The Weather and Meteorology thread

adsatinder

explorer
Red alert issued as heatwave intensifies in northern India

The authorities sounded a red category alert for Delhi, Haryana, Punjab, west and east Rajasthan on May 25 and 26 for heatwave or severe heatwaves. A red category alert implies authorities should take action to avoid health emergencies.

INDIA Updated: May 25, 2020 00:42 IST
HT Correspondent

HT Correspondent
Hindustan Times, New Delhi


The Safdarjung weather station recorded the maximum temperature at 44.4 degrees Celsius


The Safdarjung weather station recorded the maximum temperature at 44.4 degrees Celsius(Vipin Kumar/HT PHOTO)

Delhi’s residents sweltered in a heatwave on Sunday, with the maximum temperature hitting five degrees above normal for the second consecutive day, and no respite forecast for the plains until at least May 28, prompting a red alert in the capital as well as Punjab, Haryana and Rajasthan.
The Safdarjung weather station recorded the maximum temperature at 44.4 degrees Celsius. The authorities sounded a red category alert for Delhi, Haryana, Punjab, west and east Rajasthan on May 25 and 26 for heatwave or severe heatwaves. A red category alert implies authorities should take action to avoid health emergencies.
South Haryana, Rajasthan and Uttar Pradesh reported heatwaves and Churu in west Rajasthan reported a severe heatwave on Sunday, with a maximum temperature of 47.4 degrees Celsius.
The heat was worse in several other places, where the maximum temperature rose above 46 degreesCelsius.Nagpur Sonegaon in the Vidarbha region recorded 46.2 degrees Celsius; Churu in Rajasthan 46.6 degrees Celsius, Akola in Maharashtra 46 degrees Celsius, according to the India Meteorological Department (IMD).

Heatwave conditions are very likely to persist for the next four to five days, with peak intensity on May 25 and 26, IMD said in its Sunday bulletin, citing dry northwesterly winds blowing over the plains of northwest India and central India and the north-south trough in lower tropospheric levels from east India to south-peninsular India.
“We don’t see any signs of maximum temperatures falling till May 28. From May 28, we are expecting dust storms and thunderstorms due to a western disturbance. Wind speed will increase to 50 to 60 kmph and there will be clouding. Right now, very dry hot northwesterly winds are blowing over entire northwest India. Sunrays are also vertical, making its impact very intense, humidity has been only 30% to 40%,” said Kuldeep Shrivastava, head of the regional weather forecasting centre.
The maximum temperature in Delhi’s Aya Nagar was 45.6 degrees Celsius, 6 degrees above normal and 44.2 degrees Celsius at Lodhi Road.

IMD’s bulletin added that heatwave conditions were likely over Punjab, Haryana, Chandigarh, Delhi, Rajasthan, Uttar Pradesh, Madhya Pradesh, Vidarbha and Telangana during the next 4-5 days. Similar conditions were predicted in some pockets over Chhattisgarh, Odisha, Gujarat, Madhya Pradesh, Maharashtra, Marathawada, Coastal Andhra Pradesh, Yanam, Rayalseema and north-interior Karnataka during next 3-4 days.
Because of strong southerly winds from Bay of Bengal to northeastern states at lower tropospheric levels, heavy to very heavy rainfall is likely at some places over Assam, Meghalaya and Arunachal Pradesh from May 24 to 28, according to IMD. Heavy rainfall is also likely over parts of south-peninsular India on May 26 and 27.



Red alert issued as heatwave intensifies in northern India
 

adsatinder

explorer
Mercury inches towards 42°C amid heatwave alert in Chandigarh

The officials have advised residents to stay indoors this week, especially during afternoons

CHANDIGARH Updated: May 25, 2020 00:02 IST
HT Correspondent

HT Correspondent
Hindustan Times, Chandigarh

HEAT WAVE ALERT: A mirage caused on a road by the hot weather in Chandigarh on Sunday. Also called heat haze, this fake pool of water is experienced due to variation between the hot air at the surface of the road and the denser cool air above it.


HEAT WAVE ALERT: A mirage caused on a road by the hot weather in Chandigarh on Sunday. Also called heat haze, this fake pool of water is experienced due to variation between the hot air at the surface of the road and the denser cool air above it. (Ravi Kumar/Hindustan Times)

Maximum temperature was recorded at 41.7°C on Sunday, and is likely to cross 42°C this week amid a red alert for heatwave in Chandigarh on Monday and Tuesday.
India Meteorological Department (IMD) officials said, “Till now maximum temperature hasn’t risen 4 to 5 degrees above normal, a condition required to declare heatwave in the city. However, it is likely to rise on Monday and Tuesday and is expected to start coming down by Thursday as a western disturbance is approaching.”
Officials have advised residents to stay indoors this week, especially during afternoons. The maximum temperature of went up from 41.4°C on Saturday to 41.7°C on Sunday, while the minimum temperature went up from 25.6°C to 25.7°C. In the next three days, the maximum will remain between 43 and 44 degrees, while the minimum will be between 25 and 26 degrees.


Mercury inches towards 42°C amid heatwave alert in Chandigarh
 

adsatinder

explorer
Top hottest cities in India amid heatwave warning till next week
An orange alert is issued when a heatwave is likely to persist for more than four days or a severe heatwave for more than two days.

india
Updated: May 24, 2020 08:00 IST


hindustantimes.com| Edited by: Meenakshi Ray



hindustantimes.com| Edited by: Meenakshi Ray
Hindustan Times, New Delhi


A severe heatwave is declared when the maximum temperature is at least 40°C and more than 6.4°C higher than the normal; or when the maximum temperature is more than 47°C.

A severe heatwave is declared when the maximum temperature is at least 40°C and more than 6.4°C higher than the normal; or when the maximum temperature is more than 47°C.(Rahul Raut/HT file photo)



The India Meteorological Department (IMD) has said severe heatwaves are likely to impact parts of northwest, central and peninsular India in the next four to five days.
The weather bureau has issued an orange alert for Delhi, Punjab, Haryana, and Chandigarh from May 24 to 27 for heatwave; in west and east Rajasthan for heatwave and severe heatwave; and in Vidarbha for heatwave.
An orange alert is issued when a heatwave is likely to persist for more than four days or a severe heatwave for more than two days.
A heatwave is considered when the maximum temperature is at least 40°C and between 4.5°C and 6.4°C higher than the normal or when the maximum temperature is over 45°C for two stations in a sub-division for two consecutive days.

A severe heatwave is declared when the maximum temperature is at least 40°C and more than 6.4°C higher than the normal; or when the maximum temperature is more than 47°C.

Here are the hottest cities in the country on Saturday:
Churu 46.6

Ganganagar 46.6
Jhansi 46.1
Agra 46

Khajuraho 46
Akola 46
Nagpur 46

Gwalior 45.9
Palam 45.6
Delhi (Safdarjung) 44.7

Bilaspur 44.6
Raipur 44.4
Medak 44
Bhopal 43.8
Jaipur 43.6
Hyderabad 42.8
Chandigarh 41.4


 

adsatinder

explorer
Weather, Red Alert For Heat Wave: दिल्ली समेत 5 राज्यों में गर्मी का रेड अलर्ट, 47 डिग्री तक जा सकता है पारा

Weather updates Red Alert for Heat Wave:
मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और राजस्थान में अगले 2 दिनों के लिए गर्मी का 'रेड अलर्ट' जारी किया है. मौसम विभाग के मुताबिक अगले 2-3 दिनों में तापमान 47 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है.


Weather Forecast Updates Today, Red Alert for Heat Wave (मौसम विभाग ने जारी किया गर्मी का रेड अलर्ट)


Weather Forecast Updates Today, Red Alert for Heat Wave (मौसम विभाग ने जारी किया गर्मी का रेड अलर्ट)

aajtak.in
नई दिल्ली, 25 मई 2020, अपडेटेड 10:58 IST




  • अगले दो दिनों तक पारा 45 डिग्री रहने के आसार
  • भीषण गर्मी की वजह से लोग बेहाल, रेड अलर्ट
उत्तर भारत के कई हिस्सों में तापमान के 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक होने के बाद, मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और राजस्थान में अगले 2 दिनों के लिए 'रेड अलर्ट' जारी किया है. मौसम विभाग के मुताबिक अगले 2-3 दिनों में तापमान 47 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है.
आईएमडी के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि आईएमडी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में चलने वाली लू की संभावना को देखते हुए 'औरेंज अलर्ट' जारी किया गया है.
उन्होंने बताया कि अगले 2-3 दिनों में कुछ हिस्सों में तापमान 47 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ सकता है. श्रीवास्तव ने कहा कि गर्मी के मौसम में यह पहली बार है जब हीटवेव (लू) के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है. शनिवार को राजस्थान के पिलानी में 46.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.


दिल्ली एनसीआर में लगेंगे लू के थपेड़े
दिल्ली एनसीआर समेत मैदानी इलाकों वाले राज्यों में अगले कुछ दिन टेम्परेचर हाई रहने वाला है. पश्चिमोत्तर भारत में लू (Heat Wave) चलने के कारण शहर में अगले तीन और चार दिन में भीषण गर्मी पड़ने का अनुमान है. सोमवार यानी आज तापमान 45 डिग्री तक जा सकता है. बता दें कि 23 मई को इस मौसम का सबसे गर्म दिन रहा और तापमान 46 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया. जो सामान्य से करीब 6 डिग्री सेल्सियस ज्यादा है.


कब तक मिलेगी गर्मी से राहत?

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया कि लू के कारण भीषण गर्मी पड़ रही है. यह क्रम आगे भी जारी रहेगा. आईएमडी के मुताबिक ताजा पश्चिमी विक्षोभ और निचले स्तर पर पूर्वी हवाओं के चलने से 28 मई को तेज गर्मी से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है. 28 मई की रात से वेस्‍टर्न डिस्‍टर्बेंस का असर दिखेगा.
इसके बाद तेज हवाओं के साथ बारिश हो सकती है जिससे तापमान में गिरावट आ सकती है और पारा 38-39 डिग्री तक पहुंच सकता है. मौसम विभाग ने बताया कि दिल्ली-एनसीआर में 29-30 मई को 60 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से धूलभरी आंधी चलने का अनुमान है.

क्या होता है लू (Heat Wave)?
लू क्या है और कब गर्म हवा को लू कहा जाता है? दरअसल, जब अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस हो और यह सामान्य तापमान से 4.5 डिग्री से 6.4 डिग्री सेल्सियस ज्यादा हो तो उस स्थिति को लू या हीट वेब कहा जाता है.
मैदानी इलाकों के लिए, लू की घोषणा तब की जाती है जब वास्तविक अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से 47 डिग्री सेल्सियस या फिर उससे ऊपर होता है.


Weather, Red Alert For Heat Wave: दिल्ली समेत 5 राज्यों में गर्मी का रेड अलर्ट, 47 डिग्री तक जा सकता है पारा
 

adsatinder

explorer
Weather Forecast Live: आसमान से बरस रही 'आग', 47 डिग्री तक पहुंचा तापमान, रेड अलर्ट जारी

Weather Forecast Live Updates Red Alert For Heat Wave: दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में पिछले कुछ दिन से जबरदस्त गर्मी है और कहीं-कहीं तो तापमान 47 डिग्री सेल्सियस के ऊपर तक जा रहा है. आईएमडी के मुताबिक रेड अलर्ट की चेतावनी लोगों को दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक घरों से नहीं निकलने की सलाह के साथ जारी की गई है:



Weather Forecast Live Updates, Red Alert For Heat Wave (गर्मी का रेड अलर्ट, लगेंगे लू के थपेड़े)


Weather Forecast Live Updates, Red Alert For Heat Wave (गर्मी का रेड अलर्ट, लगेंगे लू के थपेड़े)

aajtak.in
नई दिल्ली, 26 मई 2020, अपडेटेड 08:39 IST

  • कई राज्यों में गर्मी को लेकर रेड अलर्ट
  • तापमान 47 डिग्री सेल्सियस के पार

Weather Forecast Live Updates Red Alert For Heat Wave: दिल्ली, लखनऊ, भोपाल, जयपुर, गुरुग्राम समेत देश के कई बड़े शहरों में आसमान से आग बरस रही है. आज यानी मंगलवार को भी इन शहरों का अधिकतम तापमान 45 डिग्री रहने का अनुमान है. आईएमडी ने उत्तर भारत के लिहाज से 26 मई के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. इस दौरान जब लू का प्रकोप अपने चरम पर हो सकता है.
दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में पिछले कुछ दिन से जबरदस्त गर्मी है और कहीं-कहीं तो तापमान 47 डिग्री सेल्सियस के ऊपर तक जा रहा है. आईएमडी के मुताबिक रेड अलर्ट की चेतावनी लोगों को दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक घरों से नहीं निकलने की सलाह के साथ जारी की गई है जिस समय लू का प्रकोप चरम पर होगा.


राजस्थान में तापमान 47 के पार
राजस्थान में सोमवार को दिन का सर्वाधिक तापमान चूरू में 47.5 डिग्री सेल्सियस मापा गया, वहीं उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद सबसे गर्म रहा जहां तापमान 46.3 डिग्री सेल्सियस रहा. राष्ट्रीय राजधानी में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.


कब मिलेगी गर्मी से राहत?
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार उत्तर भारत के अनेक हिस्सों में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है जिससे लू के प्रकोप से राहत मिल सकती है.
आईएमडी के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ और पुरवाई हवाओं के कारण दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में 29-30 मई को धूल भरी आंधी चलने तथा गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है.

श्रीवास्तव ने कहा कि इस अवधि में हवा की रफ्तार भी करीब 50-60 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है जिससे भीषण गर्मी से राहत मिलेगी. पश्चिमी विक्षोभ एक चक्रवाती तूफान है जो भूमध्यसागर से पैदा होकर मध्य एशिया में से गुजरता है. हिमालय के संपर्क में आने पर इससे पहाड़ों और मैदानों पर बारिश होती है.

कब होती है लू की घोषणा?
मैदानी क्षेत्रों में लू की घोषणा तब की जाती है जब वास्तविक अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस होता है, वहीं 47 डिग्री सेल्सियस या इससे अधिक तापमान की स्थिति में तीव्र लू चलती है. आईएमडी किसी मौसम की तीव्रता के आधार पर हरे, पीले, नारंगी या लाल रंग आधारित चेतावनी जारी करता है.
मई महीने के आखिरी हफ्ते का पारा ही जून में पड़ने वाली गर्मी का ट्रेलर दिखा रहा है. कोरोना के साथ-साथ अब गर्मी भी सिरदर्द बन गई है. लॉकडाउन और भीषण गर्मी की वजह से लोग घरों से बाहर कदम रखने से बच रहे हैं.


Weather Forecast Live: आसमान से बरस रही 'आग', 47 डिग्री तक पहुंचा तापमान, रेड अलर्ट जारी
 

adsatinder

explorer
Heat Wave In Himachal, Shimla Hits 26.9 Degree Temperature
हिमाचल में गर्मी ने किया बेहाल, शिमला में 26.9 डिग्री पहुंचा पारा

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला Updated Thu, 21 May 2020 06:05 PM IST

1590466542464.png

धर्मशाला में छाता लेकर जाती महिलाएं - फोटो : अमर उजाला



हिमाचल में गर्मी ने बेहाल करना शुरू कर दिया है। गुरुवार का दिन पूरे प्रदेश में इस सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। ऊना में अधिकतम तापमान 40 डिग्री के नजदीक पहुंच गया है। गुरुवार को ऊना का अधिकतम तापमान 39.7 और शिमला में 26.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। मैदानों के साथ अब पहाड़ी क्षेत्र में गर्मी से तप गए हैं। प्रदेश में किसी भी जगह 20 डिग्री से कम अधिकतम तापमान दर्ज नहीं हुआ।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने शुक्रवार से आठ जिलों में बादल बरसने के आसार जताए हैं। मध्य पर्वतीय जिलों शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू, चंबा और उच्च पर्वतीय जिलों किन्नौर व लाहौल स्पीति में 27 मई तक बादल बरसने का पूर्वानुमान है। मैदानी जिलों ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर और कांगड़ा में आने वाले दिनों में मौसम साफ रहने की संभावना है। इस दौरान अधिकतम तापमान में और अधिक बढ़ोतरी होने की संभावना है।
गुरुवार को ऊना में अधिकतम तापमान 39.7, सुंदरनगर में 36.8, बिलासपुर में 36.5, हमीरपुर में 36.2, कांगड़ा में 35.9, भुंतर में 35.0, चंबा में 34.1, नाहन में 33.6, सोलन में 32.6, धर्मशाला में 29.2, शिमला में 26.9, कल्पा में 27.4, डलहौजी में 22.0 और केलांग में 21.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। उधर, बुधवार रात को नाहन में न्यूनतम तापमान 22.3, बिलासपुर में 20.0, हमीरपुर में 19.6, ऊना में 16.7, कांगड़ा में 17.2, शिमला में 16.0 और केलांग में 5.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। प्रदेश में अब रात के समय भी गर्मी बहुत अधिक बढ़ गई है।



हिमाचल में गर्मी ने किया बेहाल, शिमला में 26.9 डिग्री पहुंचा पारा
 

adsatinder

explorer
Heatwave Likely To Abate Only After May 28; Dust Storm, Thunderstorm Expected On May 29-30 Says IMD
महामारी के बीच नौतपा की मार, गर्मी ने कई जगह तोड़ा रिकॉर्ड, अब आसमान से उम्मीदें
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 26 May 2020 04:21 AM IST


1590466665297.png


चेन्नई एयरपोर्ट पर गर्मी से राहत पाने के लिए पंखे के सामने पीपीई किट पहनकर खड़े कर्मचारी। - फोटो : PTI

सार
29 मई से आंधी बारिश के आसार, तापमान 40 डिग्री से नीचे जाएगा
हवा की वजह से पारे में रविवार की तुलना मेें अंाशिक गिरावट
दिल्ली में अधिकतम तापमान 44 डिसे., पालम 46.2 डिसे के साथ सबसे अधिक गरम

विस्तार
पूरा उत्तर भारत गर्म हवा और लू की चपेट में है। मौसम विभाग ने कहा है कि इस चिलचिलाती गर्मी से 28 मई से राहत मिलने की उम्मीद है। विभाग ने सोमवार को बताया कि 28 मई से पुरवाई बहने से इस क्षेत्र में वातावरण में थोड़ी शीतलता आएगी। गौरतलब है कि पिछले दो दिनों से राजस्थान के चूरू में तापमान 47.6 डिग्री सेल्सियस बना हुआ है। इस साल देश का अब तक का यह अधिकतम तापमान बताया जा रहा है।

क्षेत्रीय विशेष मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक राजेंद्र कुमार जेनमानी ने बताया कि पुरवा हवा बहने से 28 मई से वातावरण में व्याप्त अत्यधिक गर्मी में कमी आनी शुरू हो जाएगी। इन हवाओं के कारण देश के उत्तरी हिस्सों में 29 मई से गरज के साथ बारिश होने का भी अनुमान है।
जिसके कारण तापमान के भी 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे जाने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून के 1 से 5 जून के बीच केरल पहुंचने का अनुमान है। वहीं इसके 15 से 20 जून तक मुंबई पहुंचने के आसार हैं।


हीट स्ट्रोक से बचाव के लिए धारा-144 लागू
पलवल जिला उपायुक्त नरेश नरवाल ने कहा कि गर्म हवाओं के प्रभाव से लू लगना और हैजा जैसी बीमारियां हो सकती हैं, जो स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक हैं। कोविड-19 का संक्रमण पहले से ही फैला हुआ है। इसलिए बढ़ती गर्मी से होने वाले हीट स्ट्रोक से बचाव के लिए जिले में धारा 144 के आदेश पारित किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा भी गर्मी से बचाव के संबंध में ‘डूज एंड डोन्ट्स’ एडवाइजरी जारी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि आगामी 2-3 दिनों में गर्म हवा और बढ़ने की संभावना है, जिससे आमजन के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है।

उन्होंने बताया कि हीट स्ट्रोक से बचने के लिए जरूरी बचाव, तरीके और सावधानियां बरतें। उपायुक्त ने बिजली, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी, स्वास्थ्य विभाग, नगर परिषद और नगर पालिका, विकास एवं पंचायत विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं।

भीषण गर्मी और लू से नहीं मिली राहत
दिल्ली-एनसीआर में सोमवार को भी भीषण गर्मी और लू ने लोगों को बेहाल किया। हालांकि तेज हवा चलने से रविवार के मुकाबले पारे में आंशिक गिरावट दर्ज की गई है। दिल्ली में अधिकतम तापमान रविवार के मुकाबले 0.4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट के साथ 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जोकि सामान्य से 4 डिग्री सेल्सियस ऊपर रहा। हालांकि, पालम का अधिकतम तापमान इस सीजन में अब तक का सबसे ज्यादा 46.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। आया नगर इलाका भी लू की चपेट में रहा।

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अगले दो दिन तक मौसम में ज्यादा फेरबदल की उम्मीद नहीं है। 28 मई के बाद मौसम करवट लेगा। सोमवार को दिल्ली-एनसीआर में 35 किमी प्रति घंटा की चाल से हवाएं चलीं। इससे रविवार की तुलना में तापमान में बढ़ोतरी दर्ज नहीं की गई।

न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस ऊपर 27.2 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव का कहना है कि सतह पर चलने वाली हवाओं के तेज होने से गरमी का अहसास तो बना रहा, लेकिन तापमान में ज्यादा बढ़ोतरी नहीं हुई। हवाओं की चाल सामान्य होती तो दिल्ली का तापमान 47 डिग्री सेल्सियस से भी ऊपर चला जाता।

हवा का रुख बदलने पर 28 से गिरेगा पारा

मौसम विभाग के मुुताबिक, 28 मई को हवा का रुख बदलेगा। उत्तर पश्चिमी की जगह हवाएं दिल्ली-एनसीआर में पूरब से आएंगी। वहीं, इसी दौरान पश्चिमी विक्षोभ का असर भी रहेगा। इससे 28 मई की रात से 30 मई तक हल्की बारिशकी उम्मीद है। अनुमान है कि 28 को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस रहेगा। 31 मई तक इसके 35 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की उम्मीद है।

नौतपा शुरू, पहले दिन भीषण गर्मी और लू की चपेट में रहे 13 जिले
नौतपा के पहले ही दिन सोमवार को हरियाणा में गर्मी चरम पर रही। प्रदेश के 13 जिले भीषण गर्मी और लू की चपेट में रहे। वहीं, मंगलवार को भी 14 जिलों में भीषण गर्मी पड़ेगी। मौसम विभाग ने इन जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। शेष जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

इधर, सोमवार को गर्मी और लू ने लोगों को बेहाल कर दिया। दोपहर में सूरज का कहर बरपा। घर से बाहर निकलते ही लोगों के सिर चकरा गए। सुबह दस बजे बाद छत पर रखी टंकी का पानी खौल गया और नलों से उबला हुआ पानी आया। नारनौल में अधिकतम तापमान 45.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। प्रदेश में अधिकतम तापमान सामान्य से 4 से 5 डिग्री सेल्सियस अधिक चल रहा है। सभी जिलों में पारा 42 से 45 डिग्री सेल्सियस के बीच बना हुआ है।

28 मई तक भीषण गर्मी, 2 जून तक राहत
हरियाणा में 28 मई तक भीषण गर्मी पड़ेगी। हालांकि, जीटी बेल्ट के जिलों में 28 को मौसम में बदलाव आ जाएगा। पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने और हवा की दिशा बदलने से प्रदेश में तेज अंधड़ के साथ बारिश होने का अनुमान है। 29 मई को 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से तेज हवा के साथ बारिश होने का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग के अनुसार दो जून तक ऐसा ही मौसम रहने की संभावना है। इसे देखते हुए 29 मई से दो जून तक यानी पांच दिन तक पारा 40 या इससे नीचे आ सकता है। इससे लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिल सकती है।

आज इन जिलों में रेड अलर्ट
महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, झज्जर, गुरुग्राम, मेवात, पलवल, फरीदाबाद, रोहतक, सोनीपत, सिरसा, फतेहाबाद, हिसार, भिवानी और चरखीदादरी।

प्रमुख शहरों का तापमान
शहर तापमान
नारनौल 45.8
हिसार 45.0
सिरसा 45.0
रोहतक 44.0
ग्रुरुग्राम 44.0
फरीदाबाद 44.0
कुरुक्षेत्र 43.5
भिवानी 43.1
करनाल 43.0
अंबाला 42.8
चंडीगढ़ 42.0

नौतपा के पहले दिन झुलसाने वाली गर्मी पड़ी, पारा 47 पार
बुंदेलखंड में नौतपा के पहले ही दिन लोगों को झुलसाने वाली गर्मी का सामना करना पड़ा। सूरज की प्रचंड गर्मी के आगे सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। बहुत जरूरी काम होने पर ही गिने-चुने लोग घरों से बाहर निकले। अधिकतम पारा 47.1 डिग्री सेल्सियस होने की वजह दोपहर भर आग बरसती रही। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अभी चार दिन और लोगों को ऐसी ही भीषण गर्मी का सामना करना पड़ेगा।

सोमवार से नौतपा की शुरूआत हो गई है। ऐसी मान्यता है कि इन नौ दिनों में सर्वाधिक गर्मी पड़ती है। हालांकि, पिछले साल नौतपा में बारिश हो जाने की वजह से अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस तक ही पहुंच सका था लेकिन इस बार राजस्थान और गुजरात की तरफ से आने वाली गर्म हवाओं की वजह से अधिकतम पारा 47 डिग्री सेल्सियस के ऊपर बना हुआ है।

मौसम वैज्ञानिकों का मनाना है कि लॉकडाउन के कारण प्रदूषण आदि न होने से सूरज की धूप बिना किसी बाधा के धरती तक आ रही है। इस कारण लोगों को इस बार प्रचंड गर्मी झेलनी पड़ रही है। सोमवार को भी अधिकतम तापमान 47.1, न्यूनतम 33 डिग्री सेल्सियस रहा।

सुबह से ही गर्म हवाओं के थपेड़े के साथ लोगों को चुभती हुई गर्मी का सामना करना पड़ रहा था। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया, सूरज की तपिश झुलसाने लगी। भीषण गर्मी में जो भी घर से बाहर निकला, उसके शरीर की त्वचा में कालापन आने लगा। कइयों का सिर चकरा गया। मौसम विभाग की मानें तो अब चार दिन ऐसी ही गर्मी झेलनी पड़ेगी।

मैदानों में लू चलने से घरों से निकलना हुआ मुश्किल, पहाड़ों में भी छूटे पसीने
हिमाचल में मई की गर्मी ने लोगों का घरों से बाहर निकलना मुश्किल कर दिया है। सोमवार को मैदानी जिलों में लू ने लोगों का हाल बेहाल कर दिया। पहाड़ी क्षेत्रों में भी चढ़ते पारे से पसीना छूटना शुरू हो गया है। सोमवार को राजधानी शिमला सहित पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहा। धूप खिलने से अधिकतम तापमान में सामान्य से दो डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज हुई। मैदानी क्षेत्रों में दिन के समय घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। कर्फ्यू में मिली छूट के बावजूद बहुत कम लोग खरीदारी करने बाजारों में पहुंच रहे हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने प्रदेश के सभी क्षेत्रों में मंगलवार को मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान जताया है। बुधवार से प्रदेश के कई क्षेत्रों में बादल बरसने के आसार है। 28 और 29 मई को मैदानी जिलों ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, कांगड़ा और मध्य पर्वतीय जिलों शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू और चंबा के कई क्षेत्रों में बारिश और अंधड़ का येलो अलर्ट जारी हुआ है। पूरे प्रदेश में 31 मई तक मौसम खराब बना रहने की संभावना जताई गई है।

पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में आ रहे इस बदलाव से प्रदेश में गर्मी से कुछ राहत मिलने के आसार भी जताए गए हैं। सोमवार को ऊना में अधिकतम तापमान 42.3, बिलासपुर में 40.0, हमीरपुर में 39.8, सुंदरनगर में 38.4, कांगड़ा में 37.5, नाहन में 37.3, भुंतर में 35.8, चंबा में 35.9, सोलन में 35.5, धर्मशाला में 31.8, शिमला में 28.1, डलहौजी में 23.2, कल्पा में 24.4 और केलांग में 20.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ।
प्रयागराज: पारा 47.1 डिग्री पर, लू के थपेड़ों ने झुलसाया

तमतमा रहा सूरज राहत देने के मूड में नहीं है। सुबह से चढ़ा पारा दोपहर तक रिकार्ड स्तर पर पहुंच गया। सोमवार को लगातार दूसरे दिन प्रदेश में प्रयागराज सबसे गर्म शहर रहा। दिन में लू थपेड़े झुलसाते रहे। मौसम विभाग ने गर्मी और लू के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं मौसम विज्ञानियों का कहना है कि दो दिन सूखी गर्मी के बाद 28 मई को बारिश के आसार हैं।

जेठ की तपती दुपहरी लोगों पर भारी पड़ रही है। सुबह से ही गर्म हवाएं चलने लगीं। सोमवार को घरों से बाहर निकले लोग तपन और गर्मी से परेशान रहे। गरम तवे की की तरह सड़कें तपती रहीं।

रविवार को अधिकतम तापमान 46.3 डिग्री से बढ़त बनाकर पारा 24 घंटे में 47.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। वहीं, न्यूनतम मामूली कमी के साथ 28.8 डिग्री से 28.5 डिग्री सेल्सियस मापा गया। तेज गर्मी से वातावरण में नमी का स्तर न्यूनतम हो गया है। आर्द्रता अधिकतम 58 तो न्यूनतम 12 फीसदी पहुंच गई है।

मौसम विज्ञानी प्रो. एचएन मिश्रा के मुताबिक सूखी गर्मी अभी सताएगी। पारा और चढ़ेगा। तापक्रम बढ़ने के साथ ही स्थानीय चक्रवात सक्रिय होगा और 28 से तीन दिन तक बादलों की धमाचौकड़ी और अचानक बारिश हो सकती है। उन्होंने बताया कि तीन दिन पहले शुरू हुआ दस तपा की गरमी परेशानी का कारण बनेगी।
47 साल बाद पारा 45 पार, राजस्थानी हवाएं उगलेंगी आग
कानपुर में पिछले तीन-चार दिन से पड़ रही गर्मी ने पसीने छुड़ा दिए हैं। सोमवार को तो गर्मी ने रिकार्ड तोड़ दिया और तापमान 45.1 पर पहुंच गया। 47 साल बाद ऐसा हुआ है जब मई में अधिकतम तापमान 45 के पार गया हो।

इसके पहले 1972 में मई में तापमान 46 डिग्री गया था। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले तीन दिन कानपुर ही नहीं पूरे प्रदेश के लिए और भी मुश्किल भरे होंगे। राजस्थान की ओर से उठने वाली हवाएं प्रदेश में आग उगलेंगी। इनका असर सुबह सात से शाम सात बजे तक ज्यादा रहेगा। कुछ जिलों में तापमान 48 डिग्री तक पहुंच सकता है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार 29 मई से मौसम में सकारात्मक तब्दीली हो सकती है। तेज हवा के साथ बारिश की संभावना है। पूर्वानुमान है कि मध्य उत्तरप्रदेश में हल्के बादल छाए रहेंगे। इस कारण एक जून को तेज हवाएं चलने के साथ ही मध्यम बारिश के आसार हैं। सोमवार को न्यूनतम तापमान चार डिग्री गिरकर 25.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। वहीं रात में हवा की नमी सूखकर नौ प्रतिशत रह गई।

कुछ वर्षों का मई में तापमान
2019 में 42
2018 में 41.6
2017 में 43
2016 में 42.4
2015 में 41.6
2014 में 42.4
2013 में 42.1
2012 में 40
2011 में 41
2010 में 44.2
2009 में 44.4
2008 में 47.2

कोरोना में हीट स्ट्रोक होगा जानलेवा, खूब पिएं पानी
अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस पार पहुंच गया है। तेज गर्मी की वजह से पसीना निकलने पर शरीर में पानी और नमक की कमी होने से इलेक्ट्रोलाइट इम्बैलेंस हो सकता है। कोरोना संक्रमण होने पर अगर लू (हीट स्ट्रोक) और गर्मी लगी (हीट एग्जॉर्शन) तो यह जानलेवा हो सकता है। इलेक्ट्रोलाइट इम्बैलेंस से प्रतिरोधक क्षमता का लेवल नीचे आ जाता है जिससे कोई भी संक्रमण अधिक घातक हो सकता है। डाक्टरों ने शरीर में पानी की कमी न होने देने की सलाह दी है।

जिन कोरोना संक्रमित लोगों में रोग के अभी कोई लक्षण नहीं उभरे हैं, उन्हें गर्मी लगने पर रोग के गंभीर लक्षण उभर सकते हैं। मेडिकल कालेज के मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर डॉ. जेएस कुशवाहा और डॉ. ब्रजेश कुमार का कहना है कि गर्मी लगने पर मस्तिष्क में तापमान नियंत्रित करने वाला सिस्टम ध्वस्त हो जाता है। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण अधिक घातक हो सकता है। गर्मी से बचाव अधिक जरूरी है।

ये एहतियात बरतें
चेहरे और सिर पर अंगोछा लपेट कर ही बाहर निकलें
थोड़ी-थोड़ी देर में पानी पीते रहें, शरीर में पानी की कमी न होने पाए
ठंडे स्थान से अचानक धूप में न जाएं
सादा और हल्का खाना खाएं, लिक्विड डाइट लें तो बेहतर
डायबिटीज न हो तो शिकंजी, शरबत पिएं
हाई ब्लड शुगर है तो लोग पना बनाकर पी सकते हैं
कॉटन के कपड़े पहनें, शरीर ढक कर बाहर निकलें



 

adsatinder

explorer
Uttar Pradesh › Jhansi › Three Km Long Locust Contingent Expected To Arrive In Jhansi Today

झांसी में आज तीन किमी लंबा टिड्डी दल पहुंचने की आशंका, यूपी में कई जगह अलर्ट

अमर उजाला नेटवर्क, लखनऊ/झांसी/प्रयागराज Updated Tue, 26 May 2020 06:30 AM IST



1590467374118.png

टिड्डी दल (फाइल) - फोटो : अमर उजाला


सार
स्थानीय प्रशासन ने बचाव के लिए अपने स्तर पर कई तरह की तैयारियां की हैं
झांसी में मंगलवार को एक बड़े टिड्डी दल के प्रवेश की आशंका जताई गई है
संयुक्त कृषि निदेशक कमल कटियार ने बताया कि यह लगभग तीन किलोमीटर लंबा हो सकता है


विस्तार
प्रदेश में फसलों पर टिड्डी दल के हमले की आशंका को देखते हुए विभिन्न जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। स्थानीय प्रशासन ने बचाव के लिए अपने स्तर पर कई तरह की तैयारियां की हैं।

झांसी में मंगलवार को एक बड़े टिड्डी दल के प्रवेश की आशंका जताई गई है। संयुक्त कृषि निदेशक कमल कटियार ने बताया कि यह लगभग तीन किलोमीटर लंबा हो सकता है।
रविवार की शाम भी एक टिड्डी दल झांसी पहुंचा था। इसने शिवपुरी के रास्ते बबीना में दस्तक दी थी। यहां से टिड्डी दल ने सुकुवां ढुकुवां बांध के पास के जंगल की ओर रुख किया। शाम को यह दल तीन हिस्सों में बंट गया।


एक दल सुकुवां में रह गया जबकि एक बड़ा हिस्सा मध्य प्रदेश की ओर चला गया था। एक अन्य दल ने ललितपुर के तालबेहट की ओर रुख किया था। सुकुवां में रात में इन पर रसायन का छिड़काव किया गया। इससे 40 प्रतिशत टिड्डियां खत्म हो गईं, जबकि शेष मध्यप्रदेश की ओर बढ़ गईं।

इससे पहले एक टिड्डी दल शुक्रवार को झांसी पहुंचा था। इन कीटों ने बरुआसागर व आसपास के गांवों में सब्जियों के खेतों में भारी नुकसान पहुंचाया था। बुंदेलखंड के साथ ही कानपुर देहात, इटावा और कन्नौज के किसानों को भी अलर्ट किया गया है।
ग्रामीणों को किया जागरूक, कहा- ढोल-थाली बजाएं
टिड्डी दल से बचाव के लिए ग्रामीणों को भी जागरूक किया जा रहा है। टिड्डियों के आने पर उन्हें जगह-जगह एकत्रित होकर ढोल, थाली आदि बजाने के लिए कहा गया है, ताकि टिड्डियां फसलों पर न उतरने पाएं। दवाइयों के छिड़काव के प्रति भी जागरूक किया जा रहा है।

प्रयागराज : फायर ब्रिगेड की गाड़ियां तैनात, छिड़काव को दवाएं मंगवाईं
झांसी में टिड्डी दल के तीन दलों में बंटने की सूचना के बाद प्रयागराज में भी अलर्ट जारी किया है। एक दल के यहां आने की आशंका बनी हुई है। उप निदेशक, कृषि विनोद कुमार के अनुसार इस दल के पीछे भी टिड्डियों के अन्य झुंड राजस्थान और अन्य स्थानों पर हैं जिनका भी खतरा बना हुआ है। ऐसे में बचाव की पूरी तैयारी की गई हैं। यहां आठ फायर ब्रिगेड की गाडियां और 18 टैंकर रिजर्व कर लिए गए हैं। छिड़काव के लिए दवाइयां भी मंगाई गई हैं। इनके अलावा दवा विक्रेताओं से दवाइयों का पर्याप्त स्टॉक बनाए रखने के लिए कहा गया है।

गोरखपुर : फिलहाल खतरा नहीं, एडवायजरी जारी
गोरखपुर। टिड्डी दल को लेकर गोरखपुर में फिलहाल कोई खतरा नहीं है। इसके बावजूद एहतियात के तौर पर कृषि विभाग ने एडवायजरी जारी की है। एडवायजरी में किसानों को फसलों पर विभिन्न कीटनाशकों का छिड़काव करने का सुझाव दिया गया है।


झांसी में आज तीन किमी लंबा टिड्डी दल पहुंचने की आशंका, यूपी में कई जगह अलर्ट
 
Top