Who's awake right now?

Rajbunga ka Qila- ‘जिन्न’ ने जिसे एक रात में बनाया, पहाड़ का सबसे बड़ा पहरेदार | Champawat
9,489 views
Aug 14, 2021


266


Being Ghumakkad


332K subscribers

राज बुंगा या राजा बुंगा का किला उत्तराखंड के गौरवमयी इतिहास का साक्षी रहा है। किले की बाहरी दीवारें आज भी बताती हैं कि चंद राजाओं ने सदियों पहले चंपावत में कैसे अपनी सत्ता स्थापित की। कैसे भारत से लेकर नेपाल तक अपने दुश्मनों को धूल चटाई। बड़े-बड़े पत्थरों को इतने करीने से जोड़ने की कला सैकड़ों साल बाद भी हैरान कर देती है।
 
जबरदस्त Dilruba Chaap, Maharaja Chaap, Stuffed Lolly Pop by MBA Chaap wala
54,944 views
Aug 26, 2022





Bhooka Saand
827K subscribers
This is the first episode of our street food review series with the special guest. The name of this series is Mehmaan. Our first guest is @Dhinchak Pooja and below are the details of the best soya chaap outlet we have covered in this food vlog. Sardar G Malai Chaap Junction For franchise call / wattsapp 9809-82-9809 P.NO-2 Shop No-5 Bhera Enclave Paschim vihar New Delhi -11000 For orders: 9873472534 , 9999844145
Zomato: https://link.zomato.com/xqzv/rshare?i...
Google map location: https://goo.gl/maps/55JzW5xGstiNhzwW8 (SBI Bank)
 
simple technique to make round roti
make round roti with makki ke aate ka peda

50/- Rs MOTORCYCLE वाला Dhaba | Street food in Amritsar
87,115 views
Sep 23, 2022






Bhooka Saand


827K subscribers



Punjabi Dhaba Motercyle Food Cart Located outside OCM Mill, Near Khandwala Chowk, Amritsar, Punjab Phone: 8196920327 Google map location: https://goo.gl/maps/mMbMQ3uoG37mM2D18
 
Road is closed in night for driving for Yatris in Uttarakhand.
Beware and do not drive / ride at night.
A Traveler is stuck now at Rishikesh till morning 4am.



1664574898071.png


1664574910935.png
 
URGAM
Visit Chamoli | Jai Bola Jai Bhagwati Nanda | Beauty of Urgam Valley | नंदा राज जात
16,116 views
Sep 8, 2022





Rural Tales
103K subscribers

#nandadevi #uttarakhand #shiv #mountains #sadhu #brahma #Nanda #vijayalakshmi #Urgam
Visit Chamoli | Jai Bola Jai Bhagwati Nanda | Beauty of Urgam Valley | नंदा राज जात उत्तराखंड में नंदा देवी की वार्षिक जात का आयोजन हर साल किया जाता है। चमोली जिले के कई इलाकों में यह वार्षिक जात बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। चमोली जिले की जोशीमठ ब्लॉक में उर्गम घाटी में भी दो जात अलग अलग इलाकों में गई। उर्गम क्षेत्र से दो जात निकाली जाती है। पहली जात वंशिनारायण बुग्याल जाती है तो दूसरी जात कई छतोलियों के साथ भनाई बुग्याल जाती है। अन्य इलाकों में नंदा को कैलाश छोड़ने की यात्रा को ही वार्षिक जात कहा जाता है लेकिन उर्गम घाटी में माँ नंदा को बुलाया जाता है। उर्गम घाटी के पलखी, भेंटा और भर्की गाँवो की स्वनल नंदा को फयुलानारायण से होते हुए भनाई बुग्याल में लाया जाता है। फ्यूलानारायण भर्की गाँव से करीब 3किमी की दूरी पर स्थित है। समुद्रतल से फ्यूलानारायण करीब 2933 मीटर ऊँचाई पर स्थित है। यहाँ हर साल मात्र 45 दिन के लिए ही भगवान नारायण के कपाट खोले जाते है। इस मंदिर की खासियत है कि यहाँ पर महिला भी भगवान नारायण कि आरती करती है। महिला फूलों का चुनकर लती है और उसकी माला भी बनाती है। इसके साथ ही इस मंदिर क्षेत्र में बाघ की उपस्थिति रहती है लेकिन वो कभी भी गायों को नुकसान नहीं पहुंचाता। लक्ष्मण नेगी -8126770351 Nanda raj , Nanda Devi Raj jat Yatra 2022, Garhwal , Kumaun , Uttarakhand , Roopkund , nanda devi 2022 , Nanda devi , Nanda devi Uttarakhand , Nauti village , uttarakhand folk , nanda devi , raj jaat , raj jat yatra , raj jat yatra 2022 , nanda raj jat , Nanda devi raj jat 2022 , नंदा राज जात यात्रा , nanda dhyan , nanda devi song
 
LATA
Visit Chamoli | Uttarakhand | Lata ki nanda | नंदा देवरा यात्रा। नीति घाटी
14,641 views
Sep 10, 2022





Rural Tales
103K subscribers

चमोली जिले में पैनखंडा क्षेत्र की सिद्धपीठ माँ नंदा देवी की 12वर्षों के बाद देवरा यात्रा का शुरू हो गई है। यह यात्रा नीति घाटी के सभी गाँवो से होकर गुजरेगी।6 सितंबर से शुरू हुई माँ नंदा की देवरा यात्रा 30 सितंबर तक चलेगा। करीब 13 साल बाद यह यात्रा आयोजित की जा रही है। कोराना महामारी के कारण यात्रा का आयोजन एक साल बाद किया है। नंदा माँ की देवरा यात्रा हर बारह साल में आयोजित की जाती है। सिद्धपीठ माँ नंदा लाता से डोली अपने पहले पड़ाव तोलमा के लिए प्रस्थान करेगी। Visit Chamoli | Uttarakhand | Lata ki nanda | नंदा देवरा यात्रा। नीति घाटी ध्यानियों(ब्याही बेटियाँ)से मिलने की अनोखी परम्परा उत्तराखंड के चमोली जिले हर साल माँ नंदा को कैलाश ले जाने के लिए जात का आयोजन किया जाता है। कुरुड़ गाँव से दो डोलिया माँ नंदा को कैलाश के छोड़ने के लिए जाती है लेकिन नीति घाटी में माँ नंदा अपनी ध्यानियों से मिलने के लिए कई गाओ में जाती है। इस पूरी यात्रा के लिए नीति घाटी के लोगों में बड़ा उत्साह बना हुआ है। लाता गाँव में पूजा अर्चना के बाद माँ नंदा भक्तों के साथ पहले तोलमा, फागती, जुम्मा, कागा, द्रोणागिरी, गरपक, झेलम सहित नीति घाटी के सभी गाँवो में प्रस्थान करेगी।
 
#Chamoli #Tolma #uttarakhand
Visit Chamoli | Tolma Village | नंदा मां के पिता का गांव | Rural Tales Uttarakhand
15,113 views
Sep 12, 2022





Rural Tales
103K subscribers

तोलमा गाँव भी नीति घाटी का एक छोटा गाँव है।मान्यता है कि यहाँ पर भगवती कि पिता हिमाल का गाँव है। इस गाँव में केवल 22 परिवार ही रहते है।तोलमा गाँव में ग्रामीण पर्यटन की अपार संभावनाएं है। लाता कि बाद यह माँ भगवती का पहला पड़ाव होता है। गाँव लाता से करीब 6 किमी की दूरी पर बसा है। समुद्र तल से गाँव की दूरी 2557 मीटर है। तोलमा से 24 km trek कर आप द्रोणागिरी गाँव जा सकते है। धारासी पास 14km का ट्रेक है जो पहले काफी पॉपुलर था और अब यह ट्रेक उतना पॉपुलर नहीं है। रूद्र सिंह बुटोला, तोलमा गाँव Ph 9639198080 Visit Chamoli | Tolma Village | नंदा मां के पिता का गांव | Rural Tales Uttarakhand #Chamoli #Tolma #Rural_Tlaes #uttarakhand
 
#VisitUttarakhand #Bestpalace #Chamoli
Visit Chamoli | Fagati Village : एक वीरान गांव और दो महिलाएं | Uttarakhand | Rural Tales
31,223 views
Sep 14, 2022





Rural Tales
103K subscribers

Visit Chamoli | Fagati Village : एक वीरान गांव और दो महिलाएं | Uttarakhand | Rural Tales फागती गाँव नीति घाटी में स्थित है।इस गाँव में करीब 2 दर्जन परिवार ही निवास करते है। पहले गाँव में ही ग्रामीण निवास करते थे लेकिन सड़क और संचार सेवाओं की दिक्क़त कि कारण धीरे परिवार नीचे पालयन करने लग गाये है। फागती गाँव तोलमा से की दूरी करीब 8 किमी है।समुद्र तल से फागती गाँव की ऊँचाई करीब 2837 मीटर की ऊँचाई पर बसा है। इस गाँव में कभी काफी रौनक हुआ करती थी। गाँव में खेती की काफी जमीन है लेकिन अब सब बंजर हो चुके है।जब माँ नंदा की डोली फागती गाँव पहुंची तो उससे कुछ दिन पहले ही गाँव कि लोग पहुँचे। डोली गाँव में जब पहुंची उसी दिन गाँव में बिजली पहुंची।फागती गाँव चारों तरफ से घने जंगल और ऊँची ऊँची पहाड़ियों से घिरा हुआ है। फागती गाँव में मात्र एक दो महिलाएं ही कुछ महीनों कि लिए रहती है। फाफर,आलू,ओंगल और राजमा कुछ खेतोँ में दिखाई देता है।जंगलो जानवरों जैसे भालू कि आतंक कि कारण भी खेती को काफी नुकसान हो रहा है।
 
Top