Umlingla Pass - Umlingla Top

adsatinder

Plz Help Himabuj (Amit Tyagi) in Corona Fighting
There are many pics of this pass means people have started visiting this pass and even started thinking of doing it in near future:


1.
Pallavi fauzdar -Biker - Home | Facebook
Facebook

Dear friends and fellow adventure riders ,

With great hard work and best wishes of all ,
I have been able to further my previous record of riding through the highest mountain pass in 2015, The Mana Pass at altitude of 18774ft ,
by discovering a new motorable pass at even higher altitude of 19323ft , on 4 Aug 2017 known as The UMLING LA PASS, making it now officially the highest motorable pass in the world and me the first rider to ride over it on motorcycle....
The journey had been very tough and demanding as it entailed riding through the remotest areas of Ladakh in 3rd degree high altitude(above 15000ft) with monsoon rains down pouring anytime of the day making the ascents very slippery and the rivers and water crossings eat away the trails.
All difficulties further multiplied by the complication of scarcity of oxygen at approx 19000ft. The only things that kept me going was the faith in God ,my abilities and the Triumph Bonneville T100 , I was driving.
Ultimately my hardwork has paid up in rewriting a historical landmark in the history of biking.

Faujdar2.jpg


Faujdar1.jpg





2.


19 हजार फीट की ऊंचाई पर सबसे खतरनाक रास्ते पर बाइक दौड़ाकर पल्लवी ने बनाया रिकॉर्ड, तस्वीरें
HomePhoto GalleryUttar PradeshLucknow
Biker Pallavi Faujdar Runs Bike On Umling La Pass And Creates Record.
लखनऊ की बेमिसाल बाइकर पल्लवी फौजदार ने रोमांच के शिखर पर नया रिकॉर्ड कायम किया है। दुनिया की सबसे ऊंचे दुर्गम स्थल में शुमार लेह-लद्दाख के उमलिंग ला पास (मोटरेबल पास) पर बाइक से फर्राटा भरकर पल्लवी ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया। पल्लवी का दावा है कि उमलिंग ला पास पर यह कारनामा करने वाली वह पहली बाइकर हैं।

pallavi-faujdar_6_1502650443.jpeg


खतरनाक रास्ते, 4000 किमी का सफर वो भी अकेले
पल्लवी बताती हैं, मैं 26 जुलाई को दिल्ली से श्रीनगर के लिए बाइक से रवाना हुई। श्रीनगर में तीन दिन रुकी। इसके बाद दुर्गम रास्तों की ओर बढ़ चली। 15 दिन में अकेले ही 4000 किमी. का सफर तय किया। लेह-लद्दाख के इन दुर्गम रास्तों समेत पल्लवी ने 15 दिन में बाइक से अकेले ही 4000 किमी का सफर तय किया।



pallavi-faujdar_4_1502650314.jpeg



चुनौतियां थीं तो क्या, रुकना मुझे मंजूर न था...
पल्लवी कहती हैं, हमारे रास्ते में कई चुनौतियां थीं। सबसे सुदूर इलाका तो है ही पर बारिश से रास्ते कट चुके थे। ऊपर से बर्फ पड़ रही थी। जरा-सा चूक का भी मतलब सबकुछ खत्म। इन रास्तों पर हम अकेले थे पर साहस हमारे साथ था। मुझे रुकना मंजूर नहीं था। आखिर 4 अगस्त को अपनी मंजिल 19,323 फीट की ऊंचाई पर स्थित उमलिंग ला पास पर पहुंच ही गई।


pallavi-faujdar_5_1502650353.jpeg



लखनऊ की बेमिसाल बाइकर पल्लवी फौजदार ने रोमांच के शिखर पर नया रिकॉर्ड कायम किया है। दुनिया की सबसे ऊंचे दुर्गम स्थल में शुमार लेह-लद्दाख के उमलिंग ला पास (मोटरेबल पास) पर बाइक से फर्राटा भरकर पल्लवी ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया। पल्लवी का दावा है कि उमलिंग ला पास पर यह कारनामा करने वाली वह पहली बाइकर हैं।


pallavi-faujdar_6_1502650396.jpeg


खुद अपने रिकॉर्ड से होड़
पल्लवी का दावा है कि वे दुनिया की ऐसी एकमात्र बाइक राइडर हैं जो 5000 मीटर या 16,650 फीट के 15 दर्रों से होकर गुजर चुकी हैं। वह बताती हैं कि इस दौरान उन्हें एक बेनाम दर्रा मिला, जिसकी ऊंचाई 16,677 फीट थी। इसका नामकरण उन्होंने ही किया। नाम रखा बोनी ला पास जिसे बॉर्डर रोड्स ऑर्गनाइजेशन ने प्रमाणित भी कर दिया है। पल्लवी ने इस यात्रा में छह दर्रों को पार किया। इनमें थिट जारबो, बोनी ला, सलसल ला, फोटो ला और नॉरबो ला शामिल हैं। उमलिंग ला पास से पहले पल्लवी ने 18,774 फीट ऊंचे ‘माना पास’ पर बाइक से पहुंच कर रिकॉर्ड बनाया था। पल्लवी को 8 मार्च को तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने बाइकिंग के जरिए सामाजिक और साहसपूर्ण कार्य के लिए नारी शक्ति सम्मान से सम्मानित भी किया था।




बदलनी है सोच, इसलिए बन गई बाइकर
हीलर, फैशन डिजाइनर, बिजनेस वीमेन स्टोन थेरेपिस्ट और अब बाइकर भी। पल्लवी 12 और 7 साल के दो बेटों की मां भी हैं। वे कहती हैं कि मुझे एतराज है लोगों की इस सोच से कि लोगों ने महिला-पुरुष के क्षेत्र बांट रखे हैं। मेरा मानना है कि कोई काम ऐसा नहीं जिसे महिलाएं कहीं ज्यादा बेहतर और आत्मविश्वास के साथ न कर सकें। बाइकर बनना कोई पुरुषों का एकाधिकार नहीं, महिलाएं भी कर सकती हैं।





http://www.amarujala.com/photo-gallery/lucknow/biker-pallavi-faujdar-runs-bike-on-umling-law-pass-and-creates-record
 
Last edited:
Top