुए जल संस्थान को पेयजल और शौचालय आदि के लिए पानी की व्यवस्था करने को कहा। इस दौरान पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी, पुलिस महानिदेशक (अपराध एवं कानून व्यवस्था) अशोक कुमार, सचिव आपदा प्रबंधन अमित नेगी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
पौड़ी टिहरी और देहरादून में बढ़ाएं समन्वय
मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि जहां पर यात्रियों के रुकने की संभावना है, ऐसे स्थानों पर पार्किंग की व्यवस्था की जाए। रूट डायवर्जन करते समय एसएसपी पौड़ी, टिहरी व देहरादून आपसी सामंजस्य के साथ रूट डायवर्ट करने की जानकारी एक दूसरे से साझा करें।

पीआरडी व होमगार्डों की संख्या बढ़ेगी
मुख्य सचिव ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि अगले दो सप्ताह के लिए पीआरडी व होमगार्डों के माध्यम से यातायात की व्यवस्थाएं की जाएं। सुचारु यातायात के लिए बाटल नेक पॉइंट्स में विशेष व्यवस्थाएं की जाएं। सभी जिलों में अगले दो सप्ताह के लिए आवश्यक मानव संसाधन तैनात कर लिया जाए।
मानसून के लिए रहें तैयार
मुख्य सचिव ने अगले दो से तीन हफ्ते में उत्तराखंड में मानसून आने की संभावना को देखते हुए विशेष व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि मानसून में यात्रियों को कोई समस्या ना हो इसके लिए अभी से पूरी तैयारी कर ली जाए। यातायात मार्गों में व्यवस्थाएं पूरी रहें।






उत्तराखंडः चार धाम यात्रा मार्ग से लेकर मसूरी और नैनीताल में ट्रैफिक जाम पर चेती सरकार
 

adsatinder

explorer
Uttarakhand में jam से परेशान tourists, चारधाम यात्रा में भी पड़ा खलल
938 views




2
1


Amar Ujala

Published on Jun 10, 2019


SUBSCRIBE 428K
#UttarakhandJam #Uttarakhand #Tourists की संख्या बढ़ने से Chardham, Haridwar, Nanitaal और Masoorie मार्ग में भयंकर जाम की स्थिति बनी हुई है। इस भीषण गर्मी में #Tourists को घंटों #Jam से जूझना पड़ रहा है।
 

adsatinder

explorer
Char Dham की यात्रा से पहले बरतें ये सावधानियां, यादगार बन जाएगी आपकी यात्रा
87 views




1
0


Amar Ujala

Published on Jun 11, 2019


SUBSCRIBE 428K
#CharDham2019 #CharDhamYatra Char Dham की यात्रा पर जाना है तो कुछ खास बातों का ख्याल रखना बेहद जरुरी है। यहां देखिए चार धाम की Travel पर आप कैसे पहुंच सकते हैं और किन-किन सावधानियों को बरतने की जरूरत है।
 

adsatinder

explorer
Avoid 13 and 14 June in Haridwar due to festivals.
Char Dham Yatris should use other routes to go ahead.

.






Doon Police
Yesterday at 03:14 ·
#हरिद्वार_में_गंगा_दशहरा_व_निर्जला_एकादशी_पर्व_यातायात_डाईवर्ट_प्लान

दिनांक 12-6-19 व 13-6-19 को हरिद्वार में #गंगादशहरा#निर्जला एकादशी पर्व पर अत्यधिक संख्या में श्रृद्धालुओं के आने की संभावना के दृष्टिगत यात्रीगण एवं श्रृद्धालुओं को निम्न वैकल्पिक मार्ग को अपनाने के सुझाव दिये जाते हैं:-

▪मेरठ, दिल्ली व एनसीआर से आ रहे यात्री जिन्हें बद्रीनाथ व केदारनाथ जी की यात्रा पर जाना है वे मुजफ्फरनगर - मीरापुर - बिजनौर होते हुए कोटद्वार से श्रीनगर मार्ग होते हुए जा सकते हैं।

▪मरठ, दिल्ली व एनसीआर से यमुनोत्री गंगोत्री जाने वाले यात्री मुजफ्फरनगर से देवबंद- गागलहेड़ी- मिर्जापुर - विकासनगर - यमुना ब्रिज -डामटा होते हुए जा सकते हैं।

▪मेरठ, दिल्ली व एनसीआर से मसूरी के ओर आ रहे यात्री मुजफ्फरनगर से देवबंद होते हुए मोहंड- देहरादून से मसूरी जा सकते हैं।

▪चडीगढ़, पंजाब से यमुनोत्री-गंगोत्री जाने वाले यात्री पांवटा - विकासनगर- यमुना बिज्र डामटा होते हुए यमुनोत्री-गंगोत्री जा सकते हैं।

▪चडीगढ़, पंजाब से बद्रीनाथ - केदारनाथ व हेमकुंड साहिब जाने वाले यात्री पांवटा - विकासनगर- देहरादून - भानियावाला - नटराज चौक से बद्रीनाथ-केदारनाथ व हेमकुंड साहिब जा सकते हैं।


चारधाम यात्रा के दौरान यात्रियों/श्रृद्धालुओं को सुगम यातायात उपलब्ध कराने हेतु उत्तराखंड पुलिस कटिबद्ध है। उपरोक्त दिये गये मार्गो के उपयोग से घंटो जाम से बचा जा सकता है व यात्रा भी सुगम एवं सरल तरीके पूर्ण की जा सकती है।


Facebook Page Link of Dehradoon Police :

Doon Police
 
Last edited:

adsatinder

explorer
हरिद्वार: 5 दिन यात्रा वाहनों पर लगेगा ब्रेक, जानिए कहां रोके जाएंगे वाहन
लाइव हिन्दुस्तान टीम, हरिद्वार
  • Last updated: Wed, 12 Jun 2019 04:46 PM IST



गंगा दशहरा, निर्जला एकादशी पर हरिद्वार में स्नान को देखते हुए पुलिस ने चारधाम यात्रा में जाने वाले वाहनों की हरिद्वार में एंट्री पर रोक लगा दी है।
बुधवार से पांच दिनों तक चारधाम जाने वाले वाहनों को हरिद्वार में नहीं आने दिया जाएगा, बल्कि यूपी से ही वाहनों को डायवर्ट कर दिया जाएगा।
गंगा दशहरा, निर्जला एकादशी के मद्देनजर दो दिन हरिद्वार में स्नान के कारण भीड़ होने की संभावना है।
वहीं, शनिवार और रविवार को भी अवकाश के कारण हरिद्वार में खासी भीड़ रहेगी।
इसको देखते हुए हरिद्वार में जाम न लगे, इसके लिए हरिद्वार पुलिस प्रशासन ने नई व्यवस्था लागू की है।
यह व्यवस्था पहली बार लागू की जा रही है।
एसएसपी जन्मेजय प्रभाकर खंडूरी ने बताया कि दिल्ली से बदरीनाथ व केदारनाथ को जाने वाले वाहनों को मेरठ से मीरापुर से बिजनौर, कोटद्वार से पौड़ी होते हुए श्रीनगर भेजा जाएगा। चारधाम जाने वाले वाहनों को श्रीनगर होते हुए बदरीनाथ व केदारनाथ धाम भेजा जाएगा।
वहीं दिल्ली से यमुनोत्री और गंगोत्री जाने वाले वाहनों को मेरठ, मुजफ्फरनगर से रामपुर तिराहा से देवबंद,बिहारीगढ़ होते हुए देहरादून विकासनगर भेजा जाएगा।यहां से वाहनों को नैनबाग होते हुए यमुनोत्री गंगोत्री धाम भेजा जाएगा।
यह प्लान आगामी रविवार तक रहेगा।

हल्के वाहनों के लिए यह है प्लान :
दिल्ली, मेरठ और मुजफ्फरनगर से से हरिद्वार आने वाले हल्के वाहन को ट्रैफिक का दवाब बढने पर मुजफ्फरनगर से नारसन की ओर न जाकर फलोदा खानपुर से लक्सर होकर हरिद्वार भेजा जाएगा।
वहीं बद्रीनाथ से आने वाले हल्के वाहनों को गरुड चट्टी पुल क्रॉस करते हुए लक्ष्मणझूला ऋषिकेश बैराज चिला मार्ग से होते हुए कालीमाता मन्दिर से गौरीशंकर पार्किंग से 4.2 से नजीबाबाद मीरापुर होते हुये मुजफ्फरनगर दिल्ली की ओर भेजा जाएगा।
देहरादून से हरिद्वार आने वाले हल्के वाहन देहरादून से डोईवाला होते हुये नेपाली फार्म से डायवर्जन कर आईडीपीएल से बैराज से होते चीला मार्ग से होते हुए चंडी चौकी पहुचेंगे और दिल्ली जाने वाले वाहन मीरापुर मुजफ्फरनगर होते हुए दिल्ली पहुंचेगे।
मुरादाबाद, बिजनौर, नजीबाबाद से हरिद्वार को आने वाले हल्के वाहन जाम की स्थिति होने पर मुरादाबाद बिजनौर नजीबाबाद की ओर से आने वाले वाहनों को 4.2 किमी से नहर पटरी होते हुये गौरीशंकर पार्किंग एवं नीलधारा पार्किंग में लाए जाएंगे।


यहां रोके जाएंगे भारी वाहन
  • दिल्ली-मेरठ-मुजफ्फरनगर की ओर से आने वाले भारी वाहनों को बिझौली बाईपास में खड़ा किया जाएगा।
  • रुड़की की ओर से आने वाले छोटे/बड़े लोडर वाहनों को बहादराबाद बाईपास के पास ख्याति ढाबा (बहादराबाद) के पास खड़ा किया जाएगा।
  • लक्सर - फेरुपुर की ओर से आने वाले भारी वाहनों को फेरूपुर चौकी/जगजीतपुर चौकी के पास खाली पड़े स्थान पर खड़ा किया जाएगा।
  • देहरादून की ओर से आने वाले भारी वाहनों को लालतप्पड़ में पार्क किया जाएगा।
  • ऋषिकेश से आने वाले वाहनों को सत्यनारायण मन्दिर के पास खड़ा किया जाएगा।
  • देहरादून-ऋषिकेश-रायवाला से आने वाले सभी प्रकार लोडिंग वाहन सप्तऋषि/मोतीचूर पार्किंग में खड़े किए जाएंगे।
  • हरियाणा-सहारनपुर की ओर से आने वाले वाहनों को भगवानपुर वीडी इंटर कॉलेज ग्राउंड में खड़ा किया जाएगा ।

हरिद्वार: 5 दिन यात्रा वाहनों पर लगेगा ब्रेक, जानिए कहां रोके जाएंगे वाहन
 

adsatinder

explorer
Heavy influx of tourists to Char Dham, hill stations chokes roads in Uttarakhand
By: PTI |
Updated: June 12, 2019 1:12:08 PM

Large swathes of the country have been searing under markedly high temperatures for the past several days, with the mercury hovering around the 50-degree Celsius mark in many areas in north India.

Char Dham, heavy jam in Uttarakhand, traffic jams in Char Dham, Garhwal,  Haridwar, Rishikesh, Mussoorie, Dehradun


Choked by traffic jams and the heavy influx of tourists, the commuting time from Haridwar to the four Himalayan shrines (Char Dham) in Garhwal has more than doubled. (Representational image: PTI)
As the oppressive heatwave gripping the country’s plains pushes a huge number of tourist to the relatively cooler hilly regions, several popular holiday destinations in Uttarakhand are witnessing massive traffic jams, forcing some visitors to return midway. Choked by traffic jams and the heavy influx of tourists, the commuting time from Haridwar to the four Himalayan shrines (Char Dham) in Garhwal has more than doubled. It is now taking almost 18 hours to reach Badrinath from Haridwar, an official in Chamoli said.
Large swathes of the country have been searing under markedly high temperatures for the past several days, with the mercury hovering around the 50-degree Celsius mark in many areas in north India. Over 80,000 vehicles pass through Haridwar on a daily basis these days, Haridwar SSP Janmejay Khanduri said. Additional forces had been deployed to control the traffic but tourists continue ro remain stuck for four to five hours, he added.

The situation is not unique to Haridwar. Rishikesh, Mussoorie, Dehradun, Rudraprayag, Gangotri, Yamunotri and Nainital are facing a similar problem. According to Joshimath Block Pramukh Prakash Rawat, the debris left during the construction of all-weather roads had added to commuters’ woes beyond Rishikesh. Though the widening of the roads was suspended due to the pilgrim season, the debris deposited on Chamoli-Joshimath stretch was contributing to traffic jams, Rawat said. He said timely removal of the debris would have saved the situation.

However, Chamoli District Magistrate Swati S Bhadoria said the debris had been removed from most places and it was being removed from the remaining places on a war footing. The biggest factor contributing to traffic jams was the rise in the number of small vehicles entering the state on a daily basis and a shortage of parking lots, she said.
The stretch from Janki Chatti to Syana Chatti on the way to the Yamunotri shrine and the 13-km road from Ganganani to Sukki Top on the way to Gangotri are witnessing traffic bottlenecks, allowing only two vehicles to pass at a time. Uttarkashi District Magistrate Ashish Chauhan blamed the increasing rush of vehicles on the roads to Yamunotri and Gangotri. Since the opening of the portals at the Yamunotri and Gangotri temples on May 7, 51,480 small vehicles have reached the shrines till now.
The figure for the entire season stood at 56,291 last year. Nainital-bound vehicles were being parked at temporary parking lots near the Rusi bypass and at Charkhet on the Kaladhungi road to decongest city roads, Nainital ADM Harbir Singh said. “Those who leave their vehicles at the parking lots are being sent to Nainital by a shuttle service,” he said. There was a long traffic snarl on the Mussoorie-Haridwar road on Monday, which was cleared with deployment of additional police personnel, SP (City) Shweta Chaubey said.

Heavy influx of tourists to Char Dham, hill stations chokes roads in Uttarakhand
 
Last edited:
Top