Who's awake right now?

adsatinder

explorer
पूरब से *प्रतिष्ठा*, पश्चिम से *प्रारब्ध*, उत्तर से *उन्नति*, दक्षिण से *दायित्व*, ईशान से *एश्वर्य*, नैऋत्य से *नैतिकता*, आग्नेय से *आकर्षण*, वायव्य से *वैभव*, आकाश से *आमदनी* एवं पाताल से *पूँजी*.. दसों दिशाओं से सुख, शांति, समृद्धि एवं सफलता प्राप्त हो, यही शुभकामनाएँ हैं।

*त्यौहारों के पावन उत्सव*
*की अनन्त शुभकामनाएं।*
।।। @All ।।।
 

adsatinder

explorer
You are so far away, fresh Mithai can not reach you but fresh wishes can. Here is wishing you a magical and prosperous Diwali!

This Diwali, may you be blessed with good fortune, wealth, prosperity and happiness. May all your dreams come true! Happy Diwali!
 

adsatinder

explorer
This Diwali is different. This Diwali is not about whether my house is sparkling clean, it is not about whether I have prepared a variety of Mithais and Namkeens, it is not about whether I have that perfect ethnic attire and Jewelry for the occasion, it is not about a bucketful of bucks I would be spending on shopping and firecrackers, it is not about having a grand vacation at an exotic location, it is not even about whether I got a promotion or a raise...

This Diwali is more about Survival. It is about being grateful that we are still able to breathe and alive for this day. It is about being thankful for the love and care from our loved ones, It about being with the family under one roof and spending time together, It is about lighting a Diya for all those dear and near souls who left us, It is about extending support and spreading cheer to family and friends who have lost their people...It is about spreading happiness to those who have suffered losses in jobs and businesses...
This Diwali is more about being hopeful, for a healthy & happy tomorrow..

Happy Diwali to you & your family

Stay Safe
DEEPAK GUPTA
Mountain Man


@deepak64
 

adsatinder

explorer
Diwali 2020: लोगों ने धूमधाम से मनाई दीवाली, प्रतिबंध के बाद भी जमकर फोड़े पटाखे


दीवाली के मौके पर अपनी दुकान का सजाता दुकानदार।


Publish Date:Sun, 15 Nov 2020 12:22 AM (IST)Author: Arun Kumar Singh

देश के अलग-अलग हिस्‍सों में शनिवार को दीवाली धूमधाम से मनाई गई। लोगों ने दीये और दीपक जलाए। इस मौके पर इंडिया गेट और राजपथ को रोशनी से जगमग किया गया। देश के हिस्‍सों में प्रतिबंध के बाद भी लोग पटाखे छोड़ते नजर आए।

नई दिल्‍ली, एएनआइ। देश के अलग-अलग हिस्‍सों में शनिवार को दीवाली धूमधाम से मनाई गई। लोगों ने दीये और दीपक जलाए। इस मौके पर इंडिया गेट और राजपथ को रोशनी से जगमग किया गया। इस मौके पर रोशनी से सराबोर नॉर्थ ब्लॉक, साउथ ब्लॉक और संसद भवन हुआ। देश के कर्इ हिस्‍सों में प्रतिबंध के बाद भी लोग पटाखे छोड़ते नजर आए। एनजीटी द्वारा पटाखा बिक्री पर रोक लगाए जाने के बाद भी दिल्‍ली-एनसीआर में दीपावली की रात जमकर लोगों ने पटाखे चलाए। पटाखों की बिक्री से लेकर चलाने तक में प्रशासन के आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ी। हालांकि, पुलिस ने प्रतिबंध पटाखे की बिक्री पर नोएडा में दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है।

तेलंगाना के हैदराबाद में लोगों ने पटाखे फोड़कर दीवाली का जश्न मनाया। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार राज्य में शनिवार को पटाखे फोड़ने के लिए 2 घंटे का समय ( रात 8 बजे से रात 10 बजे तक ) दिया गया है।

दीवाली के मौके पर रोशनी और दीयों से हजरत निज़ामुद्दीन औलिया दरगाह को सजाया गया। दरगाह कमेटी के पीरज़ादा अल्तमश निज़ामी ने कहा कि ग़ैर-मुस्लिम भी हजरत महबूब-ए-इलाही के अनुयायी हैं और अपने त्योहारों पर यहां आते हैं। वे दीये भी जलाते हैं। दरगाहें सभी के लिए मंच हैं।


बन्दी छोड़ दिवस के अवसर पर अमृतसर के स्वर्ण मंदिर को रोशनी से जगमग किया गया। मिट्टी के दीए भी जलाए गए।

बिहार की राजधानी पटना में कोरोना महामारी के बीच दीवाली मनाते नजर आए। एक स्‍थानीय शख्‍स प्रशांत ने कहा कि इस साल समारोह कुछ अलग हैं। हम चाहते हैं कि महामारी जल्द से जल्द खत्म हो ताकि हम अगले साल दीवाली को भव्य तरीके से मना सकें।

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने दीवाली के मौके पर पटाखे फोड़कर जश्न मनाया।

कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने निवास पर 'काली पूजा' में हिस्सा लिया।


Diwali 2020: लोगों ने धूमधाम से मनाई दीवाली, प्रतिबंध के बाद भी जमकर फोड़े पटाखे
 

adsatinder

explorer
The incredible ibex defies gravity and climbs a dam | Forces of Nature with Brian Cox - BBC
125,263,704 views
•Jul 12, 2016


1.2M
41K



BBC

9.94M subscribers
 

adsatinder

explorer
J&K receives rain and snowfall; MeT forecasts more
588 views
•Nov 14, 2020


10
1



DD News

3.32M subscribers

The upper reaches of Jammu and Kashmir received rains and snowfall, bringing down the mercury.
 

adsatinder

explorer
डिस्पोजल ही नहीं पेपर कप में भी चाय पीते हैं तो इसके नुकसान जानकर हैरान रह जाएंगे
November 8, 2020
3 Min Read







Prakash Pandey


खबर चाय पीने वालों के लिए जरूरी है. खासकर उन लोगों के लिए जो घर के बाहर चाय पीते हैं. घर के बाहर चाय पीने के तरीके को लेकर नया शोध सामने आया है. आईआईटी खड़गपुर के वैज्ञानिकों ने चाय पर लेकर बड़ा खुलासा किया है जिसे जानकर आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी. वैज्ञानिकों के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति दिन में तीन बार चाय या कॉफी पेपर कप में पीता है तो वह 75000 छोटे सूक्ष्म प्लास्टिक के कणों को निगल जाता है.

ऐसे पहुंचाता है शरीर को नुकसान
प्लास्टिक के गिलास गरम पानी या चाय पीने के नुकसान तो आपने खूब पढ़ा और सुना होगा लेकिन पेपर कप में चाय का नुकसान भी आज पढ़ लीजिए. डिस्पोजल कप में रखे जाने वाली चाय आपके सेहत पर खराब प्रभाव डालती है. खोज में कप के अंदर के स्तर में इस्तेमाल सामग्री में सूक्ष्म-प्लास्टिक और अन्य खतरनाक घटक मौजूद होते हैं और इसमें गर्म तरल पदार्थ पहुंचने के बाद पदार्थ में सूक्ष्म कण आ जाते हैं. वैज्ञानिकों के मुताबिक पेपर कप के भीतर आमतौर पर हाइड्रोफोबिक फिल्म की एक पतली परत होती है. ज्यादातर प्लास्टिक यानी पॉलिथीन और कभी-कभी पॉलीमर से बनाने का काम किया जाता है.

15 मिनट में होती है प्रतिक्रिया
गौरतलब है कि देश में पहली बार इस तरह का शोध वैज्ञानिकों ने किया है जिसमें उन्होंने बताया है कि 15 मिनट के अंदर यह सूक्ष्म प्लास्टिक की परत गर्म पानी की प्रतिक्रिया में पिघल जाती है. रिसर्च के मुताबिक एक पेपर कप में रखा 100 मिलीलीटर गर्म तरल (85 से 90 OC), 25000 माइक्रोन आकार (10 माइक्रोन से 1000 माइक्रोन) के सूक्ष्म प्लास्टिक कण छोड़ने का काम करता है जिसमें तकरीबन 15 मिनट का समय लगता है.

सेहत पर ऐसे करता है असर
शोध के मुताबिक सूक्ष्म प्लास्टिक आयन जहरीली भारी धातुओं जैसे पैलेडियम, क्रोमियम और कैडमियम जैसे कार्बनिक यौगिकों और ऐसे कार्बनिक यौगिकों, जो जल में घुलनशील नहीं है, जब यह मानव के शरीर में प्रवेश करते हैं तो स्वास्थ्य पर गंभीर असर डाल कर आप को बीमार कर सकते हैं.

प्लास्टिक की तरह पेपर कप से भी बचिए
शोध के मुताबिक अगर इसके परिणामों को देखा जाए तो प्लास्टिक के कप की तरह ही पेपर कब से भी चाय पीने से बचना चाहिए. स्वास्थ्य के लिए हानिकारक पेपर कप को गुड बाय बोलना चाहिए. सलाह ऐसी भी है कि बाहर जहां पेपर कप और प्लास्टिक कप की संभावना ज्यादा हो ऐसे स्थानों पर चाय या कॉफी ना पिए तो बेहतर है.


डिस्पोजल ही नहीं पेपर कप में भी चाय पीते हैं तो इसके नुकसान जानकर हैरान रह जाएंगे - बोल वचन
 
Top