The Weather and Meteorology thread

adsatinder

explorer
रिमझिम फुहारों ने दी Delhi को गर्मी से राहत, भीगी दिल्ली | Delhi Rains
774 views



6
2



Amar Ujala

Published on Jun 10, 2019


SUBSCRIBE 428K
दिल्ली वालों के लिए बारिश गर्मी से राहत लेकर आई। मंगलवार को रिमझिम फुहारों से दिल्ली भीगी। भीषण गर्मी से Delhi को थोड़ी Relief मिला। इससे पहले सोमवार को पिछले 10 सालों का Record टूट गया जब राजधानी में Temperature 48 के पार पहुंच गया।
 

adsatinder

explorer
Looks like more snowfall on the way. Zoji La and Rohtang for sure gonna get some good snow, likely to close for a day, plenty of rain on the slopes too so be careful.

for 12 Jun 2019, tomorrow :

.
 

adsatinder

explorer
Any one on a road trip alone the coast beware of this storm, it is a life threatening storm, will hit mumbai by tomorrow and will mover further North.

Vayu

.
 

adsatinder

explorer
Cyclone Vayu intensifies into severe cyclonic storm, expected to hit Gujarat coast with 120 kmph winds on Thursday | Updates

The Met department on Tuesday evening said that the Cyclone Vayu has intensified into a severe cyclonic storm and is likely to hit the Gujarat coast on June 13 morning.


India Today Web Desk
New DelhiJune 11, 2019
UPDATED: June 11, 2019 20:41 IST


Cyclone Vayu, a cyclonic storm, is fast moving towards the north and is expected to hit the Gujarat coast between Porbandar and Mahuva with wind speed up to 120 kmph on June 13.

The India Meteorological Department (IMD) on Tuesday evening said that the Cyclone Vayu has intensified into a severe cyclonic storm and is likely to hit the Gujarat coast on June 13 morning.

In its forecast for June 13, the IMD said, "Gale wind speed of the order of 110-120 kmph gusting to 135 kmph very likely over north Arabian Sea and Gujarat coast in morning hours and decrease gradually thereafter. It is very likely to be 50-60 kmph gusting to 70 kmph over north Maharashtra coasts and northern parts of east central Arabian Sea."

Anticipating the impact of Cyclone Vayu, schools and colleges have declared a holiday on June 13, the day the cyclone will hit Gujarat.

The met department has issued a warning of heavy rains and high winds at a speed of over 110 kilometres on June 13 and 14 in coastal areas of Saurashtra and Kutch. Orange alerted cyclonic storm is expected to bring widespread rain all along India’s western coast, as per IMD.

The Met department has predicted that Cyclone Vayu will move over the east-central area and adjoining areas of the Arabian Sea on Tuesday evening with a wind speed of 90-100 kmph. Cyclone Vayu is likely to have a mild impact over the Lakshadweep area, Kerala, Karnataka and south Maharashtra coasts.

#Mumbairains have begun in view of #CycloneVayu SkymetWeather @SkymetWeather

SkymetWeather (@SkymetWeather) June 11, 2019

A district administration in Mangaluru, Karnataka has installed boulders along the coast in Ullal after very rough sea conditions prevail in the region due to the approaching cycolonic storm Vayu.

#WATCH Karnataka: District Administration install boulders along the coast in Ullal in Mangaluru after very rough sea conditions prevail in the region. #CycloneVayupic.twitter.com/3d0D4R4auN

ANI (@ani) June 11, 2019

The weather office has said Cyclone Vayu is very likely to move northward and cross Gujarat coast between Porbandar and Mahuva around Veraval and Diu region as a severe cyclonic storm with wind speed 110-120 kmph gusting to 135 kmph during early morning of June 13.

Rescue agencies on high alert

NDRF is closely monitoring the development and has mobilised 36 teams for pre-positioning in the vulnerable locations of Gujarat and Daman & Diu in consultation with local governments.

"All NDRF teams are fully equipped with various types of cutting, flood rescue equipment, V-SAT & Satellite communication equipment for rescue and relief operations," the NDRF said in a statement.

NDRF battalions stationed innearby states are also being kept on stand-by and directed to keep a close watch over the situation, the statement said.

Indian Coast Guard, the Navy, Army, and Air Force units have also been put on standby and surveillance aircraft and helicopters are carrying out aerial surveillance.




 

adsatinder

explorer
HomePhoto GalleryUttar PradeshLucknow › Update In Weather Changes In Lucknow And In Uttar Pradesh.
यूपी में मौसम ने ली करवट, आंधी-बारिश ने आमजन को गर्मी और तपन से दी राहत
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ, Updated Wed, 12 Jun 2019 04:07 PM IST

weather

1 of 5
weather - फोटो : amar ujala

उत्तर प्रदेश में बुधवार को अचानक बदले मौसम ने लोगों को भीषण गर्मी से राहत दी है। प्रदेश के कई जिलों में धूल भरी आंधी चली तो कई जगह बारिश हुई।
हालांकि, तेज हवाओं के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा। लोग सुबह काम पर निकले ही थे कि तेज हवाएं चलने लगी।





2 of 5
- फोटो : amar ujala

बलरामपुर जिले में धूल भरी आंधी व बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। कहीं पेड़ गिरे तो कहीं आंधी की वजह से टीन शेड व फूस के बने छप्पर उड़ गए।

बहराइच में हल्की बौछारें पड़ीं तो सीतापुर में काले बादल घिर आए और तेज हवाओं के साथ बारिश हुई।







3 of 5
- फोटो : amar ujala

गोंडा जिले में कई स्थानों पर तेज आंधी के कारण पेड़ गिरने से रास्ता बाधित हो गया।








4 of 5
- फोटो : amar ujala

सीतापुर में सुबह से ही बदली छाई रही और तेज हवाओं के साथ बारिश हुई।






weather

5 of 5
weather- फोटो : amar ujala

मौसम विभाग के अनुसार, लखनऊ व आसपास के जिलों में बदली छाई रहेगी और कई जगह बौछारें पड़ सकती हैं। वहीं, केरल में मानसून की दस्तक के बाद लोगो को गर्मी से राहत मिलेगी।




https://www.amarujala.com/lucknow/update-in-weather-changes-in-lucknow-and-in-uttar-pradesh
 

adsatinder

explorer
पाकिस्तान से आ रही धूल भरी आंधी, उत्तर भारत में अलर्ट, दिल्ली में सांस लेना हो सकता है मुश्किल
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 12 Jun 2019 02:42 PM IST


पाकिस्तान से भारत की ओर बढ़ रही है धूल भरी आंधी

पाकिस्तान से भारत की ओर बढ़ रही है धूल भरी आंधी - फोटो : अमर उजाला


दिल्ली समेत प्रचंड गर्मी से जूझ रहे उत्तर भारत में अगले दो दिन और आफत आ सकती है। पाकिस्तान की ओर से धूल भरी आंधी भारत की ओर बढ़ रही है, जिस कारण लोगों के लिए सांस लेना भी मुश्किल हो सकता है। मौसम पूर्वानुमान और 'एयर क्वालिटी' बताने वाली केंद्र सरकार की संस्था 'सफर इंडिया' की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान और अफगानिस्तान से उठा धूल का एक बड़ा तूफान दिल्ली-एनसीआर सहित समूचे उत्तर भारत को बेहाल कर सकता है। मंगलवार की देर रात जारी अलर्ट के बाद केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड वायुमंडल पर नजर रखे हुए है।

पाकिस्तान और अफगानिस्तान से जो धूल भरी आंधी भारत की ओर बढ़ रही है, वह राजस्थान होते हुए देश में प्रवेश करेगी। इस तूफान को राजस्थान के थार रेगिस्तान की धूल और गंभीर बनाएगी। सफर इंडिया के अलर्ट के अनुसार उत्तर भारत, खासकर दिल्ली में वायु गुणवत्ता (एयर क्वालिटी) काफी गिरने की आशंका है।


धूल भरी आंधी से पीएम 2.5 और पीएम 10 दोनों की मात्रा बढ़ेगी। लिहाजा सांस की बीमारी से जूझ रहे मरीजों को सांस लेने में कठिनाई हो सकती है। इसके कारण इस भीषण गर्मी में भी लोगों को मास्क पहनना पड़ सकता है।

दिल्ली-एनसीआर का एयर इंडेक्स बेहद खराब

दिल्ली में एयर क्वालिटी का स्तर गिरता रहता है। सफर इंडिया के अनुसार मंगलवार देर शाम भी दिल्ली का एयर इंडेक्स 387 पहुंच गया, जो बेहद खराब श्रेणी में आता है। गर्मी के दौरान इतना अधिक प्रदूषण स्तर पहली बार दर्ज हुआ है। वहीं, एनसीआर में सबसे अधिक प्रदूषित शहर ग्रेटर नोएडा रहा, जहां एयर इंडेक्स 353 था। साथ ही पीएम 10 का स्तर सामान्य से चार गुना और पीएम 2.5 का स्तर सामान्य से दो गुना तक अधिक रहा।

पाकिस्तान का कराची और अफगानिस्तान का सिस्तान बेसिन चपेट में

सफर इंडिया द्वारा जारी अलर्ट

सफर इंडिया द्वारा जारी अलर्ट - फोटो : Safar India
सफर इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के कुछ हिस्से इस धूल भरी आंधी की चपेट में हैं। परियोजना निदेशक डॉ. गुफरान बेग का कहना है कि मंगलवार को पाकिस्तान के कराची और अफगानिस्तान के सिस्तान बेसिन शहर में धूल भरी आंधी उठी है। यह आंधी तेजी से भारत की ओर बढ़ रही है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि यह आंधी उत्तर भारत के ज्यादातर हिस्सों को अपनी चपेट में ले सकता है।

चक्रवाती तूफान 'वायु' का भी कहर
देश का एक हिस्सा पहले ही चक्रवाती तूफान 'वायु' के संभावित कहर से चिंतित है। ऐसे में पाकिस्तान से आ रही धूल भरी आंधी लोगों की चिंता बढ़ा सकती है। मालूम हो कि अरब सागर में हवा के कम दबाव की स्थिति गहराने के कारण उत्पन्न चक्रवाती तूफान 'वायु' के 13 जून को गुजरात पहुंचने की आशंका हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटे में तूफान गंभीर रूप ले सकता है। इस दौरान हवा की रफ्तार 160 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंचने की उम्मीद है।



पाकिस्तान से आ रही धूल भरी आंधी, उत्तर भारत में अलर्ट, दिल्ली में सांस लेना हो सकता है मुश्किल
 

adsatinder

explorer
Delhi witnesses dust storm, light rains; temperature dips on Tuesday

Apart from Delhi, the northern states of India are also reeling under the effect of severe heat wave conditions which is primarily attributed to the persistent dry weather and the long gap between western disturbances and westerly winds.

twitter-logo BusinessToday.In
New Delhi
Last Updated: June 11, 2019 | 15:21 IST


Delhi witnesses dust storm, light rains; temperature dips on Tuesday


Meanwhile, a cyclonic storm, Cyclone Vayu is moving towards the north and is likely to hit the Gujarat coast between Porbandar and Mahuva, mainly on June 13 and 14

New Delhi, which recorded a maximum temperature of 48 degree Celsius witnessed duststorm and light rains in the capital city on Tuesday, bringing down the temperature by a notch. As per reports, heatwave is likely to prevail in Rajasthan, Madhya Pradesh, Vidarbha and parts of Haryana and Uttar Pradesh for the next 48 hours.
Apart from Delhi, the northern states of India are also reeling under the effect of severe heat wave conditions which is primarily attributed to the persistent dry weather and the long gap between western disturbances and westerly winds.
"Maximum temperatures are above 45 degree Celsius at most places over Rajasthan; at many places West Madhya Pradesh and Haryana, Chandigarh & Delhi; at some places over East Madhya Pradesh and isolated places over Uttar Pradesh. Highest max. temp: 48.5 degree Celsius at Ganganagar ( West Rajasthan)", IMD said in a tweet.
Meanwhile, a cyclonic storm, Cyclone Vayu is moving towards the north and is likely to hit the Gujarat coast between Porbandar and Mahuva, mainly on June 13 and 14. Currently positioned in the East-Central Arabian sea, the depression developed into a cyclonic storm last night and is expected to intensify further. The storm is likely to cause obstruction to the northward progression of the monsoon for a few days. It is, however, unlikely to cause severe destruction.
Rainfall is expected in most of the places across Kerala and Lakshadweep and at isolated regions including Marathwada, Goa, Karnataka, Tamil Nadu, Puducherry, and Karaikal. Showers are also expected in West Bengal, Sikkim, Nagaland, Manipur, Mizoram, and Tripura.

(Edited by: Nehal Solanki)



Delhi witnesses dust storm, light rains; temperature dips on Tuesday
 

adsatinder

explorer

Delhi Weather Today: Gusty winds, thundershowers likely in Delhi today

Delhi Weather Forecast Report Today: Thunderstorms are predicted in the city because of an active disturbance over Himachal Pradesh, resulting in the further dip in temperature.

By Express Web Desk |New Delhi |Updated: June 12, 2019 1:09:51 pm

delhi weather, weather in delhi, weather, weather today, delhi weather report, weather forecast today, weather forecast today, delhi weather forecast, delhi temperature, delhi temperature today, delhi today temperature, delhi news, delhi today weather


The maximum temperature is likely to be around 42 degrees celsius, giving Delhiites a break from the intense heat. (Express Photo by Tashi Tobgyal)

Delhi may get some respite from the oppressive heat as gusty winds and thunderstorms are likely in the latter half of the day, said the Indian Meteorological Department (IMD). The announcement comes two days after Delhi witnessed its hottest day in 21 years at 48 degrees Celsius.

The maximum temperature is likely to hover around 42 degrees Celsius, while the minimum is 31 degrees Celsius. The relative humidity recorded by the IMD was 47 per cent at 8.30 am.
Thunderstorms are predicted in the city because of an active disturbance over Himachal Pradesh, resulting in the further dip in temperature.

The temperature on Tuesday dipped to 45.4 degrees Celsius, bringing some relief as few parts of the city even saw light rains.
The intense heatwave, however, is likely to prevail across Rajasthan and parts of Uttar Pradesh.
Delhi, which usually sees 8.6 mm of rain in the first 10 days of June has hardly seen any rain this year. The highest temperature of the season is usually recorded in the last week of May, as June has more days with rains.
“In May this year, Delhi saw light rain almost every week and was affected more by Himalayan western disturbances, which is why temperatures didn’t climb. This year, dry and hot weather is being seen primarily in June. Monsoon was also delayed by a week,” the IMD official said.



Delhi Weather Today: Gusty winds, thundershowers likely in Delhi today
 

adsatinder

explorer
HomeIndia News › Nearly Two-Thirds Of India Sizzled In Heatwave, Temperature Of Hill Station Also High
तीन दशक में सबसे भीषण गर्मी, दो दिन और यही हाल रहा तो टूटेंगे अबतक के सारे रिकॉर्ड
न्यूज डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 12 Jun 2019 10:40 AM IST


प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : PTI

भारत का करीब दो तिहाई हिस्सा मंगलवार को भी लू की चपेट में रहा। गर्मी पहले के मुकाबले इस बार अधिक लंबे समय तक चल रही है। जिसके कारण कई लोगों की मौत की खबर भी आई। इसके अलावा पानी की समस्या उत्पन्न हो गई, हजारों पर्यटक गर्मी से राहत के लिए पहाड़ी इलाकों में जा रहे हैं, लेकिन इस बार इन इलाकों में भी तापमान अधिक है। उत्तरी, मध्य और प्रायद्वीपीय भारत के बड़े क्षेत्रों में पारा 45 डिग्री के स्तर को पार कर गया है।

उत्तर प्रदेश के झांसी, राजस्थान के चूरू और बीकानेर, हरियाणा के हिसार और भिवानी, पंजाब के पटियाला और मध्यप्रदेश के भोपाल और ग्वालियर में गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। वहीं अगर राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां सोमवार इतिहास का सबसे गर्म दिन रहा। इस दिन यहां पारा 48 डिग्री सेल्सियस था। दिल्ली के पालम में सुबह के समय हल्की बारिश होने के बावजूद भी पारा 45.4 डिग्री सेल्सियस रहा।

विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि चक्रवाती तूफान 'वायु' का असर गुजरात के अलावा अन्य क्षेत्रों पर भी पड़ेगा। जिसके चलते मानसून से मिलने वाली राहत में इस बार अधिक समय लगेगा। अगर अगले दो दिनों में भी पारे में कमी नहीं आई तो 2019 में गर्म दिनों की संख्या इतिहास में सबसे अधिक होगी। इस बार लू की खतरनाक स्थिति 32 दिनों तक रही है। इससे पहले 1988 में ऐसे दिनों की संख्या 33 थी, जबकि 2016 में 32 थी।

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार लू (हीटवेव) की स्थिति तब मानी जाती है जब मैदानी इलाकों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस होता है, और पहाड़ी इलाकों में अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस होता है। भीषण गर्मी के कारण घरों से बाहर निकलते ही लोगों की हालत काफी खराब हो रही है। केरल एक्सप्रेस में सवार 67 लोगों के समूह में से चार बुजुर्गों की मौत गर्मी में दम घुटने के कारण हो गई। ये लोग बिना एसी वाले कोच में आगरा घूमने के बाद वापस तमिलनाडु के कोयंबटूर जा रहे थे।

प्रतीकात्मक तस्वीर


प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : PTI


रेलवे के प्रवक्ता मनोज कुमार सिंह का कहना है कि झांसी में ट्रेन में डॉक्टरों की एक टीम ने उनकी जांच की थी, तीन लोगों की मौत सोमवार को हो गई थी जबकि एक अन्य यात्री की मौत मंगलवार को अस्पताल में हो गई। फिलहाल मौत का कारण भीषण गर्मी ही बताया जा रहा है, हालांकि पोस्टमार्टम होने के बाद ही मौत की असल वजह पर कुछ कहा जा सकता है। मौसम विभाग के वैज्ञानिकों का कहना है कि आंकड़ों का आकलन बताता है कि 1991 के बाद से लू में वृद्धि हुई है।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मेटेरोलॉजी (आईआईटीएम) पुणे ने 1970 से 2015 के बीच के आंकड़ों का अध्ययन किया, जिससे पता चला कि गर्म दिनों और रातों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। मौसम विभाग का कहना है कि इस हफ्ते गर्मी में थोड़ी कमी देखी जा सकती है। उत्तर भारत के कई शहरों में पानी और बिजली की मांग भी बढ़ी है क्योंकि कई कुएं और जलाशय सूख गए हैं।

सोमवार को दिल्ली में बिजली की मांग ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। इस दौरान यहां 6,686 मेगावाट बिजली की मांग हुई है। यहां पानी का भी कोई दूसरा स्त्रोत जैसे टैंक और पाइप नहीं हैं। जिसके चलते हालात और भी खराब हैं। वहीं उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में लोगों को पानी के लिए कई किमी तक यात्रा करनी पड़ रही है। यहां कुएं सूख चुके हैं, जमीन के नीचे का पानी 300 फीट नीचे तक आ गया है, जिसके चलते हैंडपंप ने भी काम करना बंद कर दिया है।

उत्तराखंड के नैनीताल में गर्मी से राहत के लिए आने वाले पर्यटकों की औसत संख्या प्रतिदिन के हिसाब से 15 से 20 हजार हो गई है। जबकि यहां रहने के लिए कमरों की औसत संख्या महज आठ हजार है। मनाली में भी भारी संख्या में पर्यटक घूमने आ रहे हैं। जिसके चलते यहां गाड़ियों की लंबी लाइनें लग गई हैं। सोमवार को मसूरी में तापमान सामान्य से छह डिग्री अधिक 30.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। वहीं इस दिन धर्मशाला में भी अधिकतम तापमान 33.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।



तीन दशक में सबसे भीषण गर्मी, दो दिन और यही हाल रहा तो टूटेंगे अबतक के सारे रिकॉर्ड
 

adsatinder

explorer
HomePhoto GalleryHimachal PradeshShimla › Fresh Snowfall At Rohtang Pass And Rainfall Recorded In Shimla

तस्वीरें: भीषण गर्मी के बीच रोहतांग में ताजा बर्फबारी, शिमला में राहत की फुहारें
न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला, Updated Wed, 12 Jun 2019 04:37 PM IST

रोहतांग दर्रा में बर्फबारी

1 of 6
रोहतांग दर्रा में बर्फबारी - फोटो : अमर उजाला

भीषण गर्मी के बीच हिमाचल में मौसम में करवट बदली है। जून माह में रोहतांग दर्रा सहित ऊंची चोटियों पर ताजा हिमपात हुआ है। इससे मौसम कूल-कूल हो गया है।





रोहतांग दर्रा में बर्फबारी

2 of 6
रोहतांग दर्रा में बर्फबारी- फोटो : अमर उजाला

ताजा बर्फबारी से रोहतांग घूमने आ रहे सैलानियों के चेहरे खिल गए हैं। कई सैलानियों ने रोहतांग में बर्फ के बीच मस्ती की। रोहतांग में करीब पांच सेंटीमीटर बर्फबारी हुई है।







snowfall rohtang

3 of 6
snowfall rohtang- फोटो : अमर उजाला

जनजातीय जिले लाहौल-स्पीति में इस बार गर्मी में ठंड का रिकॉर्ड टूट गया है। कई दशकों के बाद जून माह में लाहौल के रिहायशी इलाकों में इतनी अधिक ठंड देखने को मिली है। वहीं, कुल्लू में सुबह से रूक-रूक कर बारिश का क्रम जारी है।








4 of 6
- फोटो : अमर उजाला

उधर मनाली-रोहतांग मार्ग पर अभी भी ट्रैफिक जाम की समस्या पर्यटकों की परेशानी बढ़ा रही है। बर्फबारी के दीदार के लिए पहुंच रहे सैलानी कई घंटों तक जाम में फं रहे हैं। प्रशासन ने भी सैलानियों को पूरी तैयारी और प्लानिंग के साथ रोहतांग आने की सलाह दी है।







5 of 6
- फोटो : अमर उजाला

शिमला में भी बुधवार सुबह हल्की बारिश हुई। इससे लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली। वहीं धर्मशाला में भी बारिश हुई है। मौसम विभाग ने प्रदेश के कई क्षेत्रों में बारिश, ओलावृष्टि और अंधड़ की चेतावनी जारी की है।







6 of 6
- फोटो : अमर उजाला

मैदानी क्षेत्रों में 13 से 15 जून तक मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान है। शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू, चंबा और किन्नौर व लाहौल-स्पीति में 17 जून तक मौसम खराब रहने के आसार हैं।


तस्वीरें: भीषण गर्मी के बीच रोहतांग में ताजा बर्फबारी, शिमला में राहत की फुहारें
 
Top