Shocking news

chiragv

REBEL
For over 12 yrs, I have been in touch with this inspirational human being infrequently. Even whilst abroad for years and not actively riding, I would congratulate him on every BCMT anniversary and how inspirational it has been to see it grow.

Whilst I never met him, always had a connection. It's heartbreaking to read this news as I get up today.. speechless.

As i write this without much thought and intending to hurt any sentiments, I have mixed feelings about why did it have to be Ladakh? Seems, Ladakh loved him more than he loved Ladakh.

He will always remain an inspiration to lots of us and will be remembered everytime I hit the road.

Its just completely heartbreaking.
 

shahronakm

Active Member
Just read this news here & was extremely shocked to know that Yogesh is no more. Ladakh was like his second home & his travelogue & photos of his first trip to Ladakh around 14-15 years back inspired many travelers to explore this scenic place including me. I think that travelogue was titled as 'Heaven on Earth'.

RIP Yogesh Sarkar. We all will miss you.
 

S.D

Member
Just checked the news .. really shocking to know that he left so soon .. RIP and may God give strength to his family to bear this irreplaceable loss !!
 

Khagesh

Well-Known Member
Just saw Satinderji's posting on FB, in memory of Yogesh. First I thought may its by mistake. When clicked the link; a real shock. He was a true mentor of Ladakh and finally his soul rests in Ladakh; reminds me of Shackleton.

Heartfelt respects to him and condolences to his family. Better late than never.

But such an experienced person became a victim of AMS? Not able to digest that.

As the website saying goes, the journey never ends. We all hope this site will continue in the same spirits to continue the spirit of Yogesh.
 

citymonk

Super User
But such an experienced person became a victim of AMS? Not able to digest that.
Nobody is able to digest That. But 'Honi is Balwan', his time had came.

Still Post mortem report will tell more details.

I think now you must be thanking your Oximeter and decision you took to retreat during EBC trek.
 

adsatinder

explorer
Shocking news spreaded yesterday which was un believable as I was aware of his traveling to Leh and staying in Otsal Hotel a safe location. His sudden demise is a big loss to us. He was a true traveler, photographer and a writer. We often use to discuss the traveling matters and he on my recommendations visited two destinations in Rampur and Mandi (HP). May his soul rest in peace in heaven and guide us for years to come. JULEY YS.

This is your heart opened on FB :
You wrote on FB :
September 27 at 4:27 PM


योगेश सरकार एक ऐसी शख्सियत एक ऐसा नाम जिसका पर्यटन क्षेत्र में बहुत ऊंचा नाम था और पर्यटन को भारत और विश्व मे बढ़ावा देने के लिए इसी से सम्बंधित एक फोरम BCMTouring की स्थापना करके इसे चला रहे थे जिसमें पर्यटन से सम्बंधित सभी प्रकार की सूचनाएं सदस्यों को शीघ्र अति शीघ्र उपलब्ध करवाई जाती थी । इसमें यात्रा संस्मरण का लेखन भी सदस्यगण करते थे । जिसकारण देश और विदेश से सदस्यों की संख्या में आश्चर्यजनक वृद्धि होती गई औऱ यह एक उच्च श्रेणी का फोरम बन गया । योगेश जी से मैं पहली बार अगस्त 2005 मैं लद्धाख मैं मिला तब मैं बाइकिंग ग्रुप मैं बाइकिंग कर रहा था और उसके बाद BCMTouring नार्थ इंडिया मीट अप्रेल 2011 शोझा कुल्लू मैं राजा गेस्ट हाउस मैं फोरम के मित्रों के साथ मिले और हमने इस खुशी मैं ड्रिंक्स भी लिए और लगभग 80 सदस्यों के साथ इस मिलन को बखूबी मनाया । उस समय मेरे travelogues के लेखन कार्य फोरम मैं चल रहे थे जिसमें Stranded Alone in a fresh heavy snow fall पर खूब चर्चा हुई और उसके बाद तो हमारी बातचीत फोन पर अक्सर होती रहती थी औऱ उन्हें लद्धाख मैं बेहद रुचि थी फिर भी मेरे कहने पर वे Dharen घाटी देखने गए और गोपालपुर वन विश्राम गृह उनके लिए मैंने आरक्षित करवाया था जिसे उन्होंने बहुत पसंद किया और travelogue भी लिखा । इसी प्रकार मेरे कहने पर silbadhani FRH मंडी मै मित्रों सहित गए औऱ प्रकृति का आनंद लिया । अभी पिछले दिनों कई बार मुझे फिर से कोई एकांत जंगलों के बीच रेस्ट हाउस बताने को कह रहे थे जहां वे एक उपन्यास लिखने के बाद दूसरा उपन्यास लिखना चाहते थे और मैंने उन्हें तीन जगहें बताई थी लेकिन वे हमेशा चाहते थे कि सड़क से पैदल चढ़ाई कम हो । वे खाना स्वयं बनाना चाहते थे और बिल्कुल अकेला रहना चाहते थे ताकि लेखन मैं वाधा उतपन्न न हो । लेकिन किस को पता था कि योगेश जी की यह लद्धाख यात्रा अंतिम होगी ।वे हमेशा मुझसे लद्धाख बारे ही फोन पर बात करते थे और मुझे बड़ा सम्मान देते थे क्योंकि मैं मनाली लेह रोड स्टेटस thread 2009 और 10 के वर्षों मैं खूब लिखा करता था तो वे बहुत इम्प्रेस होते थे । एक बार एक प्रश्न के उत्तर मैं मैंने उनसे कहा था कि लदाख के नजारे हर मौसम मैं अलग होते हैं जैसे कि जून मैं वर्फ़ पिघलने से मोरे प्लेन में कई अस्थाई झीलें किलोमीटर लंबी बन जाएंगी और दो महीने बाद सभी झीलें सूख जाएंगी और हरी घास के मैदान बन जाएंगे । इसी प्रकार ग्रीष्म मैं नदियां कल कल करती बहेंगीं और शरद मैं नदियां जम कर थम जाएंगी औऱ लोग उस पर समान ढोएंगे और चादर ट्रेकिंग करेंगे ।उन्ही दिनों उन्हें फोटोग्राफी का शौक हुआ था और वे लद्धाख हर सीजन मैं जाने लगे थे । आज योगेश सरकार हमारे बीच मैं नहीं हैं लेकिन उनके travlogues, फोटोज औऱ अप्डेट्स हमें उनकी याद दिलाते रहेंगे । वे बहुत ही परिश्रमी थे और अपने फोरम के प्रति समर्पित थे उन्होंने इस फोरम को छोटे से स्तर पर आरम्भ करके अपनी मेहनत से विश्व के अच्छे औऱ प्रतिष्ठित फोरम्स मैं से एक बना दिया जिसकी आज पूरे विश्व मे अपनी पहचान है और सदस्य विदेशों से भी हैं । उनका AMS अटैक लद्धाख मैं होना एक अविश्वसनीय घटना साबित हुई जो कि वे स्वयं इससे बचने के उपाय फोरम मैं होम पेज पर लिखते थे । उनके असमय इस संसार से जाने से ट्रेवल जगत को निसन्देह एक अप्रत्याशित हानि हुई है जिसे सदियों तक सहना पड़ेगा क्योंकि योगेश सरकार जैसी शख्सियत सदियों के बाद ही पैदा होते हैं वे मेरे लिए ट्रेवल के प्रेरणा स्त्रोत रहे और उनके जीवन से मैंने बहुत कुछ सीखा है भगवान करे कि उनका फोरम जो हम सभी का भी है दिन दुगनी रात चौगुनी उन्नति करे और पूरे विश्व मै इसकी प्रसिद्धि हो जो कि योगेश सरकार का सपना था । आओ हम सब मिलकर इस सपने को पूरा करें औऱ जो काम उनसे छूट गए हो उसे भी पूरा करें तभी हमारी उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी । उनके परिवार को भी इस दुख की घड़ी मैं गहरी सांत्वना और दुख मैं उनका हाथ बंटाएं ।
जुले के बिना श्रद्धांजली अधूरी होगी ।
जुले ।


Singh Top
 
Last edited:

adsatinder

explorer
*Today is*

*BCMT Delhi Meet 3pm onwards*

In Memory of
*Yogesh Sarkar*

 
Top