Road conditions - Uttarakhand

Yogesh Sarkar

Administrator
There was a massive jam today around Garh, buses delayed by several hours and are now taking Meerut route while going to Delhi from Haldwani.
 

adsatinder

explorer
There was a massive jam today around Garh, buses delayed by several hours and are now taking Meerut route while going to Delhi from Haldwani.

North India was jam at different places.
May be his is the reason :


https://www.jagran.com/punjab/jalandhar-city-people-of-ravidas-community-hold-protests-againt-order-of-demolition-of-gurudwara-in-delhi-19477433.html

or this can also be due to Saavan ka Mahina for Kanwad or some special day
for Darshan like at Mathura :

उत्तर प्रदेश
मथुरा

बरसाना में दिनभर लगा रहा जाम,श्रद्धालु फंसे
हिन्दुस्तान टीम,मथुरा
  • Last updated: Sat, 10 Aug 2019 07:01 PM IST

सावन मास में श्रद्धालुओं की भीड़ इस कदर बढ़ी की श्रीजी का धाम जाम से कराह उठा। श्रद्धालुओं को घंटों जाम से जूझने के बाद राधारानी के दर्शन हो सके। पुलिस को श्रद्धालुओं को जाम के झाम से मुक्ति दिलाने के लिए चार घंटे तक मशक्कत करनी पड़ी। शनिवार को दिल्ली, पंजाब, हरियाणा से राधारानी के दर्शनों को आये श्रद्धालु कस्बे में घुसते ही जाम में फंस गए। पीली कोठी तिराहे से लेकर दो किलो मीटर लम्बे जाम में फंसे श्रद्धालुओं की गाड़ियां जाम में रेंग रेंग कर चल रही थीं। जाम में रोजमर्रा के कामकाज को निकले स्थानीय निवासी भी कराह उठे। जाम को देख अपने कार्यों को छोड़ अपने घरों को वापिस लौट गए। जाम की स्थिति बिगड़ती देख थाना प्रभारी प्रदीप कुमार ने थाने की समस्त पुलिस को जाम खुलवाने में लगा दिया। पुलिस को घंटों जाम खुलवाने के लिये मशक्कत करनी पड़ी। तब कहीं जाकर श्रद्धालुओं को जाम से मुक्ति मिल सकी।
 
Last edited:

adsatinder

explorer
Two killed and three missing due to rain in uttarakhand

उत्तराखंड में आफत की बारिश से दो की मौत तीन लापता
हिटी,देवाल। घनसाली। श्रीनगर
  • Last updated: Sat, 10 Aug 2019 04:39 PM IST


25 killed  kochi airport closed  schools shut as heavy rains lash kerala


गढ़वाल के चार जिलों में मूसलाधार बारिश ने कहर बरपा दिया। टिहरी जिले के थार्ती गांव में मलबे में दबकर मां, बेटे की मौत हो गई। जबकि चमोली फल्दिया गांव में मां-बेटी लापता हैं। इधर, बदरीनाथ हाइवे पर फरासू में सड़क धंस जाने से एक युवक अलकनंदा में समा गया।

फल्दिया गांव में मां और बेटी बहीं
देवाल विकासखंड के फल्दिया गांव में गुरुवार रात घटगाड़ गधेरे के उफान पर आने से पुष्पा देवी (30) पत्नी रमेश राम और ज्योति (6) पुत्री रमेश राम बह गए। गांव में बारह घर भी ध्वस्त हो गए।


घनसाली में मलबे में दबकर मां-बेटे की मौत
घनसाली के थार्ती गांव में गुरुवार रात सरमोली गदेरे के उफान ने एक मकान को अपनी चपेट में ले लिया। घटना में मकानी देवी (35) पत्नी सुमन सिंह और उनके बेटे सुरजीत (6) मलबे में दबकर मौत हो गई।


कैंपटी फॉल झील में मलबा भरा
कैम्पटी और मसूरी क्षेत्र में बारिश के बाद पर्यटक स्थल कैंपटी फॉल झील में मलबा भर गया। सुबह स्थानीय व्यापारियों ने मलबा हटाकर पर्यटकों के नहाने के लिए जगह बनाई।


युवक अलकनंदा में समाया
श्रीनगर के पास फरासू में हनुमान मंदिर के पास सड़क धंसने से अल्मोड़ा निवासी युवक दीपक सिंह नैनवाल अलकनंदा में जा गिरा। युवक के साथ एक बाइक भी अलकनंदा में समा गई। युवक रुद्रप्रयाग में एक होटल में काम करता था।


अगस्त्यमुनि और विजयनगर में तबाही
अगस्त्यमुनि और विजयनगर क्षेत्र में गुरुवार देर रात कई घरों और दुकानों में पानी घुस गया। जबकि चाका गांव में तीन आवासीय मकान, दो गोशाला और एक चक्की ध्वस्त हो गई।


कहां क्या हुआ
-12 घंटे बंद रही केदारनाथ हाईवे पर वाहनों की आवाजाही
-गंगोत्री हाईवे हेल्कु गाड़ व चुंगी बड़ेथी के पास बंद
-पहाड़ी से बोल्डर व मलबा गिरने से पांच घंटे बंद रहा यमुनोत्री हाईवे
-मोरी में आकाशीय बिजली गिरने से 250 भेड़ बकरियों की मौत
-टिहरी के ठेला गांव में 9 पैदल पुल, 8 नहरें, पेयजल लाइन, सम्पर्क मार्ग, विद्युत लाइन और ट्रांसफार्मर बहा।



उत्तराखंड में आफत की बारिश से दो की मौत तीन लापता
 

adsatinder

explorer
Kedarnath highway remained closed for the third day in banswara


केदारनाथ हाईवे बांसवाड़ा में तीसरे दिन भी रहा बंद
हिन्दुस्तान टीम,रुद्रप्रयाग
  • Last updated: Sat, 10 Aug 2019 06:05 PM IST


केदारनाथ हाईवे बांसवाड़ा में तीसरे दिन भी रहा बंद


केदारनाथ हाईवे बांसवाड़ा में लगातार भूस्खलन के चलते तीसरे दिन भी बंद है।
हालांकि एनएच द्वारा दोनों तरफ से जेसीबी लगाकर हाईवे को खोलने का प्रयास किया जा रहा है किंतु लगातार हो रही बारिश और पहाड़ी से पत्थर गिरने के कारण हाईवे नहीं खुल सका है।
बीते तीन दिनों से बांसवाड़ा में पहाड़ी से पत्थर और मलबा आने से आवाजाही बंद है।
रुद्रप्रयाग से केदारनाथ जाने आने वाले वाहनों के साथ ही क्षेत्रीय लोगों को वैकल्पिक मार्ग गंगानगर बसुकेदार गुप्तकाशी मोटर मार्ग से आवाजाही करनी पड़ रही है। इधर लगातार बारिश से केदारनाथ हाईवे के अन्य कई स्थानों पर मलबा और पत्थर आने से लोगों को आवाजाही में परेशानियां हो रही है।
एनएच के ईई जेपी त्रिपाठी ने बताया कि बांसवाड़ा में हाईवे को खोलने के निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं किंतु पहाड़ी से हो रहे भूस्खलन से दिक्कतें हो रही है।

केदारनाथ हाईवे बांसवाड़ा में तीसरे दिन भी रहा बंद
 

adsatinder

explorer
A friend today:
finished
*Valley of flowers*
and
*Hemkund Saheb*
. One day is clear weather next day it's raining heavily.
Best be cautious and prepared for anything.

This friend has reached Bandrinath some hours back!
There has been a fresh landslide in Valley of flowers area, they were fortunate to have reached Govindghat before that.
 
Top