Who's awake right now?

jammbuster

A Rebel, in pursuit of a memorable life ...
All current pollution creating now is by Parali and scraping old Vehicles only... ?

See whoever creating pollution, the main suffer is Delhi and NCR people (aur yeah salle khud hi responsible hai)

Yesterday was hell, I spent almost 2 hours and OMG burning sensation in eyes and itches in the throat is too much.

Hatts off to those who are on roads.

I Still strongly believe the issue is all about population and political interest.

LOg sunna na samzhna chahte aur sarkar apni asi ki tassi karwa rahi hai ..

Resouces hai nahi aur usage 1000% percent...

1. Parali burning is not today's activities, they are doing for many years in the past.

2. Pollution is basically due to traffic, population, and lack of resources.


3. Poor law enforcement, people burnt crackles despite of ban.. (kaha se mile) aur police so rahe thi jab jala rahe the.. fine impose karte seedha jiske bhi haato mein thi...

A very dangerous situation for elder people and asthma people.
 

jammbuster

A Rebel, in pursuit of a memorable life ...
My wagon R crome is turning into black due to pollution and corrosion.

Yesterday I found a solution and did some search .. the end results are below

20191104_115015.jpg




20191104_114915.jpg
 

adsatinder

explorer
1:54
#HP #HPSupport #HPPrinters
How To Print from Android to HP Printers Using a USB OTG Cable | HP Printers | HP
142,917 views
•Aug 20, 2018



708
50


HP Support
159K subscribers


SUBSCRIBE

Learn how to print from android to HP printers using a USB OTG cable. For more information on printing with a USB OTG Cable(Android), visit our support site, https://support.hp.com/us-en/document....

For other helpful videos go to How To Fix HDMI Display and Sound Problems in Windows or HP Support.
More support options for your printer are available at http://hp.com/support.

Continue the Conversation:
HP Support Community
HP Support
http://hp.care/TwitterSupport

Follow these steps to print from android to HP printers using a USB OTG cable:
-Connect the square end of the USB cable to the USB port on the rear of the printer and the flat end to the USB port on the OTG cable.
-Plug the micro-USB connector of the OTG cable into the micro-USB port on your Android device.
-On your Android device, tap the option to set the HP Print Service Plugin as default, and then tap OK.
-Print documents and images saved on your Android device or from a cloud storage account.
-Open the item you want to print.
-Tap the Menu or Share icon, and then tap Print.
-On the print preview screen, tap the down arrow to view the printer list, and then select the USB printer.
-Expand the settings window, if necessary, and adjust any desired print settings.
-Tap Print or the Print icon.
-The picture or document prints according to your settings.
-Continue printing or disconnect the OTG cable for safe keeping.

#HP #HPSupport #HPPrinters

SUBSCRIBE: http://bit.ly/PrinterSupport

SHOP NOW: http://store.hp.com/us/en/

About HP:
HP Inc. creates technology that makes life better for everyone everywhere — every person, every organization, and every community around the globe. Through our portfolio of printers, PCs, mobile devices, solutions, and services, we engineer experiences that amaze.

Connect with HP:
Visit HP WEBSITE: http://www.hp.com
Like HP on FACEBOOK: https://www.facebook.com/HP
Follow HP on TWITTER: https://twitter.com/HP
Follow HP on INSTAGRAM: https://www.instagram.com/hp
Follow HP on LINKEDIN: https://www.linkedin.com/company/hp

This video was produced by HP.

How To Print from Android to HP Printers Using a USB OTG Cable | HP Printers | HP
https://www.youtube.com/user/HP
 

adsatinder

explorer
HomeHimachal PradeshSirmour › Shooting
पहाड़ी से छलांग लगाने का दृश्य होगा कैमरे में कैद
Updated Sat, 02 Nov 2019 07:30 PM IST


सराहां (सिरमौर)। पच्छाद क्षेत्र की कथाड़ पंचायत के प्रसिद्ध भूरेश्वर महादेव की आस्था को लेकर इस बार लघु फिल्म बनाई जाएगी। लघु फिल्म के माध्यम से हिमाचल की संस्कृति और देवआस्था को प्रदर्शित किया जाएगा। निर्देशक नितिन शर्मा लघु फिल्म का निर्देशन कर रहे हैं। छह और सात नवंबर को भूरेश्वर मंदिर में मनाए जाने वाले ग्यास पर्व में भी फिल्म की शूटिंग की जाएगी।

गौरतलब है कि भूरेश्वर महादेव के मंदिर में हर साल ग्यास पर्व मनाया जाता है। इस वर्ष यह पर्व 6 और 7 नवंबर को मनाया जा रहा है। 6 नवंबर को खेलकूद प्रतियोगिता और कुश्ती का आयोजन होगा इस मेले के उपलक्ष्य में इस बार भी मंदिर के पुजारी शिवालिक पर्वत पर छलांग लगाएंगे। छलांग लगाने का यह दृश्य भी फिल्म में शूट किया जाएगा। यह मेला जहां भूरेश्वर महादेव और देही मां के मिलन व शक्ति का प्रतीक है वहीं मेले की मध्य रात्रि में देही मां के पुजारी द्वारा शिवालिक पर्वत पर छलांग लगाना भी एक आकर्षण का केंद्र रहता है। इसे देखने दूर-दूर से लोग पहुंचते हैं। नितिन शर्मा ने बताया कि इस लघु फिल्म के बनाने के पीछे उनका उद्देश्य यह है कि लोग हिमाचल की संस्कृति से रूबरू हो सकें। पंजाब, दक्षिण भारत और उत्तर भारत के कई प्रसिद्ध स्थानों को लेकर लघु और टेली फिल्म बनाई गई है। इसी आधार पर हिमाचल के पच्छाद में प्रसिद्ध भूरेश्वर महादेव से जुड़ी लोगों की आस्था और इसकी मान्यता को लेकर लघु फिल्म बनाई जा रही है। इसके अलावा लघु फिल्म में यह भी दर्शाया जाएगा कि हिमाचल और इस क्षेत्र के लोग देवी-देवताओं के साथ किस तरह की आस्था रखते हैं। पूजा-अर्चना के तरीकों का भी इसमें वर्णन किया जाएगा।


 

adsatinder

explorer
Sirmour › Truck Fare

ट्रक यूनियन ने 50 रुपये प्रति मीट्रिक टन की दर से घटाया भाड़ा

Updated Mon, 04 Nov 2019 07:27 PM IST

सतौन (सिरमौर)। मंदी के दौर से गुजर रहे उद्योगों को सतौन ट्रक सोसायटी ने बड़ी राहत दी है। सोसायटी ने 50 रुपये प्रति मीट्रिक टन के हिसाब से भाड़ा घटा दिया है। भाड़े की नई दरें एक नवंबर से लागू हो गई हैं। सतौन में स्थापित चूना पत्थर के उद्योग में छाई मंदी को देखते हुए सोसायटी ने भाड़े में कटौती की है। डीजल के दामों में बढ़ोतरी के बावजूद सोसायटी ने भाड़ा कटौती की है।

गिरिपार इलाके के सतौन क्षेत्र से चूना पत्थर और पाउडर कई राज्यों में सप्लाई किया जाता है। पाउडर की सप्लाई मुख्यत: शीशा उद्योग के लिए की जाती है। उत्तराखंड के रुड़की, ऋषिकेश और हरियाणा के बहादुरगढ़ में पाउडर की आपूर्ति की जाती है। इसके अलावा एशिया की सबसे बड़ी चूड़ियों की मंडी फिरोजाबाद में भी पाउडर की सप्लाई होती है। उद्योगपति सतौन के अलावा खज्जियार और हेवना से होने वाली पाउडर की सप्लाई का 50 फीसदी कार्य भी सतौन ट्रक सोसायटी को देंगे। इस फैसले के बाद रुड़की का भाड़ा जो पहले 12,750 था, लेकिन नई दर लागू होने से 12000 रुपये लिया जाएगा। बहादुरगढ़ का पुराना भाड़ा 19700 था, जबकि नया भाड़ा 17850 रुपये तय किया गया है। वहीं ऋषिकेश और फिरोजाबाद को जाने वाली पाउडर आदि की सप्लाई के भाड़े में भी 50 रुपये प्रति मीट्रिक टन की कटौती की गई है।
बैठक में यह लिया निर्णय
उद्योगपतियों और ट्रांसपोर्टरों के बीच हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। उद्योग समिति के अध्यक्ष कुलदीप अग्रवाल और ट्रक सोसायटी के अध्यक्ष सतीश चौहान की अध्यक्षता में हुई बैठक में उद्योग में छाई मंदी के बारे में विचार-विमर्श किया गया। साथ ही अन्य स्थानों से सतौन के उद्योगों को मिल रही चुनौतियों के बारे में विचार किया गया। उधर, ट्रक सोसायटी के अध्यक्ष सतीश चौहान ने बताया कि सतौन से कार्य कहीं और स्थानांतरित न हो, इसके लिए भाड़ा घटाया गया है। सतौन में उद्योग को बचाने के लिए प्रशासन और सरकार को सोचना चाहिए।
प्रदेश में अतिरिक्त कर की भी मार
उत्तरी भारत की सबसे बड़ी चूना पत्थर मंडी सतौन से रोजाना 200 ट्रक माल सप्लाई करते हैं। लेकिन, इन दिनों केवल 60 से 70 ट्रक ही जा पा रहे हैं। ट्रांसगिरि उद्योग सोसायटी के अध्यक्ष कुलदीप अग्रवाल ने बताया कि राजस्थान से चूना पत्थर और पाउडर की सप्लाई आ रही है जहां से उद्योगों को माल सस्ता पड़ रहा है। हिमाचल में चूना पत्थर पर प्रदेश सरकार अतिरिक्त टैक्स ले रही है। जबकि अन्य राज्यों में इस पर अतिरिक्त टैक्स नहीं है। कालाअंब के उद्योग भी सतौन के उद्योग को कड़ी टक्कर दे रहे हैं।


ट्रक यूनियन ने 50 रुपये प्रति मीट्रिक टन की दर से घटाया भाड़ा
 
Last edited:

adsatinder

explorer
Tourist Visiting Himachal Due To Air Pollution In Delhi-NCR

दिल्ली-एनसीआर में घुट रहा दम, साफ हवा के लिए रोहतांग तक पहुंच गए लोग, तस्वीरें

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला, Updated Mon, 04 Nov 2019 03:29 PM IST


Tourist visiting himachal due to air pollution in delhi-NCR

1 of 11
- फोटो : अमर उजाला

राजधानी दिल्ली समेत देश के मैदानी राज्यों में धुएं और प्रदूषण से सांस लेना मुश्किल हो रहा है। ऐसे में हजारों लोग साफ हवा के लिए हिमाचल की वादियों का रुख कर रहे हैं। लोग रोहतांग तक पहुंच गए हैं।



2 of 11
- फोटो : अमर उजाला

यहां वाहनों का जमावड़ा लग रहा है। पिछले एक हफ्ते के दौरान हजारों लोगों ने हिमाचल का रुख किया है। ज्यादातर लोग दिल्ली एनसीआर, यूपी इलाकों के हैं जहां आजकल प्रदूषण ने लोगों को बेहाल कर रखा है। इन इलाकों में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर तक पहुंच रहा है जबकि हिमाचल की वादियों में अभी वायु प्रदूषण न के बराबर है।



3 of 11
- फोटो : अमर उजाला

साफ हवा के लिए लोग हिमाचल के अलग अलग हिस्सों में पहुंच रहे हैं। राजधानी शिमला में भी लगातार सैलानियों की संख्या बढ़ रही है। उधर, हिमाचल की चोटियों पर इन दिनों बर्फबारी का दौर जारी है। प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के चलते पिछले चार दिन से हिमाचल की चोटियों पर बर्फबारी हो रही है।





4 of 11
- फोटो : अमर उजाला

रोहतांग, चंबा और किन्नौर के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ की सफेद चादर बिछ गई है। इसके कारण ठंड भी बढ़ी है। लेकिन सैलानी इसकी परवाह किए बगैर इन इलाकों तक पहुंच रहे हैं।




5 of 11
- फोटो : अमर उजाला



सैलानियों को इन वादियों में न सिर्फ साफ हवा-पानी नसीब हो रहा है। साथ ही बर्फबारी का नजारा भी देखने को मिल रहा है। रविवार से मनाली-केलांग-लेह मार्ग पर वाहनों की आवाजाही बंद है लेकिन लोग मनाली पहुंचकर साफ मौसम का लुत्फ ले रहे हैं।



6 of 11
- फोटो : अमर उजाला

लाहौल और चंबा के पर्वतीय इलाके बर्फ से लकदक हो गए हैं। बारालाचा, कुंजुम पास, भरमौर और पांगी में भी ताजा बर्फबारी हुई है। वहीं, चंद्रा वैली के कोकसर, सिस्सू, खांगसर तथा गोंधला पंचायत के रिहायशी इलाकों में झमाझम बारिश हुई है।



7 of 11
- फोटो : अमर उजाला

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार, सोमवार और मंगलवार को मौसम साफ रहेगा। ऐसे में लोग खासकर सैलानी इन इलाकों में पहुंच सकते हैं।



8 of 11
- फोटो : अमर उजाला

देखें बर्फ से ढकी वादियों की ये मनमोहक तस्वीरें



9 of 11
- फोटो : अमर उजाला

देखें बर्फ से ढकी वादियों की ये मनमोहक तस्वीरें





10 of 11
- फोटो : अमर उजाला

देखें बर्फ से ढकी वादियों की ये मनमोहक तस्वीरें





11 of 11
- फोटो : अमर उजाला

देखें बर्फ से ढकी वादियों की ये मनमोहक तस्वीरें


 
Top